• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Tough Competition Between Viacom 18 And Star For IPL Media Rights BCCI Is Expected To Get Rs 45 To 50 Thousand Crores

IPL मीडिया राइट्स की नीलामी:पहले ही दिन 43 हजार करोड़ रुपए के पार पहुंची बोली, IPL बनी दुनिया की दूसरी सबसे महंगी लीग

नई दिल्ली4 महीने पहले

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के अगले पांच सीजन (2023 से 2027) के मीडिया राइट्स की नीलामी रविवार को शुरू हुई हुई। सूत्रों के मुताबिक अब तक बोली की रकम 43 हजार 50 करोड़ रुपए तक जा चुकी है। इसमें अभी और इजाफा हो सकता है। सबसे अधिक बोली किसने लगाई है, इसका खुलासा नहीं किया गया है।

पहले दिन भारतीय उपमहाद्वीप के टीवी और डिजिटल राइट्स के लिए वायकॉम 18, स्टार और सोनी के बीच कड़ा मुकाबला हुआ है। पहले दिन टीवी राइट्स प्रति मैच 54 करोड़ रुपए तक गए हैं। वहीं, डिजिटल राइट्स प्रति मैच 50 करोड़ रुपए तक गए हैं। राइट्स जीतने वाली कंपनी के नाम की घोषणा 13 जून को हो सकती है।

1 मैच के लिए कम से कम 104 करोड़ रुपए मिलना तय
सूत्रों ने बताया कि अब तक जो बोली लगी है उसके मुताबिक BCCI को IPL के एक मैच के एवज में 104 करोड़ रुपए मिलना तय हो गया है। इस तरह एक मैच के ब्रॉडकास्ट राइट्स के हिसाब से IPL अब दुनिया की दूसरी सबसे महंगी लीग हो गई है। इससे ज्यादा रकम सिर्फ अमेरिका की नेशनल फुटबॉल लीग (NFL) को मिली है। NFL को हर मैच के ब्रॉडकास्ट राइट्स के लिए 132 करोड़ रुपए मिलते हैं। सोमवार को IPL की रकम में और इजाफा होना तय है।

चार अलग-अलग पैकेज के लिए बोली

  • पहले पैकेज में भारतीय उपमहाद्वीप के टीवी राइट्स शामिल हैं। यानी जो कंपनी इसे हासिल करती है, वह भारत सहित दक्षिण एशिया के देशों में लीग का टीवी पर प्रसारण करेगी। इस पैकेज में एक मैच का बेस प्राइस 49 करोड़ रुपए है। पहले दिन बोली बेस प्राइस से 5 करोड़ रुपए ऊपर तक जा चुकी है।
  • दूसरा पैकेज भारतीय उपमहाद्वीप में डिजिटल राइट्स का है। इसे हासिल करने वाली कंपनी दक्षिण एशिया में लीग का डिजिटल प्लेटफॉर्म पर प्रसारण करेगी। एक मैच का बेस प्राइस 33 करोड़ रुपए है। पहले दिन बोली बेस प्राइस से 17 करोड़ रुपए ऊपर जा चुकी है।
  • तीसरे पैकेज में 18 चुनिंदा मैचों के डिजिटल राइट्स शामिल किए गए हैं। इनमें सीजन का पहला मैच, वीकएंड पर होने वाले हर डबल हेडर में शाम वाला मैच और चार प्लेऑफ मुकाबलों को रखा गया है। एक मैच का बेस प्राइस 11 करोड़ रुपए है।
  • चौथे पैकेज में भारतीय उपमहाद्वीप के बाहर के टीवी और डिजिटल प्रसारण अधिकार शामिल हैं। एक मैच का बेस प्राइस 3 करोड़ रुपए है।

चारों पैकेज का कंबाइंड बेस प्राइस 32,890 करोड़ रुपए
चारों पैकेज के बेस प्राइस को जोड़ दिया जाए तो 5 साल में होने वाले 370 मैचों का कंबाइंड बेस प्राइस 32,890 करोड़ रुपए है। पिछली बार (2018 से 2022) मीडिया राइट्स 16,347 करोड़ रुपए में बेचे गए थे।

BCCI को 45 से 50 हजार करोड़ रुपए मिलने की उम्मीद
भारतीय क्रिकेट बोर्ड को उम्मीद है कि इस बार मीडिया राइट्स की नीलामी से उसे 45 से 50 हजार करोड़ रुपए तक मिल सकते हैं। कुछ एक्सपर्ट्स 60 हजार करोड़ रुपए तक की बात भी कर रहे हैं।

पहले और दूसरे पैकेज के लिए रिलायंस और स्टार में कड़ा मुकाबला
वैसे तो नीलामी में 8 कंपनियां होड़ में हैं लेकिन भारतीय उपमहाद्वीप में टीवी और डिजिटल राइट्स (पहला और दूसरा पैकेज) के लिए मुकेश अंबानी की कंपनी वायकॉम 18 और स्टार के बीच कड़ा मुकाबला होने की उम्मीद है। सोनी भी नीलामी में उतर रही है लेकिन, कंपनी ने जिस तरह बेस प्राइस ज्यादा होने पर आपत्ति जताई है उससे इस बात की उम्मीद कम है कि वह अग्रेसिव बिडिंग करेगी

  • टाइम्स इंटरनेट, फन एशिया और ड्रीम 11 सिर्फ भारतीय उपमहाद्वीप के डिजिटल राइट्स (दूसरा पैकेज) के लिए बोली लगा सकती है।
  • स्काई स्पोर्ट्स और सुपर स्पोर्ट्स विदेशी मार्केट के लिए राइट्स (चौथा पैकेज) खरीदने पर जोर देंगी।

हर पैकेज के लिए अलग-अलग लगानी होगी बोली
2017 में जब टीवी राइट्स बेचे गए थे तब कंपनियों के पास कंपोजिट दावेदारी पेश करने का विकल्प था। यानी कंपनियां एक साथ टीवी और डिजिटल के लिए बोली लगा सकती थी। तब फेसबुक ने डिजिटल राइट्स के लिए 3900 करोड़ रुपए ऑफर किए थे। स्टार ने डिजिटल के लिए इससे कम रकम की पेशकश की थी लेकिन राइट्स उसे मिल गए। ऐसा इसलिए हुआ था क्योंकि स्टार ने टीवी और डिजिटल के लिए कंपोजिट दावेदारी के तहत ज्यादा रकम ऑफर किए थे।

इस बार कंपोजिट दावेदारी पेश करने का विकल्प नहीं है। यदि कोई कंपनी एक से अधिक पैकेज हासिल करना चाहती है तो उसे अलग-अलग पैकेज के लिए बोली लगानी होगी।

शुरुआत पहले और दूसरे पैकेज के साथ
बोली लगाने की प्रक्रिया पहले और दूसरे पैकेज के साथ हुई। कंपनियों को दोनों पैकेज के लिए प्रति मैच के हिसाब से बोली लगा रही हैं। इनकी नीलामी संपन्न होने के बाद तीसरे और चौथे पैकेज के लिए बोली लगेगी। पहले पैकेज को जीतने वाली कंपनी के पास दूसरे पैकेज के लिए सबसे ज्यादा बोली लगाने वाली कंपनी को चुनौती देने का मौका होगा। इसी तरह दूसरे पैकेज को जीतने वाली कंपनी के पास तीसरे पैकेज के लिए सबसे ज्यादा बोली लगाने वाली कंपनी को चुनौती देने का मौका होगा।

5 साल में IPL के 410 मैच कराएगा BCCI
बोर्ड ऑफ क्रिकेट कंट्रोल इन इंडिया (BCCI) आने वाले पांच सालों में IPL के 410 मैच आयोजित कर सकता है। सूत्रों के मुताबिक बोर्ड ने यह प्रस्ताव इसलिए तैयार किया है ताकि मीडिया राइट्स ऑक्शन में ब्रॉडकास्टर्स ज्यादा से ज्यादा बोली लगाएं। बोर्ड 2023-24 में 74-74 मैच ही कराने जा रहा है। उसके बाद साल 2025 और 2026 में मुकाबलों की संख्या बढ़ाई जाएगी। इन दोनों साल में 84-84 मुकाबले होंगे। 2027 में 94 मैच कराने की योजना है।