क्रिकेट / वीनू मांकड़ के बेटे ने कहा- 'रनआउट के एक तरीके का नाम मेरे पिता पर रखना गलत'

X

  • नॉन-स्ट्राइकर एंड पर बल्लेबाज को रनआउट करने को मांकड़िंग कहते हैं
  • वीनू मांकड़ ने सबसे पहले 1947 में ऑस्ट्रेलिया के बबिल ब्राउन को इस तरह से रनआउट किया था

Mar 28, 2019, 09:01 AM IST

खेल डेस्क. क्रिकेट मैच के दौरान जब कोई नॉन-स्ट्राइकर एंड पर खड़ा बल्लेबाज गेंद करने से पहले क्रीज से आगे निकल आए और गेंदबाज उसे रन आउट कर दे, तो इसे मांकड़िंग आउट कहा जाता है। यह नाम पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीनू मांकड़ के नाम पर रखा गया है। वीनू के बेटे राहुल मांकड़ ने इस पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि रन आउट करने के इस तरीके को उनके पिता के नाम पर 'मांकड़िंग' कहना गलत है।

 

हाल ही में यह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें सीजन के एक मैच से चर्चा में आया, जब किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाड़ी आर अश्विन ने राजस्थान रॉयल्स के जोस बटलर को 'मांकड़िंग' आउट किया।

 

राहुल मांकड़ ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया

राहुल ने कहा, ‘‘उनके पिता वीनू मांकड़ इस तरह से रन आउट करने वाले पहले और आखिरी क्रिकेटर नहीं थे। रन आउट होने की यह विधा क्रिकेट के नियमों के भीतर है। रन आउट को रन आउट ही कहना चाहिए। मुझे लगता है कि 40 के दशक के दौरान किसी ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार ने सबसे पहले इस शब्द का इस्तेमाल किया था। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि इस तरह किसी भी बल्लेबाज के रन आउट होने पर मेरे पिता का नाम लिया जाता है।’’

 

एमसीसी ने कहा- यह नियम बेहद जरूरी
इस तरह आउट करने पर अश्विन की आलोचना हो रही। इस पर अश्विन ने कहा कि यह सहज प्रतिक्रिया थी, इसमें खेल भावना कहां से आ गई? अब क्रिकेट के नियम बनाने वाली संस्था मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने स्पष्ट कर दिया है कि अश्विन ने नियम के तहत ही बटलर को आउट किया है। एमसीसी ने कहा, ‘‘नियमों को विस्तार से समझने की जरूरत है। यह नियम जरूरी है। इसके बिना, नान स्ट्राइकर एंड पर खड़े बल्लेबाज को क्रीज से आगे निकलने की आजादी मिल जाएगी। ऐसी कार्रवाई को रोकने के लिए एक नियम की जरूरत है।’’

 

ब्रेडमैन ने वीनू मांकड़ का किया था बचाव

वीनू मांकड़ ने जब बिल ब्राउन को रन आउट किया था तब उन्हें भी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। हालांकि, तब ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी संभाल रहे डॉन ब्रैडमैन ने उनका बचाव किया था। उन्होंने कहा था कि ऐसा क्यों हो रहा है, यह मैं समझ नहीं पा रहा हूं। क्रिकेट के नियम स्पष्ट हैं। बॉल फेंके जाने तक नॉन स्ट्राइक पर खड़े बल्लेबाज को क्रीज में रहना होता है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना