क्रिकेट कमेंट / कोहली ने कहा- मुझे भारतीय टीम की कप्तानी ऐसे ही अचानक नहीं मिली,  इसमें धोनी की बड़ी भूमिका रही

विराट कोहली ने कहा- मैं कई सारे आइडिया महेंद्र सिंह धोनी के साथ शेयर करता था। कई बार वे मना कर देते थे, लेकिन जो आइडिया उनको पसंद आता, उस पर वे चर्चा भी करते थे। -फाइल फोटो
X

  • महेंद्र सिंह धोनी ने 2014 में टेस्ट से कप्तानी छोड़ दी थी, इसके बाद विराट कोहली को यह जिम्मेदारी सौंपी गई
  • कोहली ने अश्विन के साथ चैटिंग के दौरान कहा- धोनी ने मुझ पर जो भरोसा जताया था, वह मेरे लिए काफी अहम

दैनिक भास्कर

May 31, 2020, 10:08 PM IST

विराट कोहली ने कहा कि उन्हें भारतीय टीम की कप्तानी दिलाने में महेंद्र सिंह धोनी की बड़ी भूमिका रही है। धोनी की कप्तानी में इंटरनेशनल क्रिकेट करियर की शुरुआत करने वाले कोहली ने कहा कि उन्हें यह जिम्मेदारी अचानक नहीं मिली है। धोनी ने उन पर जो भरोसा जताया है, वह काफी अहम है।

कोहली ने रविचंद्रन अश्विन के साथ इंस्टाग्राम चैटिंग के दौरान यह बातें कहीं। उन्होंने कहा है कि धोनी का उन पर ध्यान देना और रणनीतिक चर्चा करना उनके कप्तान बनने में काफी सहायक रहा है।

‘कभी कप्तान बनने के बारे में नहीं सोचा’

कोहली ने कहा, ‘‘मैंने कभी कप्तान बनने के बारे में नहीं सोचा था। मेरा मानना है कि चयनकर्ताओं ने भी मुझे अचानक से कप्तान नहीं बनाया है। यह जिम्मेदारी देने से पहले उन्होंने धोनी से पूछा होगा। मुझे विश्वास है कि मेरे कप्तान बनने में धोनी की अहम भूमिका रही है।’’

‘अपने आइडिया धोनी से शेयर करता था’
कोहली ने कहा, ‘‘जिस दिन मैं टीम में आया, तभी से बहुत कुछ सीखना चाहता था। मैं चारों तरफ खेल से घिरा रहता था। मैं कई सारे आइडिया धोनी के साथ शेयर करता था। कई बार वे मना कर देते थे, लेकिन जो आइडिया उनको पसंद आता, उस पर वे चर्चा भी करते थे। वे हमेशा मुझे समझने की कोशिश करते थे। मैं हमेशा उनसे सीखता था। मेरी जिज्ञासा के कारण ही शायद उनमें यह विश्वास आया कि टीम का अगला कप्तान मैं हो सकता हूं।’’

‘सचिन के साथ बल्लेबाजी करना यादगार पल रहा’
कोहली ने ढाका में पाकिस्तान के खिलाफ खेली 183 रन की पारी को भी याद किया। उन्होंने कहा, ‘‘उनका (पाकिस्तान) गेंदबाजी आक्रामण काफी दमदार था। साथ ही उनके पास शाहिद अफरीदी, सईद अजमल, उमर गुल, एजाज चीमा और मोहम्मद हफीज भी थे। मुझे याद है कि मैं पाजी (सचिन तेंदुलकर) के साथ बल्लेबाजी करने से खुश था। उन्होंने 50 रन बनाए और हमने 100 रन से ज्यादा की साझेदारी की। यह मेरे लिए यादगार पल रहा। यह पारी मेरे लिए गेम-चेंजर साबित हुई।’’

कोहली पहली बार 2014 में टेस्ट कप्तान बने थे
धोनी ने 2014 ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर टेस्ट से कप्तानी छोड़ दी थी। इसके बाद कोहली को नेतृत्व सौंपा गया था। 2018 में भारत ने ऑस्ट्रेलिया में 2-1 से टेस्ट सीरीज अपने नाम की थी। दोनों देशों के बीच 71 साल के टेस्ट इतिहास में भारत की ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर पहली सीरीज जीत थी। कोहली को सीमित ओवरों की कप्तानी जनवरी 2017 में मिली थी।

कोहली सभी फॉर्मेट में भारत के दूसरे सफल कप्तान
कोहली के नेतृत्व में भारतीय टीम अब तक कुल 117 अंतरराष्ट्रीय मैच जीती है। वे देश के दूसरे सफल कप्तान हैं। पहले स्थान पर 178 जीत के साथ धोनी हैं। तीसरे नंबर पर मोहम्मद अजरुद्दीन ने 104 मैच जीते थे। वहीं, सौरव गांगुली 97 जीत के साथ चौथे नंबर पर हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना