पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पाकिस्तान के कप्तान सरफराज ने कहा- भारत को अच्छे विकेट मिलते हैं और हमें खराब: रिपोर्ट

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सरफराज अहमद। - Dainik Bhaskar
सरफराज अहमद।
  • टांटन में बुधवार 12 जून को पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच होना है
  • पाकिस्तानी न्यूज चैनल के मुताबिक, सरफराज विकेट पर दिख रही हरी घास से परेशान हैं

खेल डेस्क. विश्व कप क्रिकेट 2019 में बुधवार 16 जून को भारत और पाकिस्तान की टीमों के बीच मैच होना है। पाकिस्तान को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हरी घास वाले विकेट पर खेलना पड़ा था। तब पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद इससे काफी नाराज हुए थे। सरफराज ने आरोप लगाया है कि विश्व कप में टीम इंडिया को बैटिंग फ्रेंडली पिच दी जा रही हैं लेकिन पाकिस्तान को मुश्किल पिच मिल रही हैं। 

 

2  दिन से टांटन में है पाकिस्तान टीम
पाकिस्तान और श्रीलंका का मैच बारिश की वजह से रद्द हो गया था। इसके बाद पाकिस्तान टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच खेलने के लिए टांटन पहुंची। यहां उसने विकेट पर हरी घास देखी। ये मैच पाकिस्तान हार गया था। ‘जियो न्यूज’ ने सरफराज के एक काफी करीबी से बातचीत के आधार पर रिपोर्ट प्रकाशित की है। इसके अनुसार, ‘सरफराज को लगता है कि भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच में जो पिच थी, उसमें बल्लेबाजों के लिए सहूलियत थी। भारत को ऐसे ही विकेट मिलते हैं। इन पर स्पिनर्स को भी मदद मिलती है। जब पाकिस्तान की बारी आती है तो टांटन की तरह मुश्किल पिच दे दी जाती है।’

 

यानी फिर मुश्किल
पाकिस्तान को विश्व कप के पहले मुकाबले में वेस्ट इंडीज के हाथों 7 विकेट की करारी शिकस्त मिली थी। पूरी टीम 105 रन ही बना सकी थी। वो विकेट भी टांटन की तरह ही ग्रीन टॉप था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी उन्हें हार मिली। 

 

लेकिन बॉलिंग कोच खुश
हैरानी की बात ये है कि सरफराज जिस विकेट को लेकर परेशान हैं, उसी पिच से उनके बॉलिंग कोच अजहर महमूद खुश थे। महमूद ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि वेस्ट इंडीज के खिलाफ जो हुआ वो पुरानी बात हो चुकी है।  

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

और पढ़ें