हार्दिक की बॉलिंग पर बोले गंभीर:पूर्व ओपनर ने कहा- नेट्स और बाबर आजम के खिलाफ गेंदबाजी करने में फर्क, प्लेइंग इलेवन में जगह बनाना मुश्किल

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

17 अक्टूबर से शुरू हो रहे टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया अपने अभियान की शुरुआत 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ खेले जाने वाले मैच से करेगी। इस हाईवोल्टेज मुकाबले से पहले हार्दिक पंड्या की फिटनेस पर सवालिया निशान बने हुए है। दरअसल, IPL फेज-2 के दौरान हार्दिक को एक ओवर भी गेंदबाजी करते नहीं देखा गया और माना जा रहा है कि वर्ल्ड कप के दौरान भी वह एक बल्लेबाज के रूप में ही खेलते नजर आएंगे।

हार्दिक से पहले ईशान पसंद
भारतीय टीम के पूर्व कप्तान गौतम गंभीर का ऐसा कहना है कि यदि मुझे सिर्फ 5 गेंदबाजों के साथ जाना हो तो मैं मौजूदा प्रदर्शन को देखते हुए हार्दिक पंड्या से पहले ईशान किशन को चुनना पसंद करूंगा। यदि आप 5 उचित गेंदबाज और 6 बल्लेबाज के साथ जाते हैं तो गेंदबाज के बारे में भूल जाओ, बल्ले से भी हार्दिक की लय एक बड़ी चिंता का विषय है।

करनी होगी दोनों मैचों में गेंदबाजी
स्टार स्पोर्ट्स के एक शो में गंभीर ने कहा- हार्दिक पंड्या को भारतीय प्‍लेइंग इलेवन में जगह तभी जगह मिल सकती है, जब वें न सिर्फ नेट्स में बल्कि दोनों वार्म अप मैच में भी गेंदबाजी करें। नेट्स और वर्ल्‍ड कप में बाबर आजम जैसे क्‍वालिटी के बल्‍लेबाजों के खिलाफ गेंदबाजी करने में बहुत बड़ा बड़ा अंतर है।

पूर्व ओपनर का मानना है कि पंड्या 115-120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी नहीं कर सकते। उन्‍होंने कहा- अगर आप सोच रहे हैं कि आप आकर 115-120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी कर लेंगे तो मैं यह खतरा नहीं लूंगा।

श्रीलंका सीरीज में भी नहीं थे लय में
श्रीलंका दौरे पर भी चोट के बाद टीम में वापसी करते हुए हार्दिक पंड्या ने तीन वनडे मैचों में केवल 14 ओवरों में गेंदबाजी की थी और 48.50 की औसत के साथ 97 रन करते हुए सिर्फ दो विकेट लेने में सफल रहे थे। बता दें कि 2018 के एशिया कप के दौरान हार्दिक को पीठ में चोट लगी थी और तभी से उनके प्रदर्शन में भी गिरावट देखने को मिली है। साल 2019 में पंड्या की पीठ की सर्जरी भी हुई थी।