टी-20 वर्ल्ड कप के बारे में जानिए सबकुछ:29 दिन में होंगे 45 मुकाबले, पहली बार DRS; सेमीफाइनल और फाइनल के लिए रिजर्व-डे

दिल्ली8 महीने पहले

पांच साल के लंबे अंतराल के बाद एक बार फिर टी-20 वर्ल्ड कप का आयोजन किया जा रहा है। 17 अक्टूबर से क्रिकेट के इस महासंग्राम का आगाज होगा। पहला मुकाबला ओमान और पापुआ न्यू गिनी के बीच खेला जाएगा। फाइनल 14 नवंबर को होगा। आइए, आपको इस मेगा टूर्नामेंट के बारे में वह सब कुछ बताते हैं जिन्हें जानने के बाद वर्ल्ड कप को लेकर आपके रोमांच में और भी इजाफा होगा। सबसे पहले हमारा टी-20 वर्ल्ड कप कवरेज का एक छोटा सा प्रोमो देखिए-

कौन होगा होस्ट?
वर्ल्ड कप 2021 का आयोजन ओमान और UAE में किया जा रहा है, लेकिन इसका होस्ट भारत और BCCI होगा। पहले भारत में ही इसका आयोजन होना था, लेकिन कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण इसे UAE और ओमान में शिफ्ट कर दिया गया।

कितनी टीमें भाग लेंगी?
टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में 16 टीमें हिस्सा ले रही हैं। पहला दौर क्वालिफाइंग राउंड का है। इसमें 8 टीमों को 4-4 के दो ग्रुप में बांटा गया है। दोनों ग्रुप से टॉप-2 स्थान पर रहने वाली टीमें मुख्य ग्रुप स्टेज के लिए क्वालिफाई करेंगी।

क्वालिफाइंग राउंड की आठ टीमों में बांग्लादेश, श्रीलंका, आयरलैंड, नीदरलैंड्स, स्कॉटलैंड, नामीबिया, ओमान और पापुआ न्यू गिनी शामिल है। मुख्य ग्रुप स्टेज को सुपर 12 भी कहा जाता है। सुपर-12 के दो ग्रुप और इसमें शामिल टीमें इस प्रकार हैं...

ग्रुप 1: इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, वेस्टइंडीज, A1 और B2

ग्रुप 2: भारत, पाकिस्तान, न्यूजीलैंड, अफगानिस्तान, B1 और A2

सुपर-12 में 30 मैचों का आयोजन होगा। दोनों ग्रुप की टॉप-2 टीमें सेमीफाइनल के लिए प्रवेश करेंगी। इस तरह पूरे टूर्नामेंट को मिलाकर 45 मैच खेले जाएंगे।

कैसे मिलेंगे पॉइंट्स?
ग्रुप स्टेज में हर मैच में जीत हासिल करने वाली टीम को 2 पॉइंट दिए जाएंगे। मैच टाई होने की स्थिति में सुपर ओवर से फैसला होगा। वहीं किसी कारण सुपर ओवर मुमकिन नहीं हो पाया या मैच रद्द हो गया तो दोनों टीमों को 1-1 पॉइंट मिलेगा। हारने वाली टीम को कोई पॉइंट नहीं मिलेगा। ग्रुप स्टेज में अगर दो टीमों के पॉइंट्स समान रहे तो उनके बीच जीत की संख्या और नेट रन रेट के आधार पर यह फैसला होगा कि आगे कौन सी टीम बढ़ेगी।

DRS का होगा प्रयोग?
पहली बार टी-20 वर्ल्ड कप में DRS का प्रयोग किया जाएगा। हर टीम को DRS के दो मौके दिए जाएंगे। 2016 टी-20 वर्ल्ड कप में इसका प्रयोग नहीं किया गया था।

अगर मैच टाई हो गया तो क्या होगा?
अगर वर्ल्ड कप के दौरान कोई मैच टाई हो जाता है तो टीमें सुपर ओवर खेलेंगी। अगर सुपर ओवर भी टाई हो जाता है, तो टीमें तब तक सुपर ओवर खेलती रहेंगी जब तक मैच का निर्णय ना आ जाए। यदि सुपर ओवर संभव नहीं हो पाया, मौसम की स्थिति या समय की कमी के कारण तो मैच को टाई घोषित किया जाएगा और टीमों को एक-एक अंक दिए जाएंगे।

यदि सेमीफाइनल के दौरान कोई परिणाम प्राप्त नहीं किया जा सका तो जो टीमें सुपर 12 ग्रुप में बेहतर प्रदर्शन कर के आई होंगी वे फाइनल में पहुंच जाएंगी। फाइनल में भी किसी कारण मैच पूरा नहीं हो पाया तो दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया जाएगा। ग्रुप के मैचों के लिए कोई रिजर्व डे नहीं रखा गया है। सेमीफाइनल और फाइनल के लिए रिजर्व डे है।

कौन सी टीमें जीत सकती हैं वर्ल्ड कप?
भारत, पाकिस्तान, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज की टीम इस मेगा टूर्नामेंट को जीतने की सबसे तगड़ी दावेदार हैं। 2016 के एडिशन में वेस्टइंडीज, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और भारत की टीमें सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रही थीं।

टी-20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम को क्या मिलेगा?
वर्ल्ड कप में विजेता टीम को 1.6 मिलियन डॉलर (लगभग 12 करोड़) का इनाम दिया जाएगा। वहीं रनर्स-अप टीम को 8 लाख डॉलर (लगभग 6 करोड़ रुपए) की रकम मिलेगी। वहीं सेमीफाइनल में हारने वाली दोनों टीमों को 4 लाख अमेरिकी डॉलर यानी 3 करोड़ रुपए दिए जाएंगे।

क्या दर्शक देख पाएंगे मैच?
दुबई में लगभग 70 फीसदी दर्शकों को स्टेडियम में एंट्री की इजाजत मिलेगी। वहीं अबु धाबी में भी दर्शक स्टेडियम आकर मैच देखेंगे। ओमान की राजधानी मस्कट में सिर्फ 3 हजार दर्शकों को ही स्टेडियम में एंट्री की इजाजत मिली है।