आज हर हाल में भारत को चाहिए बड़ी जीत:5 फैक्टर में समझिए कैसे अफगानिस्तान को बड़े मार्जिन से मात दे सकती है टीम इंडिया

एक वर्ष पहले

टीम इंडिया टी-20 वर्ल्ड कप में लगातार दो हार झेलने के बाद आज अफगानिस्तान से भिड़ने वाली है। भारतीय टीम को पहले मुकाबले में पाकिस्तान ने मात दी तो वहीं, दूसरे मुकाबले में न्यूजीलैंड ने हराया। अब टीम को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए आज का मुकाबला हर हाल में जीतना होगा। टीम को ये भी ध्यान में रखना होगा कि उनकी जीत बड़े मार्जिन से हो। अगर विराट की सेना आज का मुकाबला हार जाती है तो वो वर्ल्ड कप से पूरी तरह से बाहर हो जाएगी।

अगर अफगानिस्तान की बात करें तो वो भी इस मैच में पूरा जोर लगा देगी। पाकिस्तान के खिलाफ मैच में अफगान खिलाड़ियों ने बाबर की टीम की हालत खस्ता कर दी थी। वो तो भला हो आसिफ अली का जिन्होंने आखिर में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर टीम को जीत दिलाई। हम आपको आज होने वाले मुकाबले के उन 5 फैक्टर के बारे में बताते हैं जिससे टीम इंडिया को अफगानिस्तान के खिलाफ बड़ी जीत मिल सकती है।

रोहित शर्मा को बनाओ सलामी बल्लेबाज
न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया ने अपने बल्लेबाजी क्रम में बड़ा बदलाव किया था। रोहित शर्मा की जगह ईशान किशन सलामी बल्लेबाज बन कर आए थे। मैच में रोहित नंबर तीन और कप्तान विराट कोहली ने नंबर चार पर बल्लेबाजी की। इस बदलाव का टीम को बड़ा नुकसान हुआ। भारतीय टीम का टॉप ऑर्डर पूरी तरह से फ्लॉप रहा। आज के मुकाबले में भारतीय टीम ये गलती नहीं करना चाहेगी। रोहित एक बार पिच पर टिक जाते हैं तो वह किसी भी गेंदबाज का फॉर्म खराब कर सकते हैं। 2018 के बाद जब भी रोहित ने 50 रन से ज्यादा बनाए हैं, टीम इंडिया ने औसतन 198 का स्कोर खड़ा किया है। ऐसे में आज के मुकाबले में रोहित का बल्ला चलना बेहद जरूरी है। टीम इंडिया दोबारा उनके बल्लेबाजी क्रम में बदलाव करने का रिस्क नहीं उठाना चाहेगी।

अफगानिस्तान की फिरकी से बचना होगा
टी-20 वर्ल्ड कप में अफगानिस्तान की टीम का सबसे मजबूत पक्ष उनकी फिरकी गेंदबाजी है। उनके 20 ओवर में 12 ओवर राशिद खान, मोहम्मद नबी और मुजीब उर रहमान के होते हैं। इन 12 ओवरों से पार पाना टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ी चुनौती होगी। पिछले एक साल में भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ बहुत ही खराब रहा है। न्यूजीलैंड के खिलाफ मुकाबले में हमने देखा कैसे ईश सोढ़ी ने अपनी फिरकी पर टीम इंडिया के बल्लेबाजों को नचाया। भारतीय टीम आज के मुकाबले में वो गलती फिर नहीं दोहराना चाहेगी। टीम के पास सूर्य कुमार यादव एक ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने पिछले एक साल में IPL और टी-20 इंटरनेशनल मैचों में स्पिन गेंदबाजी को अच्छी तरह से खेला है। इन एक सालों में स्पिन के खिलाफ उनका स्ट्राइक रेट 143 का रहा है। अगर इस खिलाड़ी को आज के मुकाबले में मौका मिलता है तो इनसे काफी उम्मीदें होंगी।

पावरप्ले में अच्छी गेंदबाजी जरूरी
टीम इंडिया के गेंदबाज टी-20 वर्ल्ड कप के अपने दो मैचों में सिर्फ 2 विकेट ले पाए हैं। शुरुआती ओवर में भारतीय गेंदबाजों का प्रदर्शन कुछ समय से बेहद खराब रहा है। पिछले 17 मैचों में सिर्फ एक बार टीम इंडिया पावरप्ले में एक से ज्यादा विकेट ले पाई है। अगर जसप्रीत बुमराह को छोड़ दें तो कोई भी गेंदबाज अब तक इस वर्ल्ड कप में अपनी छाप नहीं छोड़ पाया है। भारतीय टीम के स्पिन गेंदबाज ने तो अभी विकेटों का खाता भी नहीं खोला है। ऐसे में अफगानिस्तान के खिलाफ मुकाबले में गेंदबाजों को अच्छा प्रदर्शन कर के दिखाना होगा।

टॉप ऑर्डर को करना होगा अच्छा प्रदर्शन
टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर पूरी तरह से फ्लॉप रहा है। पाकिस्तान के खिलाफ शाहीन शाह अफरीदी ने राहुल और रोहित को जैसे आउट किया, वो भला कौन भूल सकता है। न्यूजीलैंड के खिलाफ भी टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर कुछ खास नहीं कर पाया। वर्ल्ड कप से पहले शानदार फॉर्म में चल रहे के एल राहुल दूसरे मैच में भी पूरी तरह से फ्लॉप रहे। रोहित शर्मा को एक जीवनदान मिला, लेकिन वो इसका फायदा नहीं उठा पाए।

पाकिस्तान के खिलाफ शानदार अर्धशतक जड़ने वाले विराट कोहली का बल्ला न्यूजीलैंड के खिलाफ नहीं चल पाया। रोहित शर्मा की जगह सलामी बल्लेबाज बनाकर भेजे गए ईशान किशन ने भी निराश किया। आज होने वाले मुकाबले में टॉप ऑर्डर को हर हाल में अपना खोया हुआ फॉर्म प्राप्त करना होगा।

मध्यक्रम का चलना भी जरूरी
टॉप ऑर्डर के साथ-साथ टीम इंडिया का मध्यक्रम भी इस वर्ल्ड कप में अब तक कुछ खास नहीं कर पाया है। टीम की सबसे बड़ी परेशानी हार्दिक पंड्या की फॉर्म और फिटनेस है। वहीं, ऋषभ पंत को पाकिस्तान के खिलाफ अच्छा स्टार्ट तो मिला, लेकिन वो बड़ी पारी नहीं खेल पाए। न्यूजीलैंड के खिलाफ तो वो पूरी तरह से फ्लॉप रहे। आज मध्यक्रम में सूर्यकुमार यादव की वापसी हो सकती है। वो स्पिन अच्छा खेलते हैं। आज करो या मरो मुकाबले में उनका भी चलना बहुत जरूरी है।