दुबई स्‍टेडियम से ग्राउंड रिपोर्ट:स्टे‌डियम के बाहर इंडियन फैन्स बोले- रिश्ते में हम बाप हैं; देखिए अनूठे फैन्स के फोटो-वीडियो

दुबई7 महीने पहले

जुनून किसे कहते है? उत्साह की हिलोरे क्या होती हैं? जज्बा और जोश व्यवहारिक तौर पर कैसा दिखता है? अगर आप ने अभी तक इन भावों की सामूहिक अभिव्यक्ति को महसूस नहीं किया तो कभी भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच के शुरू होने के पहले स्टेडियम के बाहर पहुंच जाइएगा। इस बार हम पहुंचे थे, इसलिए आपको आपका अनुभव तो नहीं, लेकिन हमने जो महसूस किया वो यहां रख रहे हैं-

दोपहर तकरीबन तीन बजे जब हम स्टेडियम पहुंचे तो लोग स्टेडियम के तीनों ओर बने पार्किंग से तेजी से स्टेडियम की तरफ बढ़ रहे थे। पार्किंग से स्टेडियम की ओर जाने वाली सड़क पर वालेंटियर्स और पुलिस तैनात थी और छोटे-छोटे ग्रुप्स में लोगों को पार्किंग से स्टेडियम भेजा जा रहा था ताकि अचानक भीड़ ना बढे़।

जब हम स्टेडियम के बाहर पहुंचे तो 10-12 पाकिस्तानी फैन्स वहां शोर मचा रहे थे। उनका शोर देख पुलिस ने डपट लगाई तो सारे के सारे वहां से भागते हुए नजर आए, उसके तकरीबन 40 मिनट बाद सबने चुपचाप स्टेडियम में एंट्री ली।

पूरे शरीर पर गुदवा ली धवन की तस्वीरें
स्टेडियम के बाहर हमारी मुलाकात शंकर दवान से हुई। वे मंगलौर से दुबई आए थे मकसद था-भारत पाकिस्तान का मैच देखना। शंकर ने अपने पूरे शरीर पर शिखर धवन की तस्वीरें गुदवा रखी थी। छाती, पीठ, कंधे, बाहें यहां तक की गला भी, हर जगह बस धवन ही धवन थे। जब-जब शिखर धवन ने शतक बनाया, उन तारीखों को अपनी शरीर पर गुदवा रखा था। उन्हें दुख था कि शिखर धवन टीम में शामिल नहीं थे।

माथे पर लिखवा रखा था- मिस यू तेंदुलकर
इसी तरह एक फैन ने अपने शरीर पर तिरंगा बनवाया था और माथे पर लिखा था- मिस यू तेंदूलकर। धोनी के फैन्स भी धोनी के नाम लिखी टी-शर्ट में स्टेडियम में दाखिल हो रहे थे। यही पर हमारी मुलाकात हुई मुंबई के निखिलेश से, निखिलेश नीले रंग का कंदूरा (अरबी पोशाक) पहन, हाथ में तिरंगा लिए स्टेडियम की ओर बढ़ रहे थे।

निखिलेश ने बताया कि जिस दिन मैंने बुक थी, तभी सोच लिया कि दुबई में मैच है इसलिए अरबी पोषाक और मेरी टीम को सपोर्ट करना है इसलिए नीला रंग। मुंबई के मंगलेश पाटील तेंदुलकर की याद में घुंघराले बालों का विग लगाकर मैच देखने आए। आज मौका हमारा है।

स्टेडियम के बाहर पाकिस्तानी फैन अरशद और शाहीद लंबे हरे कुर्ते, हरी पगड़ी और बड़े से हरे चश्मे और बालों में भी हरी चोटियां लगाकर पहुंचे थे। दोनों का कहना था कि आज तो पाकिस्तान जीतेगा और मौका-मौका वाले एडवरटाइज को खत्म करेगा।

शाम तकरीबन 5 बजे स्टेडियम के बाहर नीला और हरा रंग बाकी सारे रंगों पर अपनी धाक जमा चुका था, नीली और हरी टी-शर्ट, कुर्ते पहने हाथों में झंडे लिए लोग तेजी से स्टेडियम की ओर बढ़ रहे थे। पगड़ी पर तिरंगा, टोपी पर तिरंगा, हाथों में तिरंगा, गालों पर तिरंगा, बालों पर तिरंगा भारतीय फैन को देखकर तो थोड़ी देर के लिए ऐसा एहसास हो रहा था मानो हम भारत में ही खडे़ हैं।

वही कुछ दीवाने ऐसे भी थे जिनके पास टिकट नहीं था पर वे इस उम्मीद में दुबई चले आए कि शायद दुबई आने के बाद कोई जुगाड़ जम जाए और टिकट मिल जाए, जब यह उम्मीद भी पूरी नहीं हुई तो आखिरी कोशिश करने स्टेडियम भी पहुंच गए ताकि ऐन वक्त पर भी टिकट मिल जाए।

मंगलौर से इरशान मोहम्मद ऐसी ही उम्मीद में दुबई पहुंच गए और ऐन वक्त तक टिकट हासिल करने की कोशिश करते थे। भारत के दो विकेट गिरने तक वो हमारे सामने स्टेडियम में खडे थे और बाद में किसी ऐसे रेस्तरां की तलाश कर रहे थे, जहां वे बड़ी स्क्रीन पर मैच देख सके।

नीचे हम उसी दरम्यान की तस्वीरें रख रहे हैं। वीडियो तो आपने ऊपर ही देख लिया होगा-

मैच देखने पहुंचीं कुछ महिलाएं हैप्पी करवा चौथ का पोस्टर लेकर आई हैं।
मैच देखने पहुंचीं कुछ महिलाएं हैप्पी करवा चौथ का पोस्टर लेकर आई हैं।
ये अव‌ंतिका हैं। ये उन बेहद कम ऑडियंस में से हैं, जो साड़ी पहनकर आई हैं। इन्होंने भी करवा चौथ का व्रत रखा है।
ये अव‌ंतिका हैं। ये उन बेहद कम ऑडियंस में से हैं, जो साड़ी पहनकर आई हैं। इन्होंने भी करवा चौथ का व्रत रखा है।
इन्हें क्रिकेट से ऐसा प्यार है कि अपने शरीर पर मैच के आंकड़ों का टैटू बनवा रखा है।
इन्हें क्रिकेट से ऐसा प्यार है कि अपने शरीर पर मैच के आंकड़ों का टैटू बनवा रखा है।
भारत के कुछ फैन्स पगड़ी पहनकर स्टेडियम में मैच देखने पहुंचे।
भारत के कुछ फैन्स पगड़ी पहनकर स्टेडियम में मैच देखने पहुंचे।
ये धोनी के फैन हैं। इन्हें उम्मीद है कि मेंटर धोनी टीम की नैया पार लगाएंगे।
ये धोनी के फैन हैं। इन्हें उम्मीद है कि मेंटर धोनी टीम की नैया पार लगाएंगे।
क्रिकेट का जुनून ऐसा कि माता-पिता बच्चे को भी साथ ले आए।
क्रिकेट का जुनून ऐसा कि माता-पिता बच्चे को भी साथ ले आए।
दुबई में बहुत से ऐसे फैन्स हैं जो आते साथ हैं, लेकिन सपोर्ट अलग-अलग टीमों को करते हैं।
दुबई में बहुत से ऐसे फैन्स हैं जो आते साथ हैं, लेकिन सपोर्ट अलग-अलग टीमों को करते हैं।
ये लोग मुंबई से आए हैं और इनकी जर्सी पर लिखा है रिश्ते में हम बाप हैं।
ये लोग मुंबई से आए हैं और इनकी जर्सी पर लिखा है रिश्ते में हम बाप हैं।
खबरें और भी हैं...