टी-20 वर्ल्ड कप:पाकिस्तान के खिलाफ खेलने से इनकार करने पर टीम इंडिया को बैन कर सकता है ICC, जुर्माना भी लगेगा

3 महीने पहले

टी-20 वर्ल्ड कप में भारत अपना पहला मैच पाकिस्तान के खिलाफ 24 अक्टूबर को खेलेगा, लेकिन इससे पहले इस मैच को रद्द करने की मांग हो रही है। इसकी वजह जम्मू-कश्मीर में आतंकियों द्वारा गैर-कश्मीरियों को टारगेट किया जाना है। बता दें कि पाकिस्तान समर्थित आतंकियों के रणनीति बदलने से कश्मीर में आतंकी घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है।

आतंकी गैर-कश्मीरियों को टारगेट कर उन्हें मौत के घाट उतार रहे हैं। हालांकि सेना के जवान भी आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं। ऐसे में लोग ये मांग कर रहे हैं कि जब तक पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आता, भारत-पाकिस्तान के बीच क्रिकेट न हो और टी-20 वर्ल्ड कप का मैच भी रद्द कर दिया जाए।

इस मैच को रद्द करने से वर्ल्ड कप में भारत को घाटा होगा या फायदा, आइए समझते हैं।

भारत की मुश्किलें बढ़ेंगीं
अगर आतंकी घटनाओं के कारण टीम इंडिया पाकिस्तान के खिलाफ खेलने से मना कर देती है, तो इससे सबसे बड़ा घाटा भारत को ही होगा। पाकिस्तान को बिना मैच खेले दो अंक मिल जाएंगे। वहीं, भारत को एक भी अंक नहीं दिया जाएगा। इससे पाकिस्तान के सेमीफाइनल में पहुंचने के चांस बढ़ जाएंगे। वहीं, भारत के लिए सेमीफाइनल और फाइनल में पहुंचना मुश्किल होगा।

भारत ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में भी खेलने से किया था इनकार
भारत ने ICC वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप-2021 के दौरान पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज खेलने मना कर दिया था। पाकिस्तान ने ICC से कई बार इस बारे में शिकायत भी की, लेकिन BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने सीरीज नहीं होने दी।

इस बार ICC भारत और पाकिस्तान के बीच मैच ना हो, ऐसा कतई नहीं होने देगी। इसकी सबसे बड़ी वजह उसका आर्थिक फायदा है। वहीं, पाकिस्तान लगातार टीम इंडिया के ना खेलने की शिकायत ICC से करता रहा है। ऐसे में अगर टीम इंडिया टी-20 वर्ल्ड कप में मैच खेलने से इनकार करती है तो ICC भारतीय टीम पर प्रतिबंध भी लगा सकती है। इसके साथ ही टीम इंडिया को भारी जुर्माना भी भरना पड़ सकता है।

अगर भारत-पाकिस्तान फाइनल में पहुंच गए, तब क्या करेंगे?
मान लेते हैं कि 24 अक्टूबर को होने वाले मुकाबले में हम पीछे हट जाते हैं और खेलने से मना कर देते हैं। ऐसे में हमें 2 अंक नहीं मिलेंगे, लेकिन अगर हम बाकी सभी मैचों में शानदार खेल दिखाकर फाइनल तक का सफर तय करते हैं और वहां भी हमारा सामना पाकिस्तान से होता है तो हम क्या करेंगे?

क्या हम वहां भी नहीं खेलेंगे? तब तो वर्ल्ड कप ट्रॉफी पाकिस्तान की हो जाएगी। वहीं, भारत बिना खेले पाकिस्तान को विजेता बना देगा। हर तरफ से उनका ही फायदा होगा।

2019 वर्ल्ड कप के दौरान भी उठी थी ये मांग
वर्ल्ड कप-2019 में आखिरी बार भारत-पाकिस्तान का मुकाबला हुआ था। उस समय भी मैच रद्द करने की मांग उठी थी, लेकिन भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कहा था कि वह ऐसा नहीं चाहते हैं। वह पाकिस्तान को मैदान पर हराकर उससे 2 अंक छीनना चाहेंगे। वह गिफ्ट में पाकिस्तान को 2 अंक नहीं दे सकते।

बता दें कि 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले के बाद से टीम इंडिया ने पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है। वहीं, इन दोनों टीमों के बीच आखिरी सीरीज 2012 में खेली गई थी।

खबरें और भी हैं...