इंग्लैंड Vs साउथ अफ्रीका:जीतकर भी हार गया साउथ अफ्रीका, ENG को 10 रनों से हराया; सेमीफाइनल में पहुंचे इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया

शारजाहएक महीने पहले

साउथ अफ्रीका ने सुपर-12 के मैच में इंग्लैंड को 10 रनों से हरा दिया है। टॉस हारकर पहले साउथ अफ्रीका ने अच्छी बल्लेबाजी की और 2 विकेट के नुकसान पर 189 रनों का स्कोर बनाया। रैसी वान डेर डुसेन ने 94* टॉप स्कोरर रहे, जबकि एडेन मार्करम ने भी 52 रनों की नाबाद पारी खेली। 190 रनों के टारगेट का पीछा करते हुए इंग्लैंड 179/8 का स्कोर ही बना सकी और हार गई। मैच का स्कोर देखने के लिए यहां क्लिक करें

अंतिम ओवर का रोमांच
आखिरी ओवर में इंग्लैंड को 14 रनों की दरकार थी, लेकिन कगिसो रबाडा ने टीम की जीत को मुमकिन नहीं होने दिया। पहली गेंद पर रबाडा ने क्रिस वोक्स (7), दूसरी गेंद पर कैप्टन मोर्गन (17) और तीसरी गेंद पर क्रिस जॉर्डन (0) को आउट किया और हैट्रिक पूरी की। आखिरी की तीन गेंदों पर रबाडा ने केवल 3 रन खर्च किए। रबाडा SA के लिए टी-20 वर्ल्ड कप में हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज बने।

जीत सकता था इंग्लैंड
टारगेट का पीछा करते हुए इंग्लैंड की शुरुआत धमाकेदार रही। टीम का पहला विकेट छठे ओवर में जोस बटलर (26) के रूप में गिरा। यह सफलता एनरिक नॉर्त्या ने SA को दिलाई। अगले ही ओवर में तबरेज शम्सी ने जॉनी बेयरस्टो (1) का विकेट चटकाया। तीसरे विकेट के लिए मोइन अली और डेविड मलान ने 36 गेंदों पर 56 रन जोड़े। मोइन लगातार बड़े शॉट्स लगा रहे थे। उनकी पारी पर ब्रेक शम्सी ने लगाया। मोइन अली (37) रन बनाकर पवेलियन लौटे। ENG का चौथा और पांचवां ड्वेन प्रिटोरियस ने डेविड मलान (33) और लियाम लिविंगस्टन (28) को आउट कर चटकाया। ENG जिस अंदाज में खेल रहा था, उसको देखते हुए टीम को जीत का फेवरेट माना जा रहा था, लेकिन रबाडा की हैट्रिक ने पूरे मैच की तस्वीर बदल कर रख दी।

  • साउथ अफ्रीका की ENG खिलाफ टी-20I में लगातार 5 हार के बाद ये पहली जीत रही।
  • इंग्लैंड लगातार दूसरी बार सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रहा।
  • जोस बटलर टी-20I में बतौर विकेटकीपर 2000+ रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने।
  • लियाम लिविंगस्टन (112 मीटर) ये इस टूर्नामेंट का सबसे लंबा छक्का रहा।
  • लिविंगस्टन ने ENG की पारी के 16वें ओवर में कगिसो रबाडा के खिलाफ छक्कों के हैट्रिक लगाई थी।
  • कगिसो रबाडा साउथ अफ्रीका के लिए टी-20I हैट्रिक लेने वाले पहले खिलाड़ी बने।
  • 94 रनों की नाबाद पारी खेलने वाले रैसी वान डेर डुसेन मैन ऑफ द मैच चुने गए।

ऑस्ट्रेलिया ने मारी बाजी
मैच में साउथ अफ्रीका ने इंग्लैंड के सामने 190 रनों का लक्ष्य रखा था, लेकिन टीम को सेमीफाइनल में जगह पक्की करने के लिए ENG को 131 के स्कोर तक रोकना था। मगर ENG ने ऐसा नहीं होने दिए। मोर्गन एंड कंपनी ने 15.2 ओवर के खेल में 131 रनों का आंकड़ा पार कर लिया। इसीके साथ अफ्रीकी टीम के लिए यह टूर्नामेंट यही समाप्त हो गया और ग्रुप-1 में इंग्लैंड के अलावा ऑस्ट्रेलिया की टीम सेमीफाइनल का टिकट हासिल करने में सफल रही। ऑस्ट्रेलिया 2012 के बाद टी-20 वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल हुआ।

मैदान से बाहर गए रॉय
पांचवें ओवर की पहली ही गेंद पर जेसन रॉय हैमस्ट्रिंग की चोट के चलते मैदान से लड़खड़ाते हुए बाहर गए। रॉय की चोट इतनी गंभीर की थी वह ठीक से चल भी नहीं पा रहे थे। डग-आउट में उनकी आंखों में आंसू भी देखे गए। ENG की टीम पहले से पह सेमीफाइनल में जगह बना चुकी है, ऐसे में रॉय का चोटिल हो जाना मोर्गन एंड कंपनी के लिए अच्छे संकेत नहीं है।

साउथ अफ्रीका ने खेला अटैकिंग क्रिकेट
टॉस हारकर पहले खेलते हुए SA की शुरुआत खराब रही और तीसरे ही ओवर में मोइन अली ने रीजा हेंड्रिक्स (2) का विकेट लेकर ENG को पहली सफलता दिलाई। क्विंटन डिकॉक और रैसी वान डेर डुसेन ने दूसरे विकेट के लिए 52 गेंदों पर 71 रन जोड़कर टीम को वापस मैच में ला खड़ा किया। इस पार्टनरशिप को आदिल राशिद ने डिकॉक (34) को आउट कर तोड़ा। तीसरे विकेट के लिए वान डेर डुसेन और एडेन मार्करम ने 52 गेंदों पर नाबाद 103 रन जोड़े। वान डेर डुसेन ने 60 गेंदों पर नाबाद 94 और मार्करम ने 25 गेंदों पर 52 रनों का बेहतरीन पारी खेली।

  • रैसी वान डेर डुसेन (94)* T-20I में ये सबसे बढ़िया स्कोर रहा।
  • वान डेर डुसेन और मार्करन का T-20I में ये छठा अर्धशतक रहा।
  • रैसी वान डेर डुसेन (94)* T-20 वर्ल्ड कप में किसी भी अफ्रीकी खिलाड़ी का ये सबसे बढ़िया स्कोर रहा।
  • वान डेर डुसेन ने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपने 2500 रन पूरे किए।
  • अंतिम पांच ओवर में साउथ अफ्रीका ने बनाए 71 रन।

दोनों टीमों की प्लेइंग-11

इंग्लैंड : जेसन रॉय, जोस बटलर (विकेटकीपर), डेविड मलान, जॉनी बेयरस्टो, ओएन मोर्गन, लियाम लिविंगस्टन, मोइन अली, क्रिस वोक्स, क्रिस जॉर्डन, आदिल राशिद, मार्क वुड

साउथ अफ्रीका : क्विंटन डिकॉक (विकेटकीपर), रीजा हेंड्रिक्स, रैसी वान डेर डुसेन, तेंबा बाउमा (कप्तान), एडन मार्करम, डेविड मिलर, ड्वेन प्रिटोरियस, कगिसो रबाडा, केशव महाराज, एनरिक नॉर्त्या, तबरेज शम्सी।