पाकिस्तान-न्यूजीलैंड मैच की फोटो स्टोरी:आसिफ अली के हेलमेट पर लगा टिम साउदी का खतरनाक बाउंसर, 3 ओवर तक चक्कर आते रहे

एक महीने पहले

न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलते हुए कई बार ऐसा लगा कि पाकिस्तान हार के करीब पहुंच गया है। उसके बॉलर्स की लाइन लेंथ खराब दिखी। बैट्समैन क्रीज पर बड़े शॉट लगाने के लिए छटपटाते दिखे।

एक बैट्समैन को तो ऐसी बाउंसर लगी कि तीन ओवर बाद तक चक्कर आता रहा, लेकिन शोएब मलिक एक छोर पर खड़े रहे। पवेलियन से सानिया मिर्जा उन्हें चीयर करती रहीं और मैच पाकिस्तान जीत गया।

आइए आपको इस मैच के 10 ऐसे लम्हों की तस्वीरें दिखाते हैं, जो सबसे ज्यादा रोमांचक हैं।

पहली तस्वीर पाकिस्तानी बैटर आसिफ अली और न्यूजीलैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज टिम साउदी की है। असल में हुआ ये कि एक ओवर में आसिफ अली ने साउदी को दो लगातार छक्के मार दिए। इसके बाद टिम ने करारा बाउंसर मारा जो सीधे जाकर आसिफ के हेलमेट पर लगा।
पहली तस्वीर पाकिस्तानी बैटर आसिफ अली और न्यूजीलैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज टिम साउदी की है। असल में हुआ ये कि एक ओवर में आसिफ अली ने साउदी को दो लगातार छक्के मार दिए। इसके बाद टिम ने करारा बाउंसर मारा जो सीधे जाकर आसिफ के हेलमेट पर लगा।
बाउंसर मारने के बाद साउदी बैट्समैन की ओर देखकर कुछ बुदबुदाए। फास्ट बॉलर अक्सर बैटर को बाउंसर मारने के बाद ऐसा करते हैं।
बाउंसर मारने के बाद साउदी बैट्समैन की ओर देखकर कुछ बुदबुदाए। फास्ट बॉलर अक्सर बैटर को बाउंसर मारने के बाद ऐसा करते हैं।
अगले ही पल पूरा नजारा बदल गया। असल में साउदी के बाउंसर से आसिफ चक्कर खाकर नीचे बैठ गए थे। आसपास खड़े न्यूजीलैंड के खिलाड़ी उनके पास भागे गए। उनका हेलमेट खुलवाया और उनसे उनकी हालत के बारे में पूछा।
अगले ही पल पूरा नजारा बदल गया। असल में साउदी के बाउंसर से आसिफ चक्कर खाकर नीचे बैठ गए थे। आसपास खड़े न्यूजीलैंड के खिलाड़ी उनके पास भागे गए। उनका हेलमेट खुलवाया और उनसे उनकी हालत के बारे में पूछा।
उस वक्त तो आसिफ उठ खड़े हुए, लेकिन उनसे बैटिंग नहीं हो रही थी। करीब तीन ओवर बाद उन्होंने अपने फिजियो को बुलाया और बार-बार उनसे बताते रहे कि उनका सिर घूम रहा है, उन्हें चक्कर आ रहा है। एक बार को लगा कि वो वापस जाएंगे, लेकिन मैच ऐसा फंसा हुआ था कि अगर आसिफ जाते तो शायद पाकिस्तान के लिए मुश्किल हो सकती थी, इसलिए वो जमे रहे।
उस वक्त तो आसिफ उठ खड़े हुए, लेकिन उनसे बैटिंग नहीं हो रही थी। करीब तीन ओवर बाद उन्होंने अपने फिजियो को बुलाया और बार-बार उनसे बताते रहे कि उनका सिर घूम रहा है, उन्हें चक्कर आ रहा है। एक बार को लगा कि वो वापस जाएंगे, लेकिन मैच ऐसा फंसा हुआ था कि अगर आसिफ जाते तो शायद पाकिस्तान के लिए मुश्किल हो सकती थी, इसलिए वो जमे रहे।
सोढ़ी ने 4 ओवर में 28 रन देकर 2 विकेट झटके। इसमें सबसे अहम विकेट मोहम्मद रिजवान का था। सोढ़ी जिस अंदाज में बॉलिंग कर रहे थे लग रहा था मानो भारत का बदला लेने उतरे हों। उन्होंने भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा रन बनाने वाले रिजवान को बुरी तरह चित्त कर दिया। जब तक सोढ़ी बॉलिंग करते रहे तब तक ऐसा लग रहा था कि न्यूजीलैंड जीत रहा है।
सोढ़ी ने 4 ओवर में 28 रन देकर 2 विकेट झटके। इसमें सबसे अहम विकेट मोहम्मद रिजवान का था। सोढ़ी जिस अंदाज में बॉलिंग कर रहे थे लग रहा था मानो भारत का बदला लेने उतरे हों। उन्होंने भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा रन बनाने वाले रिजवान को बुरी तरह चित्त कर दिया। जब तक सोढ़ी बॉलिंग करते रहे तब तक ऐसा लग रहा था कि न्यूजीलैंड जीत रहा है।
ये जो आकाश में तारा की तरह एक सफेद चीज चमक रही है वो व्हाइट बॉल है। इसे एक पाकिस्तानी बैटर ने इतना खींचकर मारा था कि गेंद मैदान के बाहर चली गई। असल में ये करारा शॉट कम, बहुत बड़ी खीझ थी, जो इस तरह से निकली थी।
ये जो आकाश में तारा की तरह एक सफेद चीज चमक रही है वो व्हाइट बॉल है। इसे एक पाकिस्तानी बैटर ने इतना खींचकर मारा था कि गेंद मैदान के बाहर चली गई। असल में ये करारा शॉट कम, बहुत बड़ी खीझ थी, जो इस तरह से निकली थी।
दरअसल, फखर जमान 14 गेंद में सिर्फ 4 रन बना पाए थे। उन्होंने बहुत कोशिश की। नीशम से लेकर जो भी गेंदबाज आता उसको जोर से मारने की कोशिश करते, लेकिन उनसे गेंद लगती नहीं। वो वन डाउन पर बैटिंग करने आए थे और इतना धीमा खेल रहे थे कि लगने लगा था अब मैच पाकिस्तान के हाथ से निकल गया। इसके बाद फखर जमान ने 15वीं गेंद पर इतने जोर से शॉट मारा कि गेंद मैदान के बाहर चली गई। गेंद वापस भी नहीं आ पाई। कॉमेंट्री कर रहे आकाश चोपड़ा ने बताया कि ये छक्का 98 मीटर का था। हालांकि इसके बाद फखर जमान आउट हो गए।
दरअसल, फखर जमान 14 गेंद में सिर्फ 4 रन बना पाए थे। उन्होंने बहुत कोशिश की। नीशम से लेकर जो भी गेंदबाज आता उसको जोर से मारने की कोशिश करते, लेकिन उनसे गेंद लगती नहीं। वो वन डाउन पर बैटिंग करने आए थे और इतना धीमा खेल रहे थे कि लगने लगा था अब मैच पाकिस्तान के हाथ से निकल गया। इसके बाद फखर जमान ने 15वीं गेंद पर इतने जोर से शॉट मारा कि गेंद मैदान के बाहर चली गई। गेंद वापस भी नहीं आ पाई। कॉमेंट्री कर रहे आकाश चोपड़ा ने बताया कि ये छक्का 98 मीटर का था। हालांकि इसके बाद फखर जमान आउट हो गए।
आखिर में उस शख्स की तस्वीर, जिसका नाता भारत से भी है। जब यह शख्स अपनी टीम को जिताने के लिए एक्सपीरिएंस लेकर अपनी पूरी सूझबूझ का इस्तेमाल कर रहा था तब एक भारतीय लड़की भी इसके लिए स्टैंड में बैठकर दुआएं मांग रही थी।
आखिर में उस शख्स की तस्वीर, जिसका नाता भारत से भी है। जब यह शख्स अपनी टीम को जिताने के लिए एक्सपीरिएंस लेकर अपनी पूरी सूझबूझ का इस्तेमाल कर रहा था तब एक भारतीय लड़की भी इसके लिए स्टैंड में बैठकर दुआएं मांग रही थी।
उस लड़की का नाम है, सानिया मिर्जा और जिस बल्लेबाज ने हारने की कगार पर पहुंची पाकिस्तान को हारने से बचाया उसका नाम है शोएब मलिक। मलिक को विश्व कप के पहले अचानक से टीम का हिस्सा बनाया गया था। पहले जब टीम चुनी गई थी तब उन्हें नहीं लिया गया था।
उस लड़की का नाम है, सानिया मिर्जा और जिस बल्लेबाज ने हारने की कगार पर पहुंची पाकिस्तान को हारने से बचाया उसका नाम है शोएब मलिक। मलिक को विश्व कप के पहले अचानक से टीम का हिस्सा बनाया गया था। पहले जब टीम चुनी गई थी तब उन्हें नहीं लिया गया था।
खबरें और भी हैं...