• Hindi News
  • Sports
  • 2023 FIH Men's Hockey World Cup [Updates]; India To Host 2023 Men's FIH Hockey World Cup

हॉकी / भारत को मिली 2023 पुरुष हॉकी विश्व कप की मेजबानी, 13 से 29 जनवरी के बीच खेला जाएगा टूर्नामेंट

भारतीय हॉकी टीम (फाइल फोटो) भारतीय हॉकी टीम (फाइल फोटो)
X
भारतीय हॉकी टीम (फाइल फोटो)भारतीय हॉकी टीम (फाइल फोटो)

  • स्विटजरलैंड में हुई एफआईएच की बैठक में हुआ फैसला
  • नीदरलैंड्स और स्पेन करेंगे महिला हॉकी विश्वकप की सह-मेजबानी

दैनिक भास्कर

Nov 08, 2019, 06:19 PM IST

खेल डेस्क. पिछले साल हॉकी विश्वकप के सफल आयोजन के बाद भारत को 2023 में होने वाले हॉकी विश्वकप की मेजबानी भी सौंप दी गई है। इस बात की घोषणा शुक्रवार को स्विटजरलैंड के लॉसाने शहर में हुई एफआईएच (इंटरनेशनल हॉकी फेडरेशन) एक्जिक्यूटिव बोर्ड की बैठक के बाद की गई। भारत सहित तीन देशों ने 2022-23 मेजबानी के लिये अपनी दावेदारी पेश की थी। पुरुष हॉकी विश्वकप 2023 में 13 से 29 जनवरी के बीच खेला जाएगा। 1971 के बाद से ये चौथा मौका होगा जब भारत हॉकी विश्वकप की मेजबानी करेगा।

 

बैठक में इस बारे में भी फैसला हुआ कि 2022 में होने वाले एफआईएच महिला हॉकी विश्वकप की सह-मेजबानी स्पेन और नीदरलैंड्स करेंगे। महिला विश्वकप 1 से 17 जुलाई 2022 के बीच होगा। टूर्नामेंट के दौरान मैच किन शहरों में खेले जाएंगे इस बारे में मेजबान देशों द्वारा घोषणा की जाएगी। 

 

चौथी बार मेजबानी करेगा भारत

 

भारत चौथी बार इस टूर्नामेंट की मेजबानी करेगा। इससे पहले उसने 1982 में मुंबई, 2010 में नई दिल्ली और 2018 में भुवनेश्वर में टूर्नामेंट की मेजबानी की थी। खास बात ये है कि साल 2023 में भारत की आजादी को 75 साल पूरे हो जाएंगे, ऐसे में उसके लिए हॉकी विश्वकप की मेजबानी और भी खासी होगी। भारत ने ये खिताब आखिरी बार 1975 में जीता था। भारत के अलावा हॉलैंड ने तीन बार पुरूष हॉकी विश्वकप की मेजबानी की है। भारत अबतक सिर्फ एक ही बार विश्व कप चैम्पियन बना है। 1975 में खेले गए टूर्नामेंट के फाइनल में उसने पाकिस्तान को हराकर ये खिताब जीता था। इससे पहले 1973 में वो उपविजेता रहा था।

 

बेहद मुश्किल रहा फैसला

 

अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ के सीईओ थिएरी वेल ने एक आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा, 'इन प्रतिष्ठित आयोजनों की मेजबानी के लिए एफआईएच को कई उत्कृष्ट बोलियां मिली थीं। इसलिए किसी एक को लेकर फैसला करना बेहद मुश्किल था। चूंकि महासंघ का प्राथमिक लक्ष्य दुनियाभर में इस खेल को फैलाना है, जिसके लिए निश्चित रूप से निवेश की आवश्यकता होती है। इसी वजह से फैसले को लेते वक्त हर बोली की आय सृजन करने की क्षमता को भी देखा गया।'

 

एकबार फिर घरेलू जमीन पर मनाना चाहते हैं जश्न

 

हॉकी इंडिया (एचआई) के अध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक अहमद ने इस उलपब्धि पर खुशी जताते हुए कहा, 'हमें पुरूष हॉकी विश्वकप 2023 की मेजबानी मिलने की बहुत खुशी है। हमने जब बोली प्रक्रिया में हिस्सा लिया था तो हम अपने देश की स्वतंत्रता के 75 बरस का जश्न और भी खास अंदाज में मनाना चाहते थे। हमने आखिरी बार विश्वकप भी 1975 में जीता था। ऐसे में इस खेल का यह खास जश्न हम घरेलू जमीन पर एक बार फिर मना सकेंगे।' साथ ही उन्होंने कहा, 'हमने 2018 विश्वकप की सफल मेजबानी की थी और भरोसा है कि एक बार फिर हम इसी सफलता को दोहरा सकेंगे। दुनिया के शीर्ष देश हमारे यहां एक बार फिर खेलने आएंगे और पिछले अनुभव से हम और बेहतर आयोजन का प्रयास करेंगे।'

 

बेल्जियम ने जीता था पिछला विश्व कप

 

पिछले साल भारत में आयोजित टूर्नामेंट के दौरान सारे मुकाबले ओडिशा में खेले गए थे। फाइनल में बेल्जियम ने नीदरलैंड्स को पेनल्टी शूटआउट में 3-2 से मात दी थी। उस वक्त भारतीय टीम छठी पोजिशन पर रही थी। 
 

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना