हॉकी / भारत अजलान शाह में कमजोर टीमों से खेल ओलिंपिक क्वालिफायर में उतरेगा



भारतीय कप्तान कप्तान मनप्रीत सिंह। भारतीय कप्तान कप्तान मनप्रीत सिंह।
X
भारतीय कप्तान कप्तान मनप्रीत सिंह।भारतीय कप्तान कप्तान मनप्रीत सिंह।

  • सुल्तान अजलान शाह टूर्नामेंट 23 मार्च से, भारत रैंकिंग में 5वें नंबर पर
  • 10 बार का चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया भी बाहर, नंबर-1 बेल्जियम भी नहीं खेलेगी

Dainik Bhaskar

Mar 21, 2019, 07:43 AM IST

खेल डेस्क. भारतीय हॉकी टीम 23 मार्च से सुल्तान अजलान शाह टूर्नामेंट में उतर रही है। जून से शुरू हो रहे ओलिंपिक क्वालिफायर टूर्नामेंट से पहले यह टीम इंडिया का अंतिम टूर्नामेंट है। ऐसे में टूर्नामेंट से टीम इंडिया तैयारी पुख्ता करना चाहेगी। लेकिन इस बार वर्ल्ड रैंकिंग में टॉप-5 पर काबिज टीमों में से केवल भारतीय टीम ही उतर रही है। हॉकी प्रो लीग के कारण 10 बार टूर्नामेंट का खिताब जीतने वाली और वर्ल्ड नंबर-2 ऑस्ट्रेलियाई टीम नहीं उतर रही है।

 

इसके अलावा नंबर-1 बेल्जियम, नंबर-3 नीदरलैंड और नंबर-4 अर्जेंटीना भी प्रो लीग के कारण शामिल नहीं हो रही हैं। टूर्नामेंट में भारत के अलावा एशियन गेम्स की चैंपियन जापान, कनाडा, मलेशिया, पोलैंड और दक्षिण कोरिया की टीमें उतर रही हैं। वर्ल्ड रैंकिंग में टॉप-10 की बात करें तो भारत के अलावा केवल कनाडा (10वें) इसमें शामिल हो रही है। मलेशिया 13वें, जापान 18वें, कोरिया 17वें और पोलैंड की टीम 21वें नंबर पर काबिज है। भारत 5वें नंबर पर है।

 

भारत 4 बार का चैम्पियन
भारत टूर्नामेंट में अब तक चार बार चैम्पियन बना है, लेकिन पिछले आठ साल से वह यहां खिताब नहीं जीत सका है। अंतिम बार 2010 में भारत और कोरिया संयुक्त विजेता रहे थे। तीन बार की चैंपियन पाकिस्तान टीम भी इसमें शामिल नहीं हो रही है। यह टूर्नामेंट का 28वां साल है। 1983 से इसकी शुरुआत हुई। सबसे पहला खिताब ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अपने नाम किया था।

 

टूर्नामेंट में हमारे मुकाबले

तारीख किसके खिलाफ
23 मार्च जापान
24 मार्च कोरिया
26 मार्च मलेशिया
27 मार्च कनाडा
29 मार्च पोलैंड


(टूर्नामेंट की टॉप-2 टीमों के बीच 30 मार्च को फाइनल खेला जाएगा।)

 

कप्तान मनप्रीत बोले- किसी भी टीम को कमजोर नहीं मान रहे
कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा कि यह साल का हमारा पहला टूर्नामेंट है। इसलिए हम किसी को कमजोर नहीं समझ रहे। एशियन गेम्स की गोल्ड मेडलिस्ट जापान से हमारा पहला मुकाबला है। ऐसे में हम उन्हें हराने के लिए उतरेंगे। भारत और जापान के बीच अब तक कुल 82 मुकाबले खेले गए हैं। 74 भारत ने जीते हैं, जबकि 4 जापान ने। 4 मुकाबले ड्रॉ रहे। पिछले साल हुए वर्ल्ड के बारे में उन्होंने कहा कि भले ही हम केवल क्वार्टर फाइनल तक ही पहुंच सके, लेकिन हमें यहां काफी कुछ सीखने को मिला।

 

ओलिंपिक क्वालिफिकेशन मुकाबले 6 जून से भुवनेश्वर में, 8 टीमों के बीच भिड़ंत होगी

ओलिंपिक क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट के तहत 6 से 16 जून तक भुवनेश्वर में वर्ल्ड सीरीज फाइनल्स के मुकाबले होंगे। इसमें भारत के अलावा जापान, मैक्सिको, पोलैंड, रूस, दक्षिण अफ्रीका, अमेरिका और उज्बेकिस्तान की टीमें उतर रही हैं। टूर्नामेंट की टॉप-2 टीमें ओलिंपिक क्वालिफिकेशन के अंतिम राउंड में जाएंगी। यहां 14 टीमें उतरेंगी। 7 को ओलिंपिक का टिकट मिलेगा। 

 

जापान को आयोजक और एशियन गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट के कारण टूर्नामेंट में प्रवेश मिल चुका है। इसके अलावा अफ्रीका, अमेरिका, यूरोप और ओसनिया टूर्नामेंट की भी एक-एक विजेता टीमें इसमें उतरंेगी। इस तरह से ओलिंपिक में कुल 12 टीमों के बीच मुकाबला होगा। महिला वर्गमें भी 12 टीमों को मौका मिलेगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना