• Hindi News
  • Sports
  • 6 African Batsmen Were Given Not Out In Durban Test, The Truth Came Out In Replay

खराब अंपायरिंग से हारा बांग्लादेश:डरबन टेस्ट में 6 अफ्रीकी बल्लेबाजों के आउट को दिया गया था नॉट आउट, रीप्ले में सच आया सामने

4 महीने पहले

बांग्लादेश और साउथ अफ्रीका के बीच डरबन में खेले गए पहले टेस्ट में खराब अंपायरिंग को लेकर काफी चर्चा हो रही है। बांग्लादेश की ओर से ICC के पास इस बारे में शिकायत दर्ज कराई गई है। साउथ अफ्रीका ने यह मैच 220 रन से जीता था। बांग्लादेश का कहना है कि मैच में साउथ अफ्रीका के बल्लेबाजों को कुल 6 बार तब नॉट आउट दिया गया जब वे आउट थे।

रीप्ले में साफ दिख रहे आउट को करार दिया नॉट आउट
दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी में, बांग्लादेश ने काफी LBW की अपील की और उनमें से 6 मौकों पर गेंद स्टंप्स से टकराती हुई दिखाई दे रही थी। पारी के 19वें ओवर में बांग्लादेश ने एड्रियन होल्डस्टॉक के नॉट-आउट फैसले को DRS के सहारे पलट कर उसे आउट करने में कामयाबी हासिल की। फिर 26 वें ओवर में, तेज गेंदबाज खालिद अहमद ने स्ट्राइक पर कीगन पीटरसन को LBW आउट कर दिया। पर निर्णय खिलाफ जाने के डर से उन्होंने DRS न लेने का फैसला किया।

बांग्लादेश के पूर्व कप्तान शाकिब अल हसन ने भी एड्रियन होल्डस्टॉक और मरैस इरास्मस के ऑन-फील्ड अंपायरिंग पर निराशा व्यक्त करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। शाकिब ने रविवार को ट्वीट किया था, "मुझे लगता है कि यह समय ICC को न्यूट्रल अंपायरों के पास वापस जाने का है, क्योंकि अधिकांश क्रिकेट खेलने वाले देशों में कोविड की स्थिति ठीक है।"

बांग्लादेश के फैंस का गुस्सा सातवें आसमान पर
एक प्रशंसक ने कहा कि न्यूट्रल अंपायरों के पास वापस जाना समय की मांग है। प्रशंसक ने ट्वीट किया, 'शाकिब अल हसन ने इंटरनेशनल क्रिकेट में एक बार फिर न्यूट्रल अंपायरों को बुलाया है। बांग्लादेश में कल की अंपायरिंग से हर कोई नाखुश था, और इससे मैं सहमत हूं। कुछ LBW जो नहीं दिए गए थे, वे अविश्वसनीय थे। मैं देख रहा हूं कि बांग्लादेश ने पहले टेस्ट में अंपायरिंग के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। मुझे वह पूरी तरह से समझ में आ गया - कई गलतियां थीं और ऐसा लग रहा था कि अफ्रीकी टीम को ग्रीन विकेट और अंपायर के कॉल का फायदा मिला।'

एक अन्य प्रशंसक ने ट्वीट किया: 'दक्षिण अफ्रीका के अधिकारियों की शर्मनाक अंपायरिंग। इसलिए हमें हर अंतरराष्ट्रीय मैच में तटस्थ अंपायरों की जरूरत होती है। बांग्लादेश के खिलाफ अंपायरों द्वारा जबरदस्त धोखा। बांग्लादेश अंपायरों सहित 13 खिलाड़ियों के खिलाफ खेल रहा है। घृणित अंपायरिंग।'

बांग्लादेश टीम के निदेशक खालिद महमूद भी कुछ ऑन-फील्ड कॉल से खुश नहीं थे और उन्होंने चौथे दिन स्टंप्स के बाद अपनी बात रखी, "आज के खेल में खराब अंपायरिंग किसी से छिपा नहीं है। कई फैसले हमारे खिलाफ गए। हम एक विकेट से चूक गए, जब हमारे लड़के रिव्यू लेने से डरने लगे।

8 अप्रैल से शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट में अब दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश के बीच आमना-सामना होगा।