पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Sports
  • After Becoming The Man Of The Match, Rashid Said Mom Always Used To Call Me After Doing Well In The Match, After Mom dad Left, The Comeback Was Very Difficult For A Year And A Half.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मां को याद कर भावुक हुए राशिद खान:मैन ऑफ द मैच बनने के बाद राशिद ने कहा- हमेशा मैच में अच्छा करने के बाद मॉम का फोन आता था, मॉम-डैड के जाने से, डेढ़ साल तक कमबैक बहुत मुश्किल रहा

दुबई2 महीने पहले
दिल्ली कैपिटल्स के बैट्समैन ऋषभ पंत को आउट करने के बाद सेलिब्रेट करते राशिद खान। (फोटो-आईपीएल)
  • इसी साल जून में राशिद की मां का देहांत हो गया था और उनके पिता का दिसंबर 2018 में
  • दिल्ली के खिलाफ राशिद ने 4 ओवर में 14 रन देकर 3 विकेट लिए थे

मंगलवार को दिल्ली कैपिटल्स और हैदराबाद के बीच खेले गए आईपीएल-13 के 11वें मैच में, राशिद खान ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ 14 रन देकर तीन विकेट चटकाए। उनकी इस शानदार गेंदबाजी के दम पर सनराइजर्स हैदराबाद ने, दिल्ली कैपिटल्स को 15 रनों से हराकर लीग के 13वें सीजन में अपनी पहली जीत दर्ज की।

जब भी मैं मैन ऑफ द मैच बनता हूं, मां की याद आती है

22 साल के राशिद को उनके परफॉर्मेंस के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। राशिद की मां का इस साल जून में देहांत हो गया था जबकि उनके पिता का दिसंबर 2018 में निधन हो गया था।

अफगानिस्तान के युवा खिलाड़ी ने मैन ऑफ द मैच बनने के बाद कहा, "मेरी मां क्रिकेट की सबसे बड़ी प्रशंसक थीं। वह हमेशा मुझे खेलते हुए देखती थी और उसका आनंद लेती थी। जब भी मुझे मैन ऑफ द मैच मिलता तो वह सारी रात मुझसे बात करतीं। मैं इस चीज को हमेशा मिस करता हूं। उनकी यादें हमेशा मेरे साथ हैं। पिछला डेढ़ साल मेरे लिए काफी कठिन रहा।"

राशिद ने कहा- कप्तान मुझ पर भरोसा करते हैं और मैं अपने हिसाब से गेंदबाजी करता हूं

उन्होंने मैच में अपने प्रदर्शन को लेकर कहा, " मैं यह दबाव कभी नहीं लेता कि मुझे अच्छा प्रदर्शन करना है। मैं शांत होकर खेलता हूं और अपने बेसिक्स दुरूस्त रखता हूं। कप्तान ने मुझ पर हमेशा भरोसा जताया है और अपने हिसाब से गेंदबाजी करने का मौका दिया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें