• Hindi News
  • Sports
  • Archery Couple Atanu Das Deepika Kumari And Bajrang Punia Sangeeta Vinesh In Tokyo Olympics

टोक्यो ओलिंपिक में रिश्तेदार जोड़ी:तीरंदाज अतनु दास और दीपिका कुमारी पति-पत्नी, जबकि रेसलर बजरंग की साली हैं विनेश फोगाट

नई दिल्लीएक वर्ष पहले

टोक्यो ओलिंपिक में इस बार भारत की दो रिश्तेदारों की जोड़ी सबके आकर्षण का केंद्र रहेगी। इन जोड़ी से देश को मेडल की भी काफी उम्मीद है। एक जोड़ी आर्चरी में मेडल पर निशाना लगाएगी, तो दूसरी जोड़ी रेसलिंग में विभिन्न वेट कैटेगरी में पहलवानों को चित करते नजर आएगी। चलिए हम आपको इन दोनों रिश्तेदार जोड़ी के बारे में और ओलिंपिक को लेकर उनकी तैयारी के बारे में बताते हैं।

पहला: दीपिका-अतनुदास (पति-पत्नी)
दीपिका और अतनुदास से ओलिंपिक में रिकर्व राउंड में मेडल की उम्मीद है। ये दोनों अलग-अलग इंडिविजुअल और टीम इवेंट में भाग लेने के अलावा एक साथ मिक्स्ड इवेंट में भी मेडल के लिए तीर चलाएंगे। दीपिका और अतनुदास की शादी पिछले साल कोरोना काल में 30 जून को हुई। हालांकि साल 2018 में दीपिका कुमारी और अतनुदास ने शादी का फैसला किया और सगाई कर ली। दोनों अलग-अलग जाति से आते थे, इस कारण शादी की राह में रोड़े भी उत्पन्न हुए। अतनुदास के परिजनों को कोई आपत्ति नहीं थी, लेकिन शुरू में दीपिका के परिवार वाले मानने को तैयार नहीं थे। बाद में दीपिका अपने घर वालों को मनाने में सफल रही।

पेरिस में दोनों मिक्स्ड इवेंट में गोल्ड पर तीर चलाए
टोक्यो ओलिंपिक से पहले पेरिस में हुए वर्ल्डकप स्टेज-3 में दोनों ने शादी के बाद पहली बार एक साथ मिक्स्ड इवेंट में भाग लेते हुए गोल्ड मेडल जीता। वहीं दोनों ने 2019 में एशियन कॉन्टिनेंटल क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट रिकर्व मिक्स्ड टीम में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई किया था। दीपिका तीसरी बार ओलिंपिक में भाग ले रही हैं, जबकि अतनुदास दूसरी बार ओलिंपिक में भाग ले रहे हैं।

दूसरा: बजरंग- विनेश फोगाट (जीजा-साली)
बजरंग पूनिया ने पिछले साल 25 नंवबर को संगीता फोगाट से शादी की। संगीता विनेश की चचेरी बहन है और गीता और बबीता की छोटी बहन है। विनेश महावीर फोगाट के बड़े भाई राजपाल की बेटी हैं। विनेश ने कुश्ती की ट्रेनिंग चचेरी बहन गीता और बबीता फोगाट के साथ अपने चाचा महावीर फोगाट से ली है।

विनेश पहली महिला रेसलर हैं जिन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स में एक साथ गोल्ड मेडल जीते हैं। वे पहली रेसलर भी हैं। विनेश दूसरी बार ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करेंगी। रियो ओलिंपिक में भी उनसे मेडल की उम्मीद थी, लेकिन वे चोट की वजह से मेडल से चूक गई थीं। इस बार इनसे मेडल की उम्मीद है। वहीं ओलिंपिक से ठीक पहले जून में पोलैंड ओपन में 53 किलो वेट में गोल्ड जीत कर अपना इरादा जाहिर कर चुकी हैं और यह दिखा चुकी हैं कि टोक्यो के लिए तैयारी उनकी शानदार है।

वहीं बजरंग पूनिया 65 किलोग्राम फ्री स्टाइल में इस साल मार्च में नंबर वन रैंकिंग पर पहुंचे। वे पहली बार ओलिंपिक में हिस्सा ले रहे हैं। बजरंग को 65 किग्रा फ्री स्टाइल में दूसरी वरीयता दी गई है। वे वर्ल्ड चैंपियनशिप में तीन मेडल जीत चुके हैं। जिसमें दो सिल्वर और एक ब्रॉन्ज मेडल शामिल है।

खबरें और भी हैं...