चैंपियन की बेइज्जती:वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट बगैर ऑस्ट्रेलिया ओपन खेलने पहुंचे जोकोविच को लौटाया गया

मेलर्बन12 दिन पहले

कोरोना महामारी के बीच ऑस्ट्रेलिया ओपन का आयोजन किया जा रहा है। 17 जनवरी से इसकी शुरुआत होने वाली है। टूर्नामेंट शुरू होने से पहले बड़ा बवाल हो गया है। नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच का वीजा रद्द कर दिया गया है। 20 ग्रैंड स्लैम जीत चुके नोवाक बुधवार को मेलबर्न पहुंचे थे, लेकिन उन्हें एयरपोर्ट से बाहर जाने की अनुमति नहीं दी गई। उन्हें पहले घंटों एयरपोर्ट पर रोका गया, फिर एंट्री से जुड़े जरूरी दस्तावेज ना होने के कारण उनका वीजा रद्द कर दिया गया।

बताया जा रहा है कि जोकोविच के पास वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट नहीं था और वे इसके बिना टूर्नामेंट खेलना चाहते थे।

ऑस्ट्रेलियाई PM बोले-कानून पहले
ऑस्ट्रेलिया की तरफ से एक दिन पहले जोकोविच को वैक्सीनेशन नियमों में छूट देते हुए ऑस्ट्रेलियन ओपन में हिस्सा लेने के लिए मंजूरी दी गई थी। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के PM स्कॉट मॉरिसन ने प्रेस कॉन्फेंस में कहा कि कानून सबके लिए बराबर है और कोई भी कानून से ऊपर नहीं है। खबरों की मानें तो जोकोविच ऑस्ट्रेलिया सरकार के इस फैसले को चुनौती दे सकते हैं।

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मॉरिसन यहीं नहीं रुके, उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'जोकोविच का वीजा रद्द कर दिया गया है। नियम नियम है। खासकर जब हमारी सीमाओं की बात आती है। कोई भी इन नियमों से ऊपर नहीं है। हमारी मजबूत सीमा नीतियां ऑस्ट्रेलिया के लिए महत्वपूर्ण रही हैं। कोरोना से दुनिया में सबसे कम मृत्यु दर यहां पर है। हम सतर्क रहना जारी रख रहे हैं।'

सर्बियाई राष्ट्रपति ने की जोकोविच से बात
सर्बिया के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वूसिक ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट शेयर करते हुए कहा, 'मैंने जोकोविच के साथ फोन पर बात की है और पूरा सर्बिया उनके साथ है। हमारे अधिकारी दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टेनिस खिलाड़ी के साथ दुर्व्यवहार को जल्द से जल्द खत्म करने के लिए सभी उपाय कर रहे हैं। सर्बिया अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत जोकोविच के लिए न्याय और सच्चाई के लिए लड़ेगा।'

34 साल के जोकोविच की नजरें रिकॉर्ड 21वें ग्रैंड स्लैम पर हैं। जोकोविच, रोजर फेडरर और राफेल नडाल, तीनों अब तक 20-20 ग्रैंड स्लैम एकल खिताब जीत चुके हैं।

बता दें कि नोवाक जोकोविच ने गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया में डिपोर्ट होने के बाद कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। अदालत के अधिकारियों ने कहा कि न्यायाधीश एंथनी केली शुक्रवार शाम 4:00 बजे जोकोविक की अपील पर सुनवाई करेंगे। वीजा कैंसिल होने के बाद से नोवाक को मेलबर्न में इमिग्रेशन डिटेंशन सेंटर में ही रखा गया है।

खबरें और भी हैं...