CWG की ओपनिंग सेरेमनी में सिंधु थामेंगीं तिरंगा:चोटिल नीरज चोपड़ा की जगह होंगी भारत की ध्वजवाहक, रात 11.30 बजे शुरू होगा समारोह

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बर्मिंघम में ​​​​​​हो रहे ​कॉमनवेल्थ गेम्स (CWG) की ओपनिंग सेरेमनी में पीवी सिंधु भारत की ध्वजवाहक होंगी। वह चोटिल नीरज चोपड़ा की जगह लेंगी। भारतीय ओलिंपिक संघ ने इसकी घोषणा बुधवार को की। ओपनिंग सेरेमनी भारतीय समयानुसार आज रात 11.30 बजे शुरू होगी।

सिंधु दो बार की ओलिंपिक मेडलिस्ट हैं। उन्होंने 2016 रियो ओलिंपिक में बैडमिंटन में सिल्वर और टोक्यो ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। सिंधु को फ्लैग बियरर बनने का मौका लगातार दूसरी बार मिला है। वह पिछली बार ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट (2018) में भी भारत की ध्वजवाहक थीं।

चानू और लवलीना के नाम पर भी किया गया था विचार
सिंधु के अलावा टोक्यो ओलिंपिक में वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल जीतने वाली मीराबाई चानू और बॉक्सिंग में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली लवलीना बोरगोहेन के नाम पर भी विचार किया गया, लेकिन आखिर में चार सदस्यीय कमेटी ने पीवी सिंधु के नाम पर मुहर लगाई।

इस कमेटी में ओलिंपिक संघ के अध्यक्ष अनिल खन्ना, सेक्रेटरी राजीव मेहता, ट्रेजरार आनंदेश्वर पांडे और टीम इंडिया के मिशन प्रमुख (Chef de Mission) राजेश भंडारी शामिल थे। पहले कमेटी ने पीवी सिंधु, लवलीना बोरगोहेन और मीराबाई चानू के नामों को शॉर्टलिस्ट किया और बाद में सिंधु के नाम पर सहमति बनी।

नीरज वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप के दौरान हुए थे चोटिल
नीरज चोपड़ा को वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में जेवलिन फाइनल के दौरान चोट लगी थी। उस दौरान चोपड़ा अपनी जांघ पर पट्टी लपेटते भी नजर आए थे। वर्ल्ड एथलेटिक्स इवेंट के बाद नीरज चोपड़ा का MRI स्कैन हुआ था, जिसमें ग्रोइन एंजरी की बात पता चली। लिहाजा उनको करीब एक महीने के आराम की सलाह दी गई, जिसके बाद चोपड़ा ने अपना नाम कॉमनवेल्थ गेम्स से वापस ले लिया था।

भारत के 213 एथलीट उतरेंगे
22वें कॉमनवेल्थ गेम्स का आयोजन इंग्लैंड के बर्मिंघम में 28 जुलाई से आठ अगस्त तक हो रहा है। भारत के 213 खिलाड़ी इसमें शामिल होंगे। पहले 215 एथलीट इसमें हिस्सा लेने वाले थे, लेकिन स्टार भालाफेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा चोटिल हो गए और ट्रिपल जंप में नेशनल रिकॉर्ड धारक ऐश्वर्या बाबू डोप टेस्ट में फेल हो गईं।