• Hindi News
  • Sports
  • E auction Of Prime Minister Narendra Modi's Mementos Neeraj Chopra's Javelin Sold For 1.5 Crore Rupees, Bhavani's Sword And Paralympic Athlete Sumit's Javelin Also Cost More Than One Crore

PM के तोहफों का ई-ऑक्शन:नीरज चोपड़ा का भाला डेढ़ करोड़ में बिका, भवानी की तलवार और पैरालिंपियन सुमित के भाले की कीमत भी एक करोड़ से ज्यादा

2 महीने पहले

टोक्यो ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा के भाले की नीलामी में सबसे ज्यादा बोली डेढ़ करोड़ रुपये लगी है। वहीं भवानी देवी के ऑटोग्राफ की गई फेंसिंग की तलवार भी सवा एक करोड़ में नीलाम हुई।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तोहफे में दी गई चीजों की नीलामी की आखिरी तारीख गुरुवार को खत्म हो गई। वेबसाइट पर ई-ऑक्शन के माध्यम से चीजों की नीलामी की गई।
नीरज के भाले की ऑनलाइन स्टोर्स में कीमत 80 हजार
नीरज ने टोक्यो से गोल्ड मेडल जीतकर लौटने के बाद प्रधानमंत्री से मुलाकात में अपने भाले को गिफ्ट में दिया था। इनके अलावा पीवी सिंधु और पहली बार ओलिंपिक में तलवारबाजी में देश का प्रतिनिधित्व करने वाली भवानी देवी सहित कई खिलाड़ियों ने प्रधानमंत्री से मुलाकात में उन्हें गिफ्ट भेंट किए थे।

नीरज के भाले की ऑनलाइन स्टोर्स में कीमत 80 हजार रुपये है, लेकिन इसकी बोली डेढ़ करोड़ रुपये लगी है। इसी तरह भवानी देवी के ऑटोग्राफ वाली फेंसिंग की तलवार की भी अच्छी बोली लगी है।। भवानी देवी की फेंसिंग की कीमत 1.25 करोड़ रुपये लगाई गई।

लवलीना बोर्गोहेन के ग्लव्स की 91 लाख रुपये की बोली लगी।
लवलीना बोर्गोहेन के ग्लव्स की 91 लाख रुपये की बोली लगी।

सुमित अंतिल के भाला भी 1 करोड़ 2 लाख रुपये
ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली पीवी सिंधु के रैकेट की कीमत 80 लाख रुपये तय हुई। इनके अलावा टोक्यो पैरालिंपिक गेम्स में भाग लेने वाले खिलाड़ियों की ऑटोग्राफ किए हुए ड्रेस की नीलामी 1 करोड़ रुपये, पैरालिंपिक में जेवलिन में गोल्ड मेडल जीतने वाले सुमित अंतिल के भाले पर 1.002 करोड़ रुपये और बॉक्सिंग में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले लवलीना के ग्लव्स की 91 लाख रुपये की बोली लगी।

17 सितंबर से किया जा रहा था ऑनलाइन ऑक्शन
मिनिस्ट्री ऑफ कल्चर ने PM को मिले उपहारों का ऑनलाइन ऑक्शन (ई-ऑक्शन) किया। ऑनलाइन ऑक्शन 17 सितंबर से 7 अक्टूबर तक चला इस ऑक्शन में करीब 1300 आइटम शामिल किए गए थे।

नमामि गंगे मिशन को दान की जाएगी राशि
ई-ऑक्शन से मिलने वाली राशि नमामि गंगे मिशन के लिए दान की जाएगी। इससे पहले 2019 में भी सितंबर में नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट ने बहुत सारी चीजों का ऑनलाइन ऑक्शन किया था और उसकी राशि भी नमामि गंगे मिशन को दान की गई थी।