• Hindi News
  • Sports
  • FIFA World Cup; Senegal Mane Ruled Out Of World Cup With Leg Injury | Soccer News

सादियो माने चोट के कारण वर्ल्ड कप से बाहर:सेनेगल को बड़ा झटका; क्योंकि, वे टीम के कप्तान और...

दोहा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
माने एक क्लब मैच में बायर्न म्यूनिख की ओर से वर्डर ब्रेमेन के खिलाफ खेलते हुए चोटिल हुए थे। - Dainik Bhaskar
माने एक क्लब मैच में बायर्न म्यूनिख की ओर से वर्डर ब्रेमेन के खिलाफ खेलते हुए चोटिल हुए थे।

2 दिन बाद कतर में FIFA वर्ल्ड कप शुरू हो रहा है। इस फुटबॉल महाकुंभ से ठीक पहले सेनेगल की टीम को बड़ा झटका लगा है। उसके बाद कप्तान और स्टार फॉरवर्ड सादियो माने चोट के कारण पूरे टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं।

सेनेगल ने शुक्रवार को एक सोशल मीडिया पोस्ट में माने के वर्ल्ड कप से बाहर होने की जानकारी दी। टीम के डॉक्टर मैनुअल अफोंसो ने कहा- 'बायर्न म्यूनिख के फॉरवर्ड सादियो माने अब वर्ल्ड कप में सेनेगल के लिए उपलब्ध नहीं रहेंगे। वे कुछ दिनों में म्यूनिख में अपना रिहैबिलिटेशन करेंगे।'

इससे पहले अफोंसो ने उम्मीद जताई थी कि माने वर्ल्ड कप के कुछ मैच खेलेंगे। उन्होंने कहा- 'हमने आज का MRI देखा है और दुर्भाग्य से उनकी रिकवरी उम्मीदों के अनुरूप नहीं है।'

30 साल के सादियो माने का चोटिल होना इसलिए भी चर्चा का विषय है, क्योंकि वे दुनिया के बेहतरीन फॉरवर्ड में से एक माने जाते हैं। वहीं, अफ्रीकन देश सेनेगल उन टीमों में से है, जो बड़ी टीमों को हराकर टूर्नामेंट में बड़ा उलटफेर कर सकती है।

नीदरलैंड से होगा पहला मुकाबला
सेनेगल का पहला मुकाबला 21 नवंबर को नीदरलैंड के साथ होगा। यह मैच रात 9 बजे से खेला जाएगा। टीम को ग्रुप-ए में मेजबान कतर, नीदरलैंड और इक्वाडोर के साथ रखा है। हर चार साल में होने वाले इस फुटबॉल महाकुंभ में 32 टीमें हिस्सा ले रही हैं, जिन्हें चार-चार के आठ ग्रुप में बांटा गया है।

इंजरी से रिकवर कर रहे थे माने
माने इंजरी से रिकवर कर रहे थे। उसके बाद भी उन्हें टीम में रखा गया था, क्योंकि चयनकर्ताओं को लगा था कि वे रिकवर कर जाएंगे। हालांकि, ऐसा नहीं हुआ। सेनेगल अफ्रीकन कप ऑफ नेशंस का चैंपियन है। यह अफ्रीका के उन 5 देशों में से एक है, जो वर्ल्ड कप खेल रहे हैं।

माने ने अब तक 33 गोल दागे हैं
माने ने सेनेगल के लिए अब तक खेले 92 मैच में 33 गोल दागे हैं। पहले वे इंग्लिश प्रीमियर लीग क्लब लिवरपूल की ओर से खेलते थे। अब वे बायर्न म्यूनिख का प्रतिनिधित्व करते हैं।