पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • French Open 2021: Russian Player Sizikova Detained At French Open Over Match Fixing Allegations

अब टेनिस में भी फिक्सिंग:फ्रेंच ओपन के मैच में फिक्सिंग की जांच; पुलिस ने रूसी महिला प्लेयर को अरेस्ट किया, वुमन्स डबल्स में पहला मुकाबला हारी थी

पेरिस2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रूस की महिला खिलाड़ी सिजिकोवा का यह दूसरा फ्रेंच ओपन टूर्नामेंट था। 2020 में वे पहली बार टूर्नामेंट में उतरी थीं। - Dainik Bhaskar
रूस की महिला खिलाड़ी सिजिकोवा का यह दूसरा फ्रेंच ओपन टूर्नामेंट था। 2020 में वे पहली बार टूर्नामेंट में उतरी थीं।

फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट में एक बड़ा मामला सामने आया है। पुलिस ने रूस की याना सिजिकोवा को मैच फिक्सिंग के संदेह में हिरासत में ले लिया है। सिजिकोवा वुमन्स डबल्स की खिलाड़ी हैं। उनकी मौजूदा रैंकिंग 101 है। उन्हें फ्रेंच ओपन के अपने पहली ही मैच हार का सामना करना पड़ा था। गुरुवार रात को ही पुलिस ने सिजिकोवा को हिरासत में ले लिया गया था। फिलहाल पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है।

पहले ही मैच में सिजिकोव को हार मिली थी
26 साल की सिजिकोवा पहले मैच में अपनी जोड़ीदार एकातेरिना अलेक्जेंद्रोवा के साथ उतरी थीं। हालांकि, इस मैच में अजला तोमलाजानोविच और स्टोर्म सैंडर्स की जोड़ी ने इन दोनों को 6-1, 6-1 से हराया था। डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक मामला सेकंड सेट के 5वें गेम में सामने आया। इस दौरान सिजिकोवा ने 2 डबल फॉल्ट किए थे और पॉइंट गंवाया था।

सिजिकोवा सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहती हैं।
सिजिकोवा सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहती हैं।

पुलिस ने सिजिकोवा के कमरे की तलाशी ली
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, जब पुलिस सिजिकोवा को हिरासत में लेने होटल पहुंची थी, उस वक्त सिजिकोवा पोस्ट मैच कॉन्फ्रेंस के लिए बाहर निकल रही थी। होटल में मौजूद सिक्योरिटी ने भी पुलिस को रोकने की कोशिश की थी। हालांकि, पुलिस उनका कमरा ढूंढने में सफल रही। पुलिस ने उनके कमरे की तलाशी भी ली। बताया जा रहा है कि पुलिस को सिजिकोवा पर संदेह पिछले साल से ही शुरू हुआ था।

2020 में भी सिजिकोवा पर फिक्सिंग का संदेह
पुलिस उनके पिछले साल के फ्रेंच ओपन के ओपनिंग मैच की जांच कर रही है। आरोप है कि इस मैच पर लाखों का सट्टा लगा था। इस मैच में सिजिकोवा और उनकी जोड़ीदार मैडिसन ब्रेंगल को रोमानिया की आंद्रे मितू और पैट्रिशिया मारिया ने हराया था। 2020 का संस्करण सिजिकोवा का पहला फ्रेंच ओपन टूर्नामेंट था।

यह फोटो फ्रेंच ओपन 2020 की है। तब सिजिकोवा और ब्रेंगल को हार मिली थी।
यह फोटो फ्रेंच ओपन 2020 की है। तब सिजिकोवा और ब्रेंगल को हार मिली थी।

जूनियर और छोटे मैचों में कई खिलाड़ी दोषी मिले
इसके बाद से ही ग्लोबल लॉटरी मॉनिटरिंग सिस्टम और ग्रुप ऑफ कॉपनहेगन समेत 33 एंटी स्पोर्ट्स करप्शन बॉडीज ने जांच शुरू कर दी थी। इससे पहले भी प्रोफेशनल टेनिस में मैच फिक्सिंग के कई मामले आए हैं। पर वे सभी मामले जूनियर लेवल और लोअर टियर मुकाबले में थे।

इस साल जनवरी में 2 खिलाड़ियों पर लगा था बैन
इन मामलों को देखने और खिलाड़ियों पर प्रतिबंध लगाने के लिए ही इंटरनेशनल टेनिस इंटेग्रिटी एजेंसी (ITIA) भी बनाई गई है। इसी साल जनवरी ने इस एजेंसी ने 2 रूसी खिलाड़ी सोफिया दिमित्रोवा और अलिजा मेरदीवा पर लाइफटाइम बैन लगाया था।

ओसाका ने मेंटल हेल्थ की वजह से फ्रेंच ओपन 2021 से नाम वापस लिया।
ओसाका ने मेंटल हेल्थ की वजह से फ्रेंच ओपन 2021 से नाम वापस लिया।

दूसरे कारणों से चर्चा में रहा है फ्रेंच ओपन 2021
इस साल फ्रेंच ओपन टूर्नामेंट से दूसरे कारणों से चर्चा में रहा है। रविवार को जापान की स्टार टेनिस प्लेयर नाओमी ओसाका ने एक मैच के बाद टूर्नामेंट से हटने का फैसला लिया था। उन पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल नहीं होने को लेकर करीब 10 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया था। इसके बाद उन्होंने मेंटल हेल्थ को लेकर नाम वापस ले लिया।

खबरें और भी हैं...