• Hindi News
  • Sports
  • Gautam Gambhir; Former Cricketer Gautam Gambhir On Mahendra Singh Dhoni Over 2007 ICC World Twenty20

क्रिकेट:गंभीर ने कहा- धोनी भी इंसान, उन्होंने भी कई बार मैदान पर आपा खोया; पर दूसरे कप्तानों की तुलना में बेहद शांत हैं

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
यह तस्वीर 2019 के आईपीएल में राजस्थान और चेन्नई के बीच हुए मुकाबले की है। इसमें नो बॉल को लेकर महेंद्र सिंह धोनी मैदान पर मैदान पर अंपायर से भिड़ गए थे। तब उनकी 50 फीसदी मैच फीस काटी गई थी। - Dainik Bhaskar
यह तस्वीर 2019 के आईपीएल में राजस्थान और चेन्नई के बीच हुए मुकाबले की है। इसमें नो बॉल को लेकर महेंद्र सिंह धोनी मैदान पर मैदान पर अंपायर से भिड़ गए थे। तब उनकी 50 फीसदी मैच फीस काटी गई थी।
  • पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर बोले- मैंने दो बार महेंद्र सिंह धोनी को वर्ल्ड कप में गुस्सा होते देखा है, पहला वाकया 2007 के टी-20 विश्व कप का
  • ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने कहा- हम अपने खेल से दर्शकों का मनोरंजन करने वाले खिलाड़ी चाहते हैं और धोनी ऐसा करते हैं

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पहचान 'कैप्टन कूल' के रूप में होती है। लेकिन उनके साथ खेलने वाले पूर्व क्रिकेटरों का मानना है कि धोनी भी इंसान हैं और उन्होंने भी कई बार अपना आपा खोया है। यह खुलासा पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर और इरफान पठान ने स्टार स्पोर्ट्स के शो 'क्रिकेट कनेक्टेड' में किया। 

गंभीर ने कहा कि लोग कहते हैं कि उन्होंने कभी धोनी को अपना आपा खोते हुए नहीं देखा, लेकिन मैंने दो बार ऐसा देखा है। यह वर्ल्ड कप 2007 और एक अन्य विश्व कप की बात है, जब हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। वे भी इंसान हैं और प्रतिक्रिया देना स्वाभाविक है।

खराब फील्डिंग पर भी गुस्सा होते हैं धोनी: गंभीर

बाएं हाथ के इस पूर्व सलामी बल्लेबाज कहा कि आईपीएल में चेन्नई की तरफ से अगर किसी खिलाड़ी ने खराब फील्डिंग की या कैच छोड़ा तो उन्होंने फटकार लगाई है। हां, वह बहुत शांत रहते हैं। वह दूसरे कप्तानों की तुलना में काफी शांत हैं। कम से कम मेरी तुलना में तो वे काफी कूल हैं। 

ब्रेट ली ने धोनी की तारीफ की

इस शो पर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने भी धोनी की तारीफ की। उन्होंने धोनी को दर्शकों को मनोरंजन करने वाला खिलाड़ी करार दिया और कहा कि ऐसे मौके बहुत कम आए होंगे, जब उन्होंने अपना आपा खोया होगा। 

धोनी कभी सीमाएं नहीं लांघते: ली

ली ने कहा कि हम अपने खेल से दर्शकों का मनोरंजन करने वाले खिलाड़ी चाहते हैं और धोनी ऐसा करते हैं। उन्होंने कभी सीमाएं नहीं लांघी। अगर ऐसा हुआ होगा तो ऐसे मौके बहुत कम होंगे। लेकिन हम भी इंसान हैं, इसलिए गुस्सा होना बड़ी बात नहीं। 

'नाराज होने पर देरी से प्रैक्टिस पर आए धोनी'

टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने भी इस शो पर 2006-07 की घटना को याद किया, जब प्रैक्टिस के दौरान धोनी आउट दिए जाने पर नाराज हो गए थे। उन्होंने कहा कि एक वॉर्म अप मैच में दाएं हाथ के बल्लेबाजों को बाएं से और बाएं हाथ के बल्लेबाजों को दाएं हाथ से बैटिंग करनी थी। इसके बाद हमें नेट्स पर जाना था।

जब आउट होने के बाद धोनी ने बल्ला फेंक दिया था: इरफान

पठान के मुताबिक, इस मैच के लिए दो टीमें बनाई गईं थीं। बल्लेबाजी के दौरान धोनी को आउट दिया गया, जबकि उन्हें लगा कि वे आउट नहीं थे। इससे नाराज होकर धोनी ने पवेलियन लौटते वक्त अपना बल्ला फेंक दिया और ड्रेसिंग रूम में चले गए और प्रैक्टिस के लिए भी देरी से आए। 

खबरें और भी हैं...