• Hindi News
  • International
  • Had Eaten Grandfather's Medicine By Mistake, Drugs Related To Heart Were Found In Dope Test, Now Will Spread Its Magic On Ice

खूबसूरत 'मिस परफेक्ट' का कमबैक:गलती से खाई थी दादा की दवा, डोप टेस्ट में मिले थे दिल से जुड़े ड्रग्स, अब बर्फ पर बिखेरेंगी अपना जादू

बीजिंग6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

15 वर्षीय रूसी फिगर स्केटर कामिला वलीवा इन दिनों खूब सुर्खियों में हैं। बीजिंग विंटर ओलंपिक से पहले डोप टेस्ट में नाकाम रहने के बावजूद कामिला वालिएवा खेलों में महिलाओं की फिगर स्केटिंग स्पर्धा में भाग ले सकेगी। वह ओलंपिक में दूसरा गोल्ड मेडल जीतने के करीब है। उनका मंगलवार को अपने सीजन का सबसे खराब प्रदर्शन रहा, लेकिन इसके बावजूद वह काफी आगे चल रही हैं। हालांकि, अगर वह मेडल जीत जाती हैं तो भी उनके लिए अवॉर्ड सेरेमनी का आयोजन नहीं किया जाएगा।

स्पोर्ट्स ट्रिब्यूनल के अनुसार 15 वर्षीय वालिएवा को पूरी जांच के बिना अस्थायी रूप से निलंबित करने की जरूरत नहीं है। क्योंकि वह नाबालिग या ‘सुरक्षित व्यक्ति’ हैं। ऐसे में उनके लिए नियम वयस्क खिलाड़ियों से अलग होंगे। पैनल का मानना है कि वालिएवा को ओलंपिक में भाग लेने से रोकना सही नहीं है।

रिपोर्ट आने में हुई थी 6 सप्ताह की देरी

बता दें कि 25 दिसंबर 2021 को 'मिस परफेक्ट' के नाम से मशहूर वालिएवा को प्रतिबंधित दवा के सेवन का दोषी पाया गया था। स्वीडन की लैब में हुई जांच का नतीजा एक सप्ताह पहले सामने आया। कामिला रूसी ओलिंपिक समिति के लिए गोल्ड मेडल जीत चुकी थीं। हालांकि, रिपोर्ट आने में 6 सप्ताह की देरी की वजह पूरी तरह साफ नहीं है, लेकिन रूसी अधिकारियों के अनुसार जनवरी में कोविड-19 के ओमीक्रोन वैरिएंट के फैलाव के चलते लैब में पर्याप्त स्टाफ नहीं था। रूसी डोपिंग निरोधक एजेंसी ने तुरंत प्रतिबंध लगाने के एक दिन बाद हटा दिया। आईओसी की अपील पर मामले पर तुरंत कार्रवाई की गई। इसके बाद कामिला ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये अपना पक्ष रखा था।

गलती से खाई थी दादा की दवा
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कामिला ने बताया कि उन्होंने गलती से अपने दादा की दवाई खाई थी। इस दौरान उनके दादा ने भी गवाही दी। वह उस दवा की शीशी साथ लेकर बैठे थे। उन्होंने कहा कि वे दिल के मरीज हैं। पोती ने गलती से उनकी दवा खाई थी।

खबरें और भी हैं...