• Hindi News
  • Sports
  • In ISL 7th Season Rs 17 Crore Spent On Corona Testing In 7th Season, 1635 Players And Staff Tested

ISL 2020-21:टूर्नामेंट के दौरान कोरोना जांच में 17 करोड़ रुपए खर्च हुए; 1635 लोगों की 70 हजार बार जांच हुई

नई दिल्ली2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुंबई सिटी FC टीम फाइनल में एटलेटिको डी कोलकाता को 2-1 से हराकर पहली बार चैम्पियन बनी। - Dainik Bhaskar
मुंबई सिटी FC टीम फाइनल में एटलेटिको डी कोलकाता को 2-1 से हराकर पहली बार चैम्पियन बनी।

भारत की सबसे बड़ी फुटबॉल लीग इंडियन सुपर लीग के 7वें सीजन में कोरोना को लेकर बेहद सावधानी बरती गई थी। इसके अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि टूर्नामेंट के दौरान कोरोना जांच पर 17 करोड़ रुपए खर्च किए गए। वहीं, इस दौरान 1,635 लोगों की 70 हजार बार जांच हुई।

ट्रॉफी जीतने के बाद मुंबई की टीम।
ट्रॉफी जीतने के बाद मुंबई की टीम।

ISL के 7वें सीजन में 11 टीमों ने कुल 115 मैच खेले
मुंबई सिटी FC टीम फाइनल में एटलेटिको डी कोलकाता को 2-1 से हराकर पहली बार चैम्पियन बनी। लीग ने एक रिलीज में बताया कि टूर्नामेंट के दौरान 11 टीमों के बीच कुल 115 मैच खेले गए। इस दौरान 298 गोल दागे गए। खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए भी बेहतर इंतजाम किए गए थे।

खिलाड़ियों के लिए 14 होटल में 18 बायो-बबल तैयार
खिलाड़ियों के लिए 14 होटल में 18 बायो-बबल तैयार किए गए थे। इस दौरान सभी टीमों के स्टाफ और खिलाड़ियों ने कोरोना जांच में सहयोग किया और समय-समय पर खुद की जांच करवाई। इससे टूर्नामेंट को सफल बनाने में मदद मिली।

मुंबई के लिए बिपिन सिंह ने विनिंग गोल दागा।
मुंबई के लिए बिपिन सिंह ने विनिंग गोल दागा।