• Hindi News
  • Sports
  • India Open Badminton 20 Year Old Malvika Beat Saina Nehwal, Nagpur Player Won In 34 Minutes

इंडियन ओपन बैडमिंटन में बड़ा उलटफेर:20 साल की मालविका ने साइना नेहवाल को हराया, 34 मिनट में जीती नागपुर की खिलाड़ी

नई दिल्ली9 दिन पहले
मालविका ने दोनों गेम में साइना नेहवाल को टिकने का मौका नहीं दिया।

इंडियन ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में गुरुवार को बड़ा उलटफेर हुआ। नागपुर की रहने वाली 20 साल की मालविका बनसोड ने दिग्गज खिलाड़ी और लंदन ओलिंपिक की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साइना नेहवाल को हरा दिया। महिला सिंगल्स के दूसरे राउंड के मुकाबले में मालविका ने साइना को लगातार गेम में 21-17, 21-9 से हरा दिया। यह मैच 34 मिनट तक चला। वर्ल्ड रैंकिंग में साइना इस समय 25वें नंबर पर हैं। वहीं मालविका की रैंक 111वीं है।

पहले गेम में 4-4 की बराबरी के बाद ली बढ़त
साइना और मालविका के बीच पहले गेम की शुरुआत में बराबरी का मुकाबला देखने को मिला। एक समय दोनों खिलाड़ी 4-4 की बराबरी पर थीं। इसके बाद मालविका ने बढ़त बना ली और इसे अंत तक कायम रखा। दूसरे गेम में भी दोनों एक समय 2-2 की बराबरी पर थीं। यहां से मालविका ने बढ़त बनाई और इसे गेम और मैच जीतने तक कायम रखा।

कौन हैं मालविका बनसोड?
मालविका महाराष्ट्र की उभरती हुई बैडमिंटन स्टार हैं। वे अंडर-13 और अंडर-17 लेवल पर स्टेट चैंपियनशिप जीत चुकी हैं। 2018 में वे वर्ल्ड जूनियर बैडमिंटन टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम में सिलेक्ट हुईं। 2018 में उन्होंने काडमांडू में साउथ एशियन बैडमिंटन चैंपियनशिप में जीत हासिल की। 2019 में उन्होंने ऑल इंडिया सीनियर रैंकिंग टूर्नामेंट जीता। 2019 में ही मालविका ने मालदीव्स इंटरनेशनल फ्यूचर सीरीज टूर्नामेंट का खिताब जीता।

पीवी सिंधु ने बहुत आसानी से दूसरे राउंड का मैच जीत लिया।
पीवी सिंधु ने बहुत आसानी से दूसरे राउंड का मैच जीत लिया।

लक्ष्य सेन और पीवी सिंधु आगे बढ़े
भारत के लक्ष्य सेन ने पुरुष सिंगल्स के तीसरे राउंड में जगह बना ली है। उन्होंने स्वीडन के फेलिक्स बर्स्टेड को 21-12, 21-15 से हराया। महिला सिंगल्स में टॉप सीड पीवी सिंधु ने भारत की ही इरा शर्मा को 21-10, 21-0 से हरा दिया।

साइना घुटने की चोट से उबरने के बाद पहला टूर्नामेंट खेल रही थीं।
साइना घुटने की चोट से उबरने के बाद पहला टूर्नामेंट खेल रही थीं।

यह देखने आई थी कि मैं अभी कहां खड़ी हूंः साइना
साइना नेहवाल घुटने और ग्रोइन की चोट से उबरने के बाद पहला टूर्नामेंट खेल रही थीं। मालविका से हार के बाद उन्होंने कहा- पिछले साल अक्टूबर में मैं चोटिल हो गई थी। मैंने 27 दिसंबर से दोबारा खेलना शुरू किया। इस टूर्नामेंट में यह देखने आई थी कि मैं अभी कहां खड़ी हूं और कितने सुधार की और जरूरत है।

मुझे खुशी है कि मैं दो मैच खेल पाई। हालांकि, यह स्वीकार करना होगा कि खराब फिटनेस के साथ मालविका, अकाशी और सिंधु जैसी खिलाड़ियों के खिलाफ खेलना काफी मुश्किल है। मालविका के बारे में साइना ने कहा- वह अच्छा खेल रही है और उसके खेल में लगातार सुधार आ रहा है। रैली खेलने में वह बेहतरीन है। उम्मीद है कि इस टूर्नामेंट में मालविका आगे भी अच्छा परफॉर्म करेगी।