पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Sports
  • Indian Squash Player Yash Fadte Returned To Goa From UK After Coronavirus Lockdown Yash French Junior Open Winner Squash News Updates

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना लॉकडाउन:ब्रिटेन में फंसे 18 साल के स्क्वैश खिलाड़ी यश 78 दिन बाद गोवा लौटे, फ्रेंच जूनियर ओपन जीत चुके हैं

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भारतीय बुडिंग स्क्वैश खिलाड़ी यश फेडते ने बताया- मैंने अपनी ट्रेनिंग शुरू कर दी थी, लेकिन दो हफ्ते के बाद ही सबकुछ बदल गया। 22 मार्च को वहां लॉकडाउन घोषित हो गया। वहां पर काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। -फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
भारतीय बुडिंग स्क्वैश खिलाड़ी यश फेडते ने बताया- मैंने अपनी ट्रेनिंग शुरू कर दी थी, लेकिन दो हफ्ते के बाद ही सबकुछ बदल गया। 22 मार्च को वहां लॉकडाउन घोषित हो गया। वहां पर काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। -फाइल फोटो
  • यश फेडते को बिट्रेन के सोलीहुल आर्डेन क्लब में डेढ़ महीने की ट्रेनिंग के बाद अप्रैल में कुछ टूर्नामेंट में खेलना था
  • फ्रेंच ओपन चैम्पियन ने कहा- ब्रिटेन में काफी महंगे किराए पर रूम मिले, राशन के लिए भी काफी परेशानी हुई थी

भारतीय बुडिंग स्क्वैश खिलाड़ी यश फेडते (18) मार्च से ही कोरोनावायरस और लॉकडाउन के कारण ब्रिटेन में फंसे हुए थे। 78 दिन बाद सोमवार को वे मुंबई और फिर यहां से अपने घर गोवा के पणजी पहुंच गए हैं। यहां वे 14 दिन के लिए क्वारैंटाइन में हैं। यश फ्रेंच जूनियर ओपन खिताब जीतकर देश का नाम रोशन कर चुके हैं।

यश ने एजेंसी को बताया कि वह घर पहुंचने पर खुश हैं। यश मुंबई से गोवा सरकार की ओर से संचालित बस से पणजी पहुंचे। उन्होंने बताया कि बस में सोशल डिस्टेंसी का पालन नहीं किया जा रहा है।

29 अप्रैल को लौटना था
यश 7 मार्च को ब्रिटेन लिए गए थे। उन्हें सोलीहुल आर्डेन क्लब में डेढ़ महीने की ट्रेनिंग के बाद अप्रैल में कुछ टूर्नामेंट में खेलना था। इसके बाद उन्हें 29 अप्रैल को भारत लौटना था। लेकिन कोरोना के कारण भारत और ब्रिटेन के बीच हवाई सेवा बंद होने से वहीं फंस गए थे।

‘ट्रेनिंग के 2 हफ्ते बाद सबकुछ बदल गया’
यश ने बताया, ‘‘मैंने अपनी ट्रेनिंग शुरू कर दी थी, लेकिन दो हफ्ते के बाद ही सबकुछ बदल गया। 22 मार्च को वहां लॉकडाउन घोषित हो गया। वहां पर काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। किराए पर कमरा लिया, जो काफी महंगा था। राशन के लिए भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सभी चीजें काफी महंगी हो गई थी।’’

योग और मेडिटेशन पर फोकस किया
गोवा में कोरोना के मामले बढ़ने लगे थे। ऐसे में यश अपने पैरेंट्स की चिंता होने लगी थी। उन्होंने दो महीने प्रैक्टिस छोड़कर योग और मेडिटेशन पर फोकस किया। यश ने बताया कि वह स्वदेश लौटने को लेकर भारतीय उच्चायोग के संपर्क में थे। उन्हें 23 मई को यात्रा की परमिशन मिली। वह 24 मई को मुंबई पहुंचे उसके बाद 25 मई को गोवा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- ग्रह स्थिति अनुकूल है। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और हौसले को और अधिक बढ़ाएगा। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी काबू पाने में सक्षम रहेंगे। बातचीत के माध्यम से आप अपना काम भी निकलवा लेंगे। ...

    और पढ़ें