• Hindi News
  • Sports
  • Iran Goalkeeper Alireza Beiranvand Seriously Injured Blood Felt From Nose

नाक टूटी, खून बहता रहा...खेलते रहे, फिर अचानक गिरे:फिल्मी फाइट जैसा सीन, इंग्लैंड के खिलाफ मैच में साथी से भिड़े ईरानी गोलकीपर

स्पोर्ट्स डेस्क14 दिन पहले
गोलकीपर अलिर्जा बैरनवंद और माजिद हुसैनी की टक्कर के कारण कुछ देर मैच रुका रहा।

कतर में खेले जा रहे फीफा वर्ल्ड कप में ईरानी टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही है। इंग्लैंड ने ईरान को 6-2 से हरा दिया। इस दौरान एक दर्दनाक हादसा भी हो गया। ईरानी गोलकीपर अलिर्जा बैरनवंद अपने ही खिलाड़ी से भिड़ गए। उनकी नाक से खून बहने लगा। इस दौरान कुछ मिनट तक खेल रुका रहा।

अलिर्जा बैरनवंद खून बहने के बाद भी मैदान में पट्टी बांधकर खेलते रहे, लेकिन कुछ देर बाद वह मैदान में गिर गए। जिसके चलते उन्हें स्ट्रेचर पर मैदान से बाहर ले जाना पड़ा।

खेल के 9वें मिनट में हुआ हादसा
मैच शुरू होने के बाद 9वें मिनट में ही गोलकीपर अलिर्जा इंग्लैंड के राइट विंग से आती फुटबॉल को गोल में जाने से बचाने की कोशिश कर रहे थे, तभी तेजी से साथी खिलाड़ी माजिद हुसैनी आ गए। अलिर्जा से टकराने के बाद वह मैदान पर गिर गए।

3 फोटोज में देखें, कैसे टकराए ईरानी खिलाड़ी...

अलिर्जा गोल की तरफ आती फुटबाल को रोकने की कोशिश कर रहे थे। तभी माजिद आ गए।
अलिर्जा गोल की तरफ आती फुटबाल को रोकने की कोशिश कर रहे थे। तभी माजिद आ गए।
दोनों का मुंह आपस में टकाराया। अलिर्जा को नाक में चोट लगी।
दोनों का मुंह आपस में टकाराया। अलिर्जा को नाक में चोट लगी।
भिड़ंत के बाद दोनों खिलाड़ी मैदान पर ही गिर पड़े।
भिड़ंत के बाद दोनों खिलाड़ी मैदान पर ही गिर पड़े।

7 मिनट तक रुका रहा खेल
इस हादसे के बाद करीब 7 मिनट तक खेल रुका रहा। ईरान की मेडिकल टीम मैदान में आई और इलाज किया। इसके बाद मुकाबला शुरू हुआ।

घटना के तुरंत बाद मेडिकल टीम मैदान पर पहुंची और ट्रीटमेंट करने लगी।
घटना के तुरंत बाद मेडिकल टीम मैदान पर पहुंची और ट्रीटमेंट करने लगी।
कुछ देर के प्रयासों के बाद जब खून निकलना बंद नहीं हुआ तो बैरनवंद को जमीन पर लिटाया गया।
कुछ देर के प्रयासों के बाद जब खून निकलना बंद नहीं हुआ तो बैरनवंद को जमीन पर लिटाया गया।
टक्कर इतनी तेज थी कि बैरनवंद की नाक टूट गई। वे जमीन पर ही पड़े रहे।
टक्कर इतनी तेज थी कि बैरनवंद की नाक टूट गई। वे जमीन पर ही पड़े रहे।
नाक से खून निकलने के बाद ईरान की मेडिकल टीम ने गोलकीपर का कनकशन टेस्ट किया।
नाक से खून निकलने के बाद ईरान की मेडिकल टीम ने गोलकीपर का कनकशन टेस्ट किया।

इंजरी के बाद भी खेलते रहे
फीफा के इंजरी रूल के अनुसार, सिर और मुंह पर सीरियस इंजरी होने पर खिलाड़ी को तुरंत सब्स्टीट्यूट करना पड़ता है, लेकिन पट्टी बंधने के बाद गोलकीपर खड़े हो गए। उन्होंने मेडिकल टीम से कहा कि वह ठीक हैं और मैच खेल सकते हैं। इसके बाद उन्होंने गेम खेलना जारी रखा।

इंजरी के बाद भी गोलकीपर अलिर्जा ने मैच खेलना जारी रखा। फोटो में ईरान के कप्तान मेहदी तरेमी और मैच रेफरी उनका हालचाल जानते हुए।
इंजरी के बाद भी गोलकीपर अलिर्जा ने मैच खेलना जारी रखा। फोटो में ईरान के कप्तान मेहदी तरेमी और मैच रेफरी उनका हालचाल जानते हुए।
बैरनवंद को स्ट्रेचर पर बाहर ले जाया गया।
बैरनवंद को स्ट्रेचर पर बाहर ले जाया गया।

पहले हॉफ में जुड़ा 14 मिनट का इंजरी टाइम
इंजरी के बाद भी गोलकीपर ने खेलना जारी रखा, लेकिन फर्स्ट हाफ के 17वें मिनट में ही वह मैदान पर गिर गए। उनकी जगह सब्स्टीट्यूट गोलकीपर होसेन हुसैनी मैदान में आए। गोलकीपर की इंजरी के चलते फर्स्ट हाफ के एंड में 14 मिनट का इंजरी टाइम जोड़ा गया।

रंगभेद के खिलाफ इंग्लैंड का 'नी डाउन'
आज का मैच शुरू होने से पहले इंग्लैंड के सभी प्लेयर्स एक साथ अपने घुटनों के बल बैठे नजर आए। इंग्लैंड के प्लेयर्स किक-ऑफ से पहले करीब 3 सेकेंड तक बैठे रहे। दरअसल, इंग्लैंड की टीम इस वर्ल्ड कप में रंगभेद और भेदभाव के खिलाफ प्रोटेस्ट कर रही है। उसी के तहत सभी प्लेयर्स ने मैच के दौरान सांकेतिक विरोध जताया।

रंगभेद और भेदभाव के विरोध में इंग्लैंड के सभी प्लेयर्स ने किक-ऑफ से पहले 'नी डाउन' किया।
रंगभेद और भेदभाव के विरोध में इंग्लैंड के सभी प्लेयर्स ने किक-ऑफ से पहले 'नी डाउन' किया।