हार्दिक की कप्तानी पर इरफान का बड़ा बयान:IPL की कप्तानी दो महीने की होती है, टीम इंडिया का लीडर बनने के लिए उन्हें अभी बहुत कुछ सीखना होगा

भोपाल4 महीने पहले

अपनी कप्तानी के दम पर गुजरात टाइटंस को IPLचैंपियन बनाने वाले हार्दिक पंड्या को टीम इंडिया का कप्तान बनने के लिए अभी बहुत कुछ सीखना होगा। यह कहना है पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज और कमेंटेटर इरफान पठान का। इरफान सोमवार को भोपाल में थे और यहां एक निजी कार्यक्रम में शिरकत करने आए थे।

37 साल के पूर्व ऑलराउंडर ने इस कार्यक्रम में कहा, 'पंड्या ने निसंदेह अव्वल दर्जे की कप्तानी की है, लेकिन IPL फ्रेंचाइजी टीम की कप्तानी और भारतीय टीम की कप्तानी में अंतर है। लीग की कप्तानी महज दो महीने की होती है। जबकि देश की कप्तानी अलग है।'

इरफान ने केएल राहुल को टीम इंडिया का कप्तान बनाने के फैसले की भी तारीफ की और कहा कि साउथ अफ्रीका के खिलाफ हमें कुछ अलग कप्तानी देखने को मिलेगी।

पंड्या को अपनी IPL टीम का कप्तान बनाया
पठान ने हार्दिक पंड्या को अपनी IPL टीम का कप्तान बनाया है। उन्होंने मंगलवार को एक सोशल पोस्ट के जरिए अपनी बेस्ट-11 ऑफ IPL-2022 बताई। टीम में चैंपियन गुजरात टाइटंस से चार, राजस्थान रॉयल्स से तीन खिलाड़ियों को चुना है। इतना ही नहीं, अपनी स्पीड से सबको प्रभावित करने वाले उमरान मलिक, हर्षल पटेल को भी मौका दिया है। उनकी टीम में चार ओवरसीज प्लेयर्स हैं।

इरफान पठान की बेस्ट-11 ऑफ IPL-2022
इरफान पठान की बेस्ट-11 ऑफ IPL-2022

फास्ट बॉलिंग में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और पाकिस्तान के बराबर भारत
मौजूदा सीजन से निकली पेस बैटरी (उमरान, मोहसिन, कुलदीप, अर्शदीप, प्रसिद्ध कृष्णा) पर पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि हम बहुत लकी हैं कि हमें फास्ट बॉलिंग की इतनी अच्छी फौज मिली है। जिसकी बदौलत हम तेज गेंदबाजी के मामले में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड के बराबर आ गए हैं। पहले हम तेज गेंदबाजी के मामले में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और पाकिस्तान को देखा करते थे, लेकिन अब पूरी दुनिया की नजर हमारे ऊपर है। हम वो पेस बैटरी प्रोड्यूस कर पा रहे हैं। प्रसिद्ध की बात करें तो वो लड़का 148 की स्पीड से गेंद फेंकता है लाइन-लेंथ भी अच्छी है लंबे कद का है जिससे बाउंस मिलता है। हमारे पास टेलेंट का खजाना है।

पठान भोपाल में एक निजी कार्यक्रम के दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए।
पठान भोपाल में एक निजी कार्यक्रम के दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए।

RR की बैटिंग में गहराई नहीं थी
फाइनल मुकाबले में GT के मजबूत और RR के कमजोर पक्ष के सवाल पर इरफान ने कहा कि गुजरात का सबसे मजबूत पक्ष उसका बॉलिंग अटैक है, जो उसे दूसरों से रिच करता है। उसके फिनिशर्स ने भी अच्छा काम किया है। वहीं, RRके बैटिंग लाइनअप में उतनी गहराई नहीं थी। मैं बात कर रहा हूं, 6-7 नंबर पर जहां अश्विन खेलते हैं, उन्होंने अच्छी बैटिंग की, लेकिन वे थोड़े धीमे रहे। जब क्रिटिकल सिचुएशन आती है और यदि आपके पास फायर पावर नहीं है तो आपके पास 15-20 रन कम हो जाते हैं। जो कल के फाइनल मैच में हुआ।

पठान ने राजस्थान के फाइनल में हार की वजह बल्लेबाजी बताई है।
पठान ने राजस्थान के फाइनल में हार की वजह बल्लेबाजी बताई है।

उमरान तगड़ा गेंदबाज है, अभी सीखेगा
उमरान मलिक तगड़ा गेंदबाज है, अभी सीखेगा। दूसरी दुनिया में नजर डालें तो एक-दो गेंदबाज हैं जो 157 किमी/घंटे की स्पीड से बॉल डाल सकते हैं। उमरान में पोटेंशियल बहुत है। जिसमें पोटेंशियल होता है वह गलतियां भी करेगा, क्योंकि यंग है और बहुत ज्यादा फस्ट क्लास क्रिकेट खेला नहीं है।

मैं जब जम्मू कश्मीर में मेंटर था और उसे तैयार कर रहा था। तब उसका जंप आउट बहुत ज्यादा होता था जिससे लाइन बिगड़ती थी। जैसे ही जंप आउट सीधा हुआ तो पेस भी बढ़ गया। उसका कंट्रॉल ऑफ लाइन बेहतर हो गया। बॉल सीम पर आने लगी। लेकिन, अभी और बहुत काम किया जाना बाकी है। मुझे भरोसा है कि कोच, कप्तान और सीनियर गेंदबाज उसे संभालेंगे। क्योंकि रोहित शर्मा के सिर पर बॉल मारना आसान काम नहीं है क्योंकि वे पुल बहुत पसंद करते हैं। उनके भी सिर में उमरान की बॉल लगी। रोहित तो भी टिकने में टाइम लगा।

नंबर-4 पर सूर्यकुमार बेस्ट, पंड्या भी अच्छे ऑप्शन
हार्दिक के सवाल पर पठान ने कहा कि वह शानदार ऑलराउंडर है और चोट से वापसी कर रहा है। ऐसे में अगले टूर्नामेंट में उसका प्रदर्शन देखने लायक होगा। यदि सब ठीक रहता है तो मुझे लगता है कि वर्ल्ड कप में हार्दिक को टॉप ऑर्डर में नंबर-4 पर खेल सकते हैं। वैसे इस नंबर पर सूर्यकुमार बेस्ट हैं। अगर वो मौजूद हैं तो पंड्या 5वें या फिर फिनिशर की भूमिका में रह सकते हैं।

मेरा करियर चोट की वजह से छोटा हुआ, चैपल के कारण नहीं
अपने करियर पर पठान ने कहा कि मेरा कॅरियर चोट के कारण छोटा हुआ है न कि चैपल के कारण। लोग जबरन पर चैपल को स्क्रीन बोर्ड बनाते हैं।