पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Anurag Thakur Kiren Rijiju | Modi Cabinet Changes Anurag Thakur Replaced Kiren Rijiju As Sports Minister Before Tokyo Olympics

ओलिंपिक से 16 दिन पहले खेल मंत्री बदले:किरन रिजिजू की जगह अनुराग ठाकुर को मिली जिम्मेदारी, BCCI के अध्यक्ष रह चुके हैं ठाकुर

नई दिल्ली19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नए खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और नए कानून मंत्री किरन रिजिजू। -फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
नए खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और नए कानून मंत्री किरन रिजिजू। -फाइल फोटो

टोक्यो ओलिंपिक से ठीक 16 दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बड़ा बदलाव किया है। मोदी सरकार ने किरन रिजिजू की जगह अनुराग ठाकुर को खेल मंत्री बनाया। 46 साल के अनुराग भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष रह चुके हैं। खेल मंत्रालय के साथ उन्हें सूचना एवं प्रसारण मंत्री की भी जिम्मेदारी मिली है।

वहीं, रिजिजू का प्रमोशन करते हुए उन्हें कानून एवं न्याय मंत्रालय दिया गया है। वे रविशंकर प्रसाद की जगह लेंगे। इस नई जिम्मेदारी के लिए रिजिजू और ठाकुर दोनों ने ही प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद किया।

23 जुलाई से शुरू होंगे टोक्यो गेम्स
टोक्यो ओलिंपिक इस साल 23 जुलाई से 8 अगस्त के बीच होने हैं। भारत की ओर से 18 खेलों में 124 खिलाड़ियों ने क्वालिफाई किया है। सभी खिलाड़ियों को अपने इवेंट से 5 दिन पहले टोक्यो पहुंचना होगा।

मेरीकॉम, मनप्रीत और बजरंग होंगे ध्वजवाहक
दिग्गज महिला मुक्केबाज एमसी मेरीकॉम और पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह टोक्यो ओलिंपिक की ओपनिंग सेरेमनी में भारत के ध्वजवाहक होंगे। क्लोजिंग सेरेमनी में बजरंग पूनिया को ध्वजवाहक होने की जिम्मेदारी दी गई है।

किरन रिजिजू के पास कानून की डिग्री

  • हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर से सांसद ठाकुर मई 2016 और फरवरी 2017 के बीच BCCI अध्यक्ष रहे थे। इससे पहले वे BCCI सचिव और हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ (HPCA) के अध्यक्ष भी थे।
  • अनुराग इससे पहले निर्मला सीतारमण के अंतर्गत राज्य वित्त एवं कारपोरेट मामलों के मंत्री के तौर पर काम कर रहे थे। उनके भाई अरूण धूमल इस समय BCCI के कोषाध्यक्ष हैं।
  • 19 नवंबर, 1971 को अरुणाचल प्रदेश के वेस्ट कामेंग जिले में जन्मे किरन रिजिजू ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से कानून की डिग्री ली है।
  • अरुणाचल पश्चिम निर्वाचन क्षेत्र से 2004 में पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ा और जीते। हालांकि, 2009 में उन्हें हार मिली थी। 2014 में फिर जीते तो मोदी के मंत्रिमंडल में गृह राज्य मंत्री बनाए गए थे।