• Hindi News
  • Sports
  • MS Dhoni Reaction Update | MS Dhoni Biopic Fame Sushant Singh Rajput Suicide Death News Updates On Mahendra Singh Dhoni Reaction

सुशांत और धोनी:टीवी पर धोनी के मैच देखने के लिए सुशांत सिंह राजपूत क्लास बंक करते थे, बायोपिक के लिए माही के हजार वीडियोज देखे थे

खेल डेस्क3 वर्ष पहले
यह फोटो 2016 का है। धोनी अपनी बायोपिक ‘एमएस धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी’ के प्रमोशनल इवेंट में सुशांत के साथ मौजूद थे।
  • 2016 में धोनी की बायोपिक रिलीज के पहले सुशांत ने कई प्रमोशनल इवेंट्स में शिरकत की थी
  • सुशांत ने बताया था- एमएस धोनी का किरदार पर्दे पर उतारना बेहद मुश्किल था

सुशांत सिंह राजपूत अब हमारे बीच नहीं रहे। रविवार को उन्होंने मुंबई के अपने फ्लैट में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। सुशांत ने महेंद्र सिंह धोनी की बायोपिक में लीड रोल किया था। 2016 में 'एमएस धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी' रिलीज हुई। बॉक्स ऑफिस पर यह फिल्म ब्लॉक बस्टर साबित हुई। 

फिल्म रिलीज होने से पहले सुशांत ने कई प्रमोशनल इवेंट्स किए। कई रोचक बातों का खुलासा किया। यह भी बताया कि धोनी के किरदार को पर्दे पर उतारना कितना मुश्किल था।

2004 से धोनी के फैन
सुशांत के मुताबिक, वे 2004 से धोनी के फैन थे। इंजीनियरिंग कॉलेज में जब फर्स्ट ईयर में थे तो भारत और पाकिस्तान का मैच देखने के लिए क्लास बंक कर दी। इस मैच में धोनी ने शतक लगाया। तब धोनी के बड़े बाल हुआ करते थे। सुशांत ने भी वैसी ही हेयर स्टाइल अपना ली। 2007 में सुशांत एक फैन के तौर पर धोनी से मिले। एक सेल्फी ली। यह हमेशा सुशांत के फोन में सेव रही। 

20 मिनट में धोनी के रोल के लिए चुने गए
सुशांत को पर्दे पर धोनी बनना जितना मुश्किल लगा, उतनी ही आसानी से उन्हें यह रोल मिल गया था। सुशांत के मुताबिक, प्रोडक्शन टीम ने उन्हें महज 20 मिनट में इस रोल के लिए चुन लिया था। एक ही मीटिंग हुई थी। सुशांत खुद हैरान थे कि ये रोल उन्हें इतनी आसानी से कैसे मिल गया। राजपूत ने कहा था- सबसे पहले मुझे यह समझना था कि धोनी बाकी लोगों से अलग कैसे सोचते हैं। उनमें क्या अलग है। एक बार धोनी ने भी कहा था- सुशांत का काम ज्यादा मुश्किल था। उसने मुझे बहुत कुरेदा।

धोनी के घर भी रहे
एमएस धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी की शूटिंग शुरू होने के पहले सुशांत ने 13 महीने तैयारी की। कुछ दिनों के लिए धोनी के रांची वाले घर में भी रहे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, धोनी ने खुद सुशांत को अपने घर बुलाया था। 

दो उंगलियां टूटीं
धोनी जैसी विकेटकीपिंग सीखने के लिए सुशांत भारत के पूर्व विकेटकीपर किरण मोरे के पास गए। सुशांत ने बताया था- मोरे सर के साथ हर दिन 6 घंटे गुजारता। तब समझ में आया कि हम टीवी पर जिस चीज को आसानी से देखते हैं, वो कितना मुश्किल काम है। एक सेकंड में बॉल आपके पास आ जाती है। प्रैक्टिस के दौरान मेरी दो उंगलियां टूट गईं। पसलियों में हेयरलाइन फ्रैक्चर हो गया। 

एक हजार इंटरव्यू देखे
सुशांत की एक बहन का नाम नीतू सिंह है। नीतू खुद भी कॉलेज लेवल पर क्रिकेट खेली हैं। सुशांत ने कहा था- मेरी बहन मुझसे कहती थीं कि तू असली जिंदगी में भले ही क्रिकेटर न बन पाया हो, लेकिन पर्दे पर गजब कमाल दिखाया। सुशांत ने कहा था- धोनी की चाल-ढाल, उनके हंसने-बोलने और उठने-बैठने का अंदाज यह समझने के लिए मैंने उनके करीब एक हजार वीडियोज देखे।