पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Sports
  • Rohan Bopanna Of India And Aisam Ul Haq Qureshi Of Pakistan Will Play Together After 7 Years In Mexican Open

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटरी पर लौटी इंडो-पाक एक्सप्रेस:मैक्सिकन ओपन में 7 साल बाद साथ खेलेंगे भारत के रोहन बोपन्ना और पाकिस्तान के ऐसाम कुरैशी

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
2011 में पेरिस मास्टर्स में मेन्स डबल्स खिताब जीतने के बाद ट्रॉफी के साथ पाकिस्तान के ऐसाम कुरैशी और भारत के रोहन बोपन्ना। - Dainik Bhaskar
2011 में पेरिस मास्टर्स में मेन्स डबल्स खिताब जीतने के बाद ट्रॉफी के साथ पाकिस्तान के ऐसाम कुरैशी और भारत के रोहन बोपन्ना।

भारत के दिग्गज मेन्स डबल्स टेनिस प्लेयर रोहन बोपन्ना और पाकिस्तान के ऐसाम उल हक कुरैशी 7 साल बाद साथ खेलते नजर आएंगे। इंडो-पाक एक्सप्रेस के नाम से मशहूर इस जोड़ी ने आखिरी बार 2014 में साथ खेला था। दोनों मैक्सिको के अकापुल्को में होने वाले मैक्सिकन ओपन में मेन्स डबल्स में साथ खेलते नजर आएंगे।

बोपन्ना-कुरैशी ने साथ में 5 टाइटल्स जीते
मैक्सिकन ओपन ATP-500 टूर्नामेंट की शुरुआत 15 मार्च से होगी। बोपन्ना और कुरैशी की जोड़ी मेन्स डबल्स में सबसे सफल जोड़ी में से एक है। इन दोनों ने करीब 5 टाइटल्स जीते हैं। इसमें 2010 में साउथ अफ्रीका टेनिस ओपन, 2011 में हाले ओपन, पेरिस मास्टर्स, स्टोकहोम ओपन और 2014 में दुबई टेनिस चैम्पियनशिप शामिल है।

2010 यूएस ओपन के रनर-अप रहे थे बोपन्ना-कुरैशी
बोपन्ना और कुरैशी दोनों विमबल्डन के क्वार्टर फाइनल और 2010 यूएस ओपन के रनर-अप भी रह चुके हैं। 2011 में पेरिस मास्टर्स जीतकर बोपन्ना और कुरेशी की जोड़ी ATP मेन्स डबल्स रैंकिंग में टॉप-10 में भी पहुंची थी।

दोनों ने साथ में 2014 में खेला था आखिरी मुकाबला
इन दोनों ने आखिरी बार सितंबर, 2014 में शेन्जेन में साथ खेला था। तब यह जोड़ी एक टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में हार गई थी। बोपन्ना की मेन्स डबल्स में मौजूदा रैंकिंग 40 है। वहीं, कुरैशी 49वें स्थान पर हैं।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

और पढ़ें