• Hindi News
  • Sports
  • T20 World Cup 2022; Jasprit Bumrah May Be Out Of Team India Squad | Cricket News

एशिया कप से बाहर हुए जसप्रीत बुमराह की चोट गंभीर:टी-20 वर्ल्ड कप तक फिट होना मुश्किल, अक्टूबर में होना है टूर्नामेंट

मुंबई3 महीने पहले

एशिया कप में चोट की वजह से टीम इंडिया में शामिल नहीं किए तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की चोट गंभीर है। उनका टी-20 वर्ल्ड कप तक फिट होना मुश्किल है। ऐसे में टी-20 वर्ल्ड कप में उनके खेलने को लेकर संशय है। टी-20 वर्ल्ड को शुरू होने में हालांकि, 2 महीना का समय है। इस बार टी-20 वर्ल्ड अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में होना है। वहीं बुमराह की चोट को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI)की ओर से अभी अधिकारिक रूप से कोई कुछ नहीं कहा गया है। बुमराह को BCCI की ओर से रिहैब के लिए बेंगलुरु में स्थित नेशनल क्रिकेट एकेडमी में जाने के लिए कहा गया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बुमराह को लगी चोट गंभीर है। उनके फिट होने में ज्यादा समय लग सकता है। उनकी चोट को लेकर BCCI भी नजर रखे हुए है।

बुमराह पहले भी चोट की वजह से रहें है क्रिकेट से दूर
जसप्रीत बुमराह पहले भी चोट की वजह से क्रिकेट से दूर रह चुके हैं। 2019 में वर्ल्ड कप के बाद पीठ में चोट लगी थी। उनकी पीठ के निचले हिस्से में स्ट्रेस फ्रेक्चर था। इसके बाद वे लंबे समय तक टीम से बाहर रहे थे। वापसी के काफी समय बाद भी वे पूरी तरह रंग में नहीं आ पाए थे। बुमराह के चोटिल होने की सबसे बड़ी वजह उनका अनोखा बॉलिंग एक्शन है। जिस तरह से वे बॉल डालते हैं, उससे उनकी पीठ पर काफी जोर पड़ता है।

एशिया कप में बुमराह और हर्षल पटेल चोट की वजह से हैं बाहर
एशिया कप में बुमराह और हर्षल पटेल चोट की वजह से एशिया कप से बाहर हैं। ऐसे में UAE में होने वाली टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम में 3 तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार, युवा अर्शदीप सिंह और आवेश खान हैं।

टी-20 के शुरू होने के बाद खिलाड़ियों में चोटिल होने के मामले में हुई है बढ़ोतरी
टी-20 के ज्यादा मैच होने से खिलाड़ियों के चोटिल होने के मामले में बढ़ोतरी हुई है। एक स्टडी के मुताबिक टी-20 आने के बाद से खिलाड़ियों की चोट में 10% तक बढ़ोतरी हुई है। सबसे ज्यादा खामियाजा तेज गेंदबाजों को भुगतना पड़ा, जिनमें चोट के मामले 18% तक बढ़ गए हैं। फिलहाल, इंटरनेशनल क्रिकेट से जुड़े 28 खिलाड़ी चोट के कारण मैदान से बाहर हैं। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की स्टडी के मुताबिक, पेसर्स में चोट के मामले अन्य खिलाड़ियों से 2.5 गुना से 6 गुना तक ज्यादा हैं। पूर्व पाक तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा था कि घुटने की चोट के कारण उनका करियर जल्दी खत्म हो गया। वरना वे 4-5 साल और खेल सकते थे।

खबरें और भी हैं...