• Hindi News
  • Sports
  • Team India Would Like To Secure A Place In The Final By Defeating The Korean Team

साउथ कोरिया ने फिर तोड़ा भारत का दिल:एशिया कप के फाइनल में पहुंचने से रोका, भारत-साउथ कोरिया मैच 4-4 से ड्रॉ

जकार्ता4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डिफेंडिंग चैंपियन भारत एशिया कप हॉकी के फाइनल में जगह नहीं बना सका है। उसने साउथ कोरिया से 4-4 का ड्रॉ खेला। इस ड्रॉ के साथ भारत का सबसे ज्यादा नौवीं बार टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया है। इस मैच ने 2013 की याद दिला दी। जब भारतीय टीम को इसी टूर्नामेंट के फाइनल में साउथ कोरिया ने 4-3 से हराया था।

इस ड्रॉ के साथ कोरियाई टीम फाइनल में प्रवेश कर गई है। जहां उसका सामना बुधवार को मलेशिया से होगा। जिसने जापान को 5-0 से हराते हुए पहले ही फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली थी। अब भारत तीसरे स्थान के लिए जापान से मैच बुधवार को खेलेगा।

5 साल पहले खेला था आखिरी फाइनल

भारत ने आखिरी फाइनल 2017 में खेला था।
भारत ने आखिरी फाइनल 2017 में खेला था।

भारत ने आखिरी फाइनल 2017 में खेला था, तब उसने मलेशिया को 2-1 से हराते हुए खिताब जीता था। उससे पहले भारत ने 2013, 2007, 2003, 1994, 1989, 1985 और 1982 के सीजन में टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई थी। इनमें से टीम इंडिया ने 2017, 2007 और 2003 में खिताब जीते।

भारत-साउथ कोरिया के बीच 6वां मैच ड्रॉ
यह भारत और साउथ कोरिया के बीच छठवां ड्रॉ मुकाबला है। इससे पहले दोनों टीमें 5 ड्रॉ मैच खेल चुकी हैं। 2017 में इस टूर्नामेंट में दोनों ने 1-1 का ड्रॉ खेला था। ओवरऑल बात करें तो दोनों टीमें 27 बार आमने-सामने हुई हैं। इनमें से भारत ने 12 मैच जीते हैं। जबकि उस 10 मुकाबलों में टीम को हार मिली है।

शुरुआती तीन क्वार्टर में कांटे की टक्कर, आखिरी में कोई गोल नहीं आया
इस मुकाबले में दोनों ही टीमों के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली। दोनों ने पहले क्वार्टर से तेज शुरुआत की। इसका फायदा भारत को 8वें मिनट में मिला। जब संदीप ने पेनाल्टी पर पहला गोल दागा। हालांकि भारत की यह खुशी ज्यादा देर नहीं ठहरी और कोरिया के जॉन्ग जॉन्गह्यंग ने 12वें मिनट में पेनाल्टी पर ही गोलकर स्कोर लेवल कर दिया। कुछ देर इसी स्कोर पर खेल चला।

उसके बाद 17वें मिनट में साउथ कोरिया के जी वू चेन ने फील्ड गोल दागा और अपनी टीम को 2-1 की बढ़त दिला दी। इसके तीन मिनट बाद ही मनिंदर सिंह ने पेनाल्टी को गोल में बदला और स्कोर 2-2 से बराबर हो गया। अगले ही मिनट में महेश शेष गोंडा ने गोल कर भारत को 3-1 की बढ़त दिला दी। लेकिन, किम जॉन्ग हो ने 27वें मिनट में फील्ड गोल कर स्कोर 3-3 से बराबर कर दिया।

हॉफ टाइम में यही स्कोर रहा। मैच के दूसरे हॉफ में एस मरिस्वरम ने भारत के लिए एक और गोल दागा। इस गोल के साथ भारत मैच में 4-3 से आगे हो गया।लेकिन जॉन्ग मॉन्ज ने 43वें मिनट में भारत के खिलाफ गोल कर अपनी टीम को बराबरी पर ला दिया। आखिरी क्वार्टर में कोई गोल नहीं आया।