पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Wrestling Has Been A Part Of 27 Olympic Games Out Of 28 Held So Far, This Time 8 Wrestlers Of India Achieved Quota

ओलिंपिक इवेंट- कुश्ती:अब तक हुए 28 में से 27 ओलिंपिक गेम्स का हिस्सा रहा है यह खेल, इस बार भारत के 8 पहलवानों ने हासिल किया कोटा

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रेसलिंग यानी कुश्ती के मुकाबले ओलिंपिक गेम्स का खास आकर्षण होते हैं। 1896 से अब तक 28 आयोजनों में 27 बार कुश्ती को ओलिंपिक का हिस्सा बनाया गया है। सिर्फ 1900 ओलिंपिक गेम्स में कुश्ती बाहर रही थी। भारत के 8 पहलवानों ने इस बार ओलिंपिक कोटा हासिल किया है। हालांकि, सुमित मलिक (फ्री स्टाइल 125 किग्रा) डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं। उनका भाग ले पाना मुश्किल लग रहा है।

जब से इंसानी सभ्यता, तब से कुश्ती भी मौजूद
कुश्ती दुनिया के सबसे पुराने खेलों में से एक है। कहा जा सकता है कि धरती पर जब से इंसानी सभ्यता मौजूद है तब से कुश्ती हो रही है। प्राचीन गुफाओं में मौजूद चित्रकारी में कुश्ती के 15 हजार साल पुराने साक्ष्य उपलब्ध हैं। साथ ही वेदों में भी इसका जिक्र है। प्राचीन ओलिंपिक में भी अलग-अलग फॉर्म में इसके मुकाबले हुए। मॉडर्न ओलिंपिक के पहले संस्करण (1896) में भी रेसलिंग को शामिल किया गया था।

ओलिंपिक में ग्रीको रोमन और फ्री स्टाइल कुश्ती
ओलिंपिक में कुश्ती दो स्टाइल और तीन कैटेगरी में होती है। फ्री स्टाइल और ग्रीको रोमन वे दो स्टाइल हैं जिनका आयोजन ओलिंपिक में होता है। फ्री स्टाइल में पुरुष और महिला दोनों वर्गों के मुकाबले होते हैं। इस तरह तीनों कैटेगरी मिलाकर कुल 18 गोल्ड मेडल दांव पर होंगे। ओलिंपिक में महिला फ्री-स्टाइल कुश्ती की एंट्री 2004 में हुई थी।

इन भारतीय पहलवानों ने हासिल किया कोटा
पुरुष फ्रीस्टाइल

  • रवि कुमार दहिया (मेन्स फ्री स्टाइल 57 किग्रा)
  • बजरंग पूनिया (मेन्स फ्री स्टाइल 65 किग्रा)
  • दीपक पूनिया (मेन्स फ्री स्टाइल 86 किग्रा)
  • सुमित पहलवान (मेन्स फ्री स्टाइल 125 किग्रा डोप में फंसे)

महिला फ्रीस्टाइल

  • सीमा बिस्ला (विमेंस 50 किग्रा)
  • विनेश फोगाट (विमेंस 55 किग्रा)
  • अंशु मलिक (विमेंस 57 किग्रा)
  • सोनम मलिक (विमेंस 62 किग्रा)

बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट और दीपक पूनिया वर्ल्ड रैंकिंग में टॉप थ्री में शामिल हैं। इन तीनों से मेडल की उम्मीद की जा रही है।

साक्षी मलिक क्यों नहीं जा रहीं ओलिंपिक
रियो ओलिंपिक में साक्षी मलिक ने महिला रेसलिंग में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। साझी इस बार सोनम मलिक से 62 किलो में तीन बार हारीं। इस कारण इस वेट कैटेगरी में साक्षी नहीं सोनम देश का प्रतिनिधित्व करेंगी।

खबरें और भी हैं...