पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Due To Corona, There Will Be A Change In The Tradition Of The Presentation Ceremony, There Will Be A Ban On Hugging Hands And Hugs.

ओलिंपिक में खुद गले में डालना होगा मेडल:कोरोना के कारण प्रजेंटेशन सेरेमनी के ट्रेडिशन में बदलाव, हाथ और गले मिलने पर भी होगी रोक

टोक्यो20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टोक्यो ओलिंपिक में विजेता एथलीटों को ट्रे में मेडल दिए जाएंगे। उन्हें मेडल खुद पहनना होगा। - Dainik Bhaskar
टोक्यो ओलिंपिक में विजेता एथलीटों को ट्रे में मेडल दिए जाएंगे। उन्हें मेडल खुद पहनना होगा।

ओलिंपिक में हिस्सा लेने वाले हर एथलीट का सपना होता है मेडल जीतना। जीत हासिल करने वाले एथलीटों को पोडियम पर मेडल पहनाया जाता है। यह लम्हा उनके जीवन का सबसे यादगार पल भी बन जाता है। लेकिन, कोरोना महामारी के कारण टोक्यो ओलिंपिक में ऐसा नहीं होगा। इस बार विजेता एथलीटों को खुद ही अपने गले में मेडल डालना होगा। साथ ही मेडल सेरेमनी के दौरान एथलीटों के हाथ मिलाने और गले मिलने पर पर रोक होगी।

IOC प्रेसिडेंट ने की घोषणा
इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी (IOC) के प्रेसिडेंट थॉमस बाक ने बुधवार को प्रजेंटेशन सेरेमनी की नई एसओपी की घोषणा की। उन्होंने कहा, ‘विजेता एथलीटों को मेडल ट्रे में दिए जाएंगे। यहां से उन्हें खुद ही मेडल पहनना होगा। यह सुनिश्चित किया जाएगा कि जो व्यक्ति मेडल को ट्रे में रखेगा वह डिसइनफेक्टेड ग्लव्स पहना हो। प्रजेंटर और एथलीट का इस दौरान मास्क पहनना अनिवार्य होगा। इस दौरान न तो हैंड शेक होगा और न ही गले मिलने की छूट होगी।’

कोरोना के कारण टोक्यो शहर में ओलिंपिक टॉर्च रिले को रद्द करना पड़ा।
कोरोना के कारण टोक्यो शहर में ओलिंपिक टॉर्च रिले को रद्द करना पड़ा।

आपातकाल के बीच होंगे ओलिंपिक, दर्शकों की एंट्री पर रोक
कोरोना महामारी के कारण टोक्यो में 8 अगस्त तक आपातकाल लागू है। ओलिंपिक स्टेडियम में दर्शकों की एंट्री बैन कर दी गई है। पहले कहा गया था कि हर स्टेडियम में 50% दर्शकों (अधिकतम 10 हजार) को एंट्री दी जा सकती है। लेकिन, कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए एंट्री पर बैन लगाने का फैसला किया गया। बुधवार को भी टोक्यो में 1149 नए मामले सामने आए हैं। यह पिछले 6 महीने में 1 दिन में संक्रमितों की सबसे बड़ी संख्या है।

कोरोनाकाल में ओलिंपिक आयोजन को रद्द कराने के लिए जापान में सड़कों पर विरोध प्रदर्शन भी हुए हैं।
कोरोनाकाल में ओलिंपिक आयोजन को रद्द कराने के लिए जापान में सड़कों पर विरोध प्रदर्शन भी हुए हैं।

लोग ओलिंपिक आयोजन के खिलाफ
जापान विशेषकर टोक्यो के निवासी कोरोनाकाल में ओलिंपिक आयोजन के पक्ष में नहीं हैं। अधिकांश सर्वे में 60 से 70% लोगों ने कहा कि अभी ओलिंपिक को टाल देना बेहतर होगा। मार्च में शुरू हुई ओलिंपिक टॉर्च रिले को भी कई शहरों में विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ा। एक शहर में तो मशाल बुझाने की कोशिश भी हुई थी। हालांकि, जापान की सरकार ने आयोजन जारी रखने का फैसला किया है।

खबरें और भी हैं...