पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • For The Second Time In A Row, More Than 50 Women In The Indian Contingent, Only 44 Women Participated In The Initial 17 Olympics.

ओलिंपिक में भारतीय महिलाओं की बढ़ती शक्ति:लगातार दूसरी बार भारतीय दल में 50 से ज्यादा महिलाएं, शुरुआती 17 ओलिंपिक में कुल 44 महिलाओं ने ही शिरकत की थी

नई दिल्ली2 महीने पहलेलेखक: भास्कर खेल डेस्क

टोक्यो ओलिंपिक में भारत से 69 पुरुष और 55 महिला खिलाड़ियों का दल हिस्सा लेगा। यह लगातार दूसरा ओलिंपिक होगा जिसमें भारत की ओर से 50 से ज्यादा महिलाएं हिस्सा लेंगी। रियाे ओलिंपिक (2016) में देश की 54 महिला एथलीटों ने हिस्सा लिया था। इन आंकड़ों से जाहिर होता है कि खेलों में भारतीय महिलाओं की शक्ति बढ़ रही है। पिछले कुछ सालों में इस मामले में कितना बड़ा अंतर सामने आया है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि भारत ने साल 1900 से 1988 तक 17 ओलिंपिक में हिस्सा लिया और इनमें देश की ओर से कुल सिर्फ 44 महिलाओं ने हिस्सा लिया।

9 ओलिंपिक गेम्स में भारत से एक भी महिला नहीं
भारत ने अब तक 24 ओलिंपिक गेम्स में हिस्सा लिया है। इनमें से 9 में देश की ओर से एक भी महिलाओं ने हिस्सा नहीं लिया। इनमें आजादी से पहले 5 (1900, 1920, 1928, 1932, 1936) और आजादी के बाद के 4 ओलिंपिक गेम्स (1948, 1960, 1968 और 1976) शामिल हैं। इनके अलावा 3 ओलिंपिक गेम्स (1956, 1964 और 1972) में भारत से सिर्फ 1-1 महिला एथलीट ही ओलिंपिक में हिस्सा ले पाईं।

7 बार ही 10 से ज्यादा महिला एथलीट
भारत की ओर से 2016 तक सिर्फ 7 ओलिंपिक गेम्स में 10 या इससे ज्यादा महिलाएं हिस्सा ले पाईं। ऐसा पहली बार 1980 में हुआ। हालांकि, मास्को में हुए उस ओलिंपिक का अमेरिका की अगुवाई वाले ब्लॉक के 60 से ज्यादा देशों ने बहिष्कार किया था। इसका फायदा भारतीय महिला एथलीटों को हुआ। 1984 में सोवियत ब्लॉक के बहिष्कार के कारण 10 भारतीय महिलाओं को मौका मिला। 1988, 1992 और 1996 में भारतीय महिलाओं का प्रतिनिधित्व सिंगल डिजिट में रहा।

सिडनी ओलिंपिक से स्थिति में आया सुधार
ओलिंपिक में भागीदारी के मामले में भारतीय महिलाओं की स्थिति साल 2000 में सिडनी में हुए ओलिंपिक से सुधरी है। तब 19 भारतीय महिलाओं ने इस मेगा इवेंट में हिस्सा लिया। 2004 और 2008 में 25-25 भारतीय महिलाएं ओलिंपिक में गईं। 2012 में देश की 23 महिलाएं ओलिंपिक में खेलीं। 2016 से आंकड़ा 50 के पार जा रहा है।

देश के आखिरी 8 में 4 मेडल महिलाओं ने दिलाए
भारतीय महिलाएं अब सिर्फ ओलिंपिक में हिस्सेदारी ही नहीं बल्कि मेडल जीतने में भी पुरुषों को बराबरी की टक्कर दे रही हैं। पिछले दो ओलिंपिक गेम्स में भारत ने कुल 8 मेडल जीते। इनमें से 4 मेडल महिलाओं ने दिलाए। रियो ओलिंपिक (2016) में तो भारत के दोनों मेडल महिला खिलाड़ियों (पीवी सिंधु और साक्षी मलिक) ने जीते। भारत की ओर से महिला एथलीटों ने कुल 5 मेडल जीते हैं। इसकी शुरुआत 2000 सिडनी ओलिंपिक में वेटलिफ्टर कर्णम मल्लेश्वरी ने की थी।

रियो में अमेरिका और चीन के लिए महिलाओं ने जीते ज्यादा मेडल
ओलिंपिक में आज की तारीख में अमेरिका और चीन सबसे बड़ी शक्ति हैं। इनकी कामयाबी के पीछे भी महिलाओं का बड़ा हाथ है। रियो डि जेनेरो (2016) में हुए पिछले ओलिंपिक गेम्स में अमेरिका और चीन दोनों के लिए महिलाओं ने पुरुषों से ज्यादा मेडल जीते। अमेरिका के लिए पुरुषों ने 18 गोल्ड सहित 56 मेडल जीते। वहीं, महिलाओं ने 27 गोल्ड सहित 61 मेडल जीते। चीन के लिए पुरुषों ने 12 गोल्ड सहित 28 मेडल जीते। वहीं, महिलाओं ने 14 गोल्ड सहित 41 मेडल जीते।

खबरें और भी हैं...