पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Swimming In Olympics | Tokyo Olympics Swimming Event All Information Indian Swimmers Qualified For 2020 Olympics Rules And Point System Events Qualification Process

ओलिंपिक इवेंट-स्विमिंग:11 बार ओलिंपिक खेल चुके 28 भारतीय स्विमर कोई मेडल नहीं जीत सके; इस खेल में अमेरिका के आसपास कोई नहीं

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

स्विमिंग में भारत की किस्मत हमेशा ही खराब रही है। अब तक 11 ओलिंपिक में देश के 28 स्विमर शामिल हुए, लेकिन कोई भी मेडल नहीं दिला सका। जबकि इस खेल में अमेरिका सभी देशों से कोसों आगे है। अब तक 29 में से 27 ओलिंपिक में अमेरिका के 889 स्विमर शामिल रहे, जिन्होंने कुल 553 मेडल जीते। 188 मेडल के साथ ऑस्ट्रेलिया दूसरे नंबर पर काबिज है। दोनों के बीच 365 मेडल का बड़ा अंतर है।

स्विमिंग एक ऐसा खेल है, जिसमें किसी भी कृत्रिम साधन का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। व्यक्ति अपनी कला और चुस्ती-फुर्ती से पानी के ऊपर तैरता है। स्वास्थ्य के लिहाज से भी यह खेल व्यक्ति के लिए बेहद फायदेमंद होता है। तैराकी जानने वाला व्यक्ति खुद को और दूसरों को भी डूबने से बचा सकता है। स्विमिंग का इतिहास हजारों साल पुराना है। करीब 10 हजार साल पहले के पाषाण युग के चित्रों में भी इसके सबूत मिले हैं।

कई धार्मिक किताबों में भी इसका उल्लेख मिलता है। 1538 में स्विस और जर्मन भाषा के जानकार प्रोफेसर निकोलस वेनमैन ने सबसे पहले तैराकी को लेकर एक किताब लिखी थी।

अब तक सभी ओलिंपिक में शामिल रहा स्विमिंग
ओलिंपिक की बात करें तो स्विमिंग 1896 के पहले आधुनिक गेम्स से ही शामिल रहा है। तब सिर्फ पुरुषों के 4 इवेंट शामिल किए गए थे, जिसमें से 100 मीटर फ्री स्टाइल आज भी ओलिंपिक में शामिल है। इनके अलावा 500 मी. और 1200 मी. फ्री स्टाइल के अलावा नाविकों के लिए 100 मी. फ्री स्टाइल इवेंट भी रखा गया था, जो दूसरी बार कभी ओलिंपिक में शामिल नहीं रहा।

1912 में महिलाओं को पहली बार जगह मिली
महिलाओं को 1912 ओलिंपिक में पहली बार इस खेल में जगह मिली। तब उनके सिर्फ 2 इवेंट (100 मीटर फ्री स्टाइल और 4×100 मीटर फ्री स्टाइल रिले) शामिल किए गए थे, जो आज भी हैं। आज ओलिंपिक में महिला और पुरुष के बराबर इवेंट होते हैं। 4×100 मेडली मिक्स्ड इवेंट को पहली बार इस साल टोक्यो ओलिंपिक में शामिल किया जा रहा है।

1932 में पहली बार भारतीय स्विमर ओलिंपिक खेले
भारतीय स्विमर्स ने पहली बार 89 साल पहले ओलिंपिक खेला था। तब 1932 के लॉस एंजिलिस ओलिंपिक में एक भारतीय स्विमर ही क्वालिफाई कर सका था। तब से 11 ओलिंपिक में भारत के 28 स्विमर क्वालिफाई कर सके हैं। हालांकि, बदकिस्मती ये है कि अब तक कोई भारतीय मेडल नहीं जीत सका।

इस बार दो भारतीय साजन प्रकाश और श्रीहरि नटराजन ओलिंपिक कोटा हासिल कर सके हैं। श्रीहरि ने 100 मीटर बैकस्ट्रोक और साजन ने 200 मीटर बटरफ्लाई में क्वालिफाई किया है। दोनों से भारत को स्विमिंग में पहला मेडल हासिल करने की पूरी उम्मीद है।

टोक्यो ओलिंपिक में 37 गोल्ड दांव पर होंगे
कोरोना के कारण पिछले साल टाले गए टोक्यो ओलिंपिक इस साल 23 जुलाई से 8 अगस्त तक होने हैं। इसमें स्विमिंग के इवेंट 24 जुलाई से शुरू होंगे। इस बार 37 इवेंट होने हैं यानी 37 गोल्ड मेडल दांव पर होंगे। सभी इवेंट महिला और पुरुष के बराबर होंगे। एक मिक्स्ड मेडली रिले होगी, जिसमें महिला-पुरुष दोनों शामिल रहेंगे।

फेल्प्स ने एक ओलिंपिक में रिकॉर्ड 8 गोल्ड जीते
स्विमिंग में अमेरिका के माइकल फेल्प्स शहशांह माने जाते हैं। उन्होंने अब तक ओलिंपिक में सबसे ज्यादा 28 मेडल जीते हैं। इनमें भी सबसे ज्यादा 23 गोल्ड हैं। इनके अलावा फेल्प्स ने 3 सिल्वर और 2 ब्रॉन्ज भी अपने नाम किए हैं। फेल्प्स ने 2008 बीजिंग ओलिंपिक में 8 गोल्ड जीते थे। यह एक ओलिंपिक में सबसे ज्यादा गोल्ड जीतने का वर्ल्ड रिकॉर्ड है। उन्होंने हमवतन मार्क स्पिट्ज का एक ओलिंपिक में 7 गोल्ड का रिकॉर्ड तोड़ा था। मार्क ने ये गोल्ड 1972 के म्यूनिख ओलिंपिक में जीते थे।