पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Tokyo Olympics Village Inside Pictures | India's Sailing Team Reached Tokyo Today

18 फोटोज में ओलिंपिक विलेज की सैर:खेल गांव में एथलीट्स के लिए वाटर साइड पार्क बनाया गया; मुस्लिम खिलाड़ियों के लिए स्पेशल मस्जिद की व्यवस्था

टोक्यो2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

टोक्यो ओलिंपिक शुरू होने में अब बस 10 दिन का वक्त रह गया है। 23 जुलाई से शुरू हो रहे ओलिंपिक के लिए खेल गांव को खोल दिया गया है। चेक रिपब्लिक की टीम यहां पहुंचने वाली पहली टीम बन गई। 44 हेक्टेयर में फैले खेल गांव में करीब 16,000 एथलीट्स रुक सकते हैं। खेल गांव टोक्यो के हारुमी वाटर फ्रंट पर बना है। हालांकि, कोरोना की वजह से एथलीट अपने इवेंट के 5 दिन पहले खेल गांव पहुंचेंगे और इवेंट के 2 दिन बाद खेल गांव छोड़ना होगा।

भारत की सेलिंग टीम भी टोक्यो पहुंच चुकी है। इसमें वरुण ठक्कर, केसी गणपति, विष्णु सरावनन और नेत्रा कुमानन और कोच-स्टाफ भी शामिल हैं। टोक्यो के हनेडा एयरपोर्ट पर इनकी कोरोना टेस्टिंग भी की गई। भारत के कई और एथलीट्स 17 जुलाई को रवाना होंगे।

मुस्लिम खिलाड़ी, सपोर्ट स्टाफ और फैंस के लिए मोबाइल मस्जिद भी बनाई गई है, ताकि खेलों के दौरान उन्हें नमाज अदा करने में कोई दिक्कत नहीं हो। इसके साथ ही डिनर के बाद वॉक के लिए वाटर साइड पार्क की भी व्यवस्था की गई है। समर ओलिंपिक के लिए 11 हजार और पैरालिंपिक गेम्स के लिए करीब 5000 एथलीट्स के पहुंचने की संभावना है।

टोक्यो के हनेडा एयरपोर्ट पर भारतीय सेलिंट टीम के एथलीट्स।
टोक्यो के हनेडा एयरपोर्ट पर भारतीय सेलिंट टीम के एथलीट्स।
सेलिंग इवेंट्स की शुरुआत 25 जुलाई से हो रही है। 4 अगस्त को इस इवेंट का फाइनल खेला जाएगा।
सेलिंग इवेंट्स की शुरुआत 25 जुलाई से हो रही है। 4 अगस्त को इस इवेंट का फाइनल खेला जाएगा।
टोक्यो ओलिंपिक और पैरालिंपिक के लिए ओलिंपिक विलेज 2019 में ही बनकर तैयार हो गया था। हालांकि, कोरोना की वजह से ओलिंपिक को 2020 में पोस्टपोन करना पड़ा। ओलिंपिक विलेज का एरियल व्यू। यह विलेज टोक्यो में हारुमी वाटरफ्रंट पर बना है।
टोक्यो ओलिंपिक और पैरालिंपिक के लिए ओलिंपिक विलेज 2019 में ही बनकर तैयार हो गया था। हालांकि, कोरोना की वजह से ओलिंपिक को 2020 में पोस्टपोन करना पड़ा। ओलिंपिक विलेज का एरियल व्यू। यह विलेज टोक्यो में हारुमी वाटरफ्रंट पर बना है।
ओलिंपिक विलेज से स्पोर्ट्स ग्राउंड तक पहुंचने के लिए ट्रांसपोर्ट की सुविधा भी दी गई है। खिलाड़ियों को उनके होटल से ही ग्राउंड तक पहुंचाया जाएगा। सभी देशों के लिए अलग-अलग बस की सुविधा होगी।
ओलिंपिक विलेज से स्पोर्ट्स ग्राउंड तक पहुंचने के लिए ट्रांसपोर्ट की सुविधा भी दी गई है। खिलाड़ियों को उनके होटल से ही ग्राउंड तक पहुंचाया जाएगा। सभी देशों के लिए अलग-अलग बस की सुविधा होगी।
इसी स्टेडियम में ओलिंपिक इवेंट्स ऑर्गेनाइज किए जाएंगे। हालांकि, कोरोना की वजह से दर्शकों की एंट्री पर बैन लगाया गया है।
इसी स्टेडियम में ओलिंपिक इवेंट्स ऑर्गेनाइज किए जाएंगे। हालांकि, कोरोना की वजह से दर्शकों की एंट्री पर बैन लगाया गया है।

टोक्यो की सड़कों पर मस्जिद ऑन व्हील्स चलती हुई दिखाई देगी। इसके अलावा खेल गांव में भी प्रार्थना स्थल बनाने के लिए कमरे बनाए जा रहे हैं। मस्जिदें बड़े ट्रकों को कन्वर्ट करके बनाई गई हैं। इसके अंदर का हिस्सा 551 स्क्वायर फीट का आकार ले लेता है। इसमें 50 से ज्यादा लोग नमाज अदा कर सकते हैं। मोबाइल मस्जिद का प्रयोग पहली बार नहीं हो रहा है। 2016 में इंडोनेशिया में भी ये प्रयोग हुआ था, जो सफल रहा था।

ट्रक को मोबाइल मस्जिद में बदलने का काम यासू प्रोजेक्ट ने किया है। ट्रक को इस प्रकार तैयार किया गया है कि पार्किंग के बाद वह एक मस्जिद में बदल जाता है।
ट्रक को मोबाइल मस्जिद में बदलने का काम यासू प्रोजेक्ट ने किया है। ट्रक को इस प्रकार तैयार किया गया है कि पार्किंग के बाद वह एक मस्जिद में बदल जाता है।
ट्रक पर अरबी भाषा में जरूरी निर्देश भी लिखे हुए हैं। ट्रक के बाहरी हिस्से में नमाज अदा करने से पहले वजू करने के लिए नल भी लगाए गए हैं।
ट्रक पर अरबी भाषा में जरूरी निर्देश भी लिखे हुए हैं। ट्रक के बाहरी हिस्से में नमाज अदा करने से पहले वजू करने के लिए नल भी लगाए गए हैं।
ओलिंपिक नियम न टूटें, इसके लिए ज्यादा से ज्यादा संख्या में पुलिस की गाड़ियां ओलिंपिक विलेज में तैनात रहेंगी। होटल्स के बाहर जो देश ठहरे हैं, उनके फ्लैग भी लगाए गए हैं। विलेज के अंदर 21 रेसिडेंशियल बिल्डिंग हैं।
ओलिंपिक नियम न टूटें, इसके लिए ज्यादा से ज्यादा संख्या में पुलिस की गाड़ियां ओलिंपिक विलेज में तैनात रहेंगी। होटल्स के बाहर जो देश ठहरे हैं, उनके फ्लैग भी लगाए गए हैं। विलेज के अंदर 21 रेसिडेंशियल बिल्डिंग हैं।
मंगलवार को मीडिया के लोगों को ओलिंपिक विलेज में एंट्री दी गई।
मंगलवार को मीडिया के लोगों को ओलिंपिक विलेज में एंट्री दी गई।
डिनर के बाद एथलीट्स को रूम में पैक रहने की जरूरत नहीं है। विलेज में रिलेक्सेशन के लिए एक स्पेस भी बनाया गया है। इसके अलावा एथलीट्स वाटर साइड पार्क में भी घूम सकते हैं।
डिनर के बाद एथलीट्स को रूम में पैक रहने की जरूरत नहीं है। विलेज में रिलेक्सेशन के लिए एक स्पेस भी बनाया गया है। इसके अलावा एथलीट्स वाटर साइड पार्क में भी घूम सकते हैं।
सिंगल बेड वाले रूम 9 स्क्वायर मीटर में बनाए गए हैं। जबकि, डबल बेड वाले रूम 12 स्क्वायर मीटर में बनाए गए हैं। बेड्स और पार्टिशन वॉल रिसाइक्लेबल कार्डबोर्ड से बनाए गए हैं।
सिंगल बेड वाले रूम 9 स्क्वायर मीटर में बनाए गए हैं। जबकि, डबल बेड वाले रूम 12 स्क्वायर मीटर में बनाए गए हैं। बेड्स और पार्टिशन वॉल रिसाइक्लेबल कार्डबोर्ड से बनाए गए हैं।
ब्रेकफास्ट या लंच के लिए जाते वक्त एथलीट्स एक ऐप के जरिए देख सकते हैं कि डाइनिंग हॉल में कितनी भीड़ है। इसके मुताबिक उन्हें निर्णय लेने की छूट होगी।
ब्रेकफास्ट या लंच के लिए जाते वक्त एथलीट्स एक ऐप के जरिए देख सकते हैं कि डाइनिंग हॉल में कितनी भीड़ है। इसके मुताबिक उन्हें निर्णय लेने की छूट होगी।
एथलीट्स टीम मेंबर के साथ रूम में बैठकर भी स्ट्रैटजी बना सकते हैं। इसके लिए एक राउंड टेबल और कुछ कुर्सियां भी लगाई गई हैं।
एथलीट्स टीम मेंबर के साथ रूम में बैठकर भी स्ट्रैटजी बना सकते हैं। इसके लिए एक राउंड टेबल और कुछ कुर्सियां भी लगाई गई हैं।
सभी एथलीट्स हर रोज कोरोना जांच करवाएंगे। पॉजिटिव पाए जाने पर उन्हें फीवर क्लिनिक शिफ्ट किया जाएगा। यहीं जांच के बाद खिलाड़ियों को आइसोलेट किया जाना चाहिए या नहीं, इस पर फैसला लिया जाएगा।
सभी एथलीट्स हर रोज कोरोना जांच करवाएंगे। पॉजिटिव पाए जाने पर उन्हें फीवर क्लिनिक शिफ्ट किया जाएगा। यहीं जांच के बाद खिलाड़ियों को आइसोलेट किया जाना चाहिए या नहीं, इस पर फैसला लिया जाएगा।
ओलिंपिक विलेज में जिम की व्यवस्था भी की गई है। इसमें 600 कार्डियो और वेट ट्रेनिंग मशीनें लगाई गई हैं।
ओलिंपिक विलेज में जिम की व्यवस्था भी की गई है। इसमें 600 कार्डियो और वेट ट्रेनिंग मशीनें लगाई गई हैं।
डाइनिंग हॉल में 3000 सीट लगाई गई हैं। हालांकि, कोरोना के खतरे को देखते हुए, दो एथलीट्स के बीच में प्लेक्सि ग्लास लगाया गया है, ताकि उनके ड्रॉपलेट्स दूसरे एथलीट्स तक न पहुंचें।
डाइनिंग हॉल में 3000 सीट लगाई गई हैं। हालांकि, कोरोना के खतरे को देखते हुए, दो एथलीट्स के बीच में प्लेक्सि ग्लास लगाया गया है, ताकि उनके ड्रॉपलेट्स दूसरे एथलीट्स तक न पहुंचें।
विलेज में 2500 मीडिया मेंबर्स को 24 घंटे विलेज की फैसिलिटी इस्तेमाल करने की इजाजत होगी। प्रेस कॉन्फ्रेंस हॉल में 750 लोगों के बैठने की क्षमता है।
विलेज में 2500 मीडिया मेंबर्स को 24 घंटे विलेज की फैसिलिटी इस्तेमाल करने की इजाजत होगी। प्रेस कॉन्फ्रेंस हॉल में 750 लोगों के बैठने की क्षमता है।
खिलाड़ी 5 दिन पहले ओलिंपिक विलेज पहुंचेंगे और इवेंट खत्म होने के 48 घंटे बाद विलेज छोड़ देंगे। घूमते वक्त या डाइनिंग हॉल जाते वक्त मास्क पहनना जरूरी होगा।
खिलाड़ी 5 दिन पहले ओलिंपिक विलेज पहुंचेंगे और इवेंट खत्म होने के 48 घंटे बाद विलेज छोड़ देंगे। घूमते वक्त या डाइनिंग हॉल जाते वक्त मास्क पहनना जरूरी होगा।
खबरें और भी हैं...