बंगाल के राज्यपाल ने फोटो खिंचाने भारतीय कप्तान को हटाया:डूरंड कप के प्राइज डिस्ट्रीब्यूशन में गणेशन का छेत्री को हटाते हुए VIDEO वायरल

कोलकाता2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

वेस्ट बंगाल के गवर्नर एलए गणेशन फुटबॉल प्रेमियों के निशाने पर हैं। उनका एक वीडियो ट्रोल किया जा रहा है। इसमें वे डूरंड कप के प्राइज डिस्ट्रीब्यूशन में फोटो खिंचाने के लिए भारतीय कप्तान सुनील छेत्री को धकाकर आगे आते नजर आ रहे हैं। टूर्नामेंट का फाइनल रविवार को कोलकाता में हुआ था।

गणेशन सेरेमनी में बतौर गेस्ट शामिल हुए थे, जबकि छेत्री बेंगलुरु FC की कप्तानी कर रहे थे। मुकाबले के बाद छेत्री को चैंपियन ट्रॉफी लेने के लिए मंच पर बुलाया गया था। मंच छोटा था, जब वे ट्रॉफी लेने पहुंचे और फोटो सेशन की बारी आई तो गवर्नर गणेशन थोड़ा दब रहे थे, जबकि छेत्री सामने थे। ऐसे में गणेशन ने छेत्री को पकड़कर साइड में कर दिया।

38 साल के भारतीय फुटबॉलर सुनील छेत्री ने पहली बार डूरंड कप का खिताब जीता है। उन्होंने अपने करियर में केवल डूरंड कप ही नहीं जीता था। उनकी कप्तानी वाली टीम बेंगलुरु FC भी पहली बार चैंपियन बनी हैं। अब उसकी कमी भी पूरी हो गई।

जीत के बाद छेत्री ने यह पिक पोस्ट की

कप्तान के पास पर आया डिसाइडर गोल
बेंगलुरु FC ने रोमांचपूर्ण फाइनल मुकाबला 2-1 से अपने नाम किया। उसने मुंबई सिटी FC को मात दी। यहां शिव शक्ति ने 11वां मिनट में गोल कर बेंगलुरू को 1-0 की बढ़त पर ला दिया। उसके बाद मुंबई FC के अपुइया ने 30वें मिनट में बराबरी का गोल दागा। उसके बाद बेंगलुरु के एलेन कोस्ट (61वां मिनट) ने निर्णायक गोल दागा। यह गोल कप्तान छेत्री की कॉर्नर किक पर आया। कोस्ट ने छेत्री के पास को दिशा दिखाते हुए बॉल को नेट में डाल दिया।

छेत्री ने पहली बार डूरंड कप का खिताब जीता है।
छेत्री ने पहली बार डूरंड कप का खिताब जीता है।

1888 में शुरू हुआ था टूर्नामेंट
इसे एशिया का सबसे पुराना फुटबॉल टूर्नामेंट कहा जा रहा है। यह टूर्नामेंट का 131वां सीजन है। 16 अगस्त से 18 सितंबर के बीच आयोजित इस प्रतियोगिता का फाइनल कोलकाता में खेला गया। इसके मुकाबले साल्ट लेक स्टेडियम, किशोर भारती में खेले गए। कुछ मुकाबले इंफाल के खुमान लम्पक स्टेडियम और गुवाहाटी के इंदिरा गांधी एथलेटिक स्टेडियम में भी हुए। इस सीजन में 16 टीमें ने हिस्सा लिया।

अब फोटो में देखिए फाइनल मैच का रोमांच...

बेंगलुरु की टीम इस टूर्नामेंट में पहली बार चैंपियन बनी है।
बेंगलुरु की टीम इस टूर्नामेंट में पहली बार चैंपियन बनी है।
मुंबई के लिए इकलौता गोल अपुइया ने 30वें मिनट में किया।
मुंबई के लिए इकलौता गोल अपुइया ने 30वें मिनट में किया।
छेत्री की कार्नर किक पर विजयी गोल आया।
छेत्री की कार्नर किक पर विजयी गोल आया।
बेंगलुरु ने 2-1 से खिताब मुकाबला अपने नाम किया।
बेंगलुरु ने 2-1 से खिताब मुकाबला अपने नाम किया।
हॉफ टाइम से पहले 2 गोल आए, जबकि दूसरे में एक गोल ही स्कोर हुआ।
हॉफ टाइम से पहले 2 गोल आए, जबकि दूसरे में एक गोल ही स्कोर हुआ।
खबरें और भी हैं...