• Hindi News
  • Sports
  • Why Copa America Title Is Important For Lionel Messi | Argentina Vs Brazil 2021 LIVE Update Messi Neymar Bra Arg Latest Scores

मेसी ने किया तेंदुलकर जैसा कारनामा:देश को 28 साल बाद इंटरनेशनल खिताब जिताया; लियोनल ने लगातार 3 फाइनल हारने के बाद 2016 में लिया था संन्यास

रियो डि जेनेरियो5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अर्जेंटीना के स्टार स्ट्राइकर लियोनल मेसी ने आखिरकार अपना पहला और इकलौता इंटरनेशनल खिताब जीत लिया है। उनकी टीम ने कोपा अमेरिका के फाइनल में ब्राजील को 1-0 से हराया। मेसी की कप्‍तानी में अर्जेंटीना ने पहली बार कोई खिताब जीता है।

इससे पहले टीम उनकी कप्तानी में 2014 वर्ल्ड कप फाइनल, 2015 और 2016 कोपा अमेरिका फाइनल हार चुकी है। लगातार 3 मेजर टूर्नामेंट फाइनल हारने के बाद मेसी ने 2016 में संन्यास ले लिया था। हालांकि, उन्होंने वापसी की और टीम को चैंपियन बनाया। अर्जेंटीना टीम 1993 में कोपा अमेरिका चैंपियन बनी थी। मेसी ने 28 साल बाद टीम को चैंपियन बनाया।

क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर की तरह मेसी ने करियर के अंतिम पड़ाव में इकलौता इंटरनेशनल खिताब जीता। सचिन 2011 में वर्ल्ड कप विनिंग टीम इंडिया में शामिल थे। यह उनका पहला और आखिरी वर्ल्ड कप खिताब रहा। इसके 2 साल बाद 2013 में सचिन ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। 1983 से 2011 के बीच भी 28 साल का गैप था।

मेसी के लिए जीत कई मायनों में अहम
मेसी के लिए यह जीत कई मायनों में अहम है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्‍होंने महज 29 साल की उम्र में इंटरनेशनल फुटबॉल से संन्‍यास ले लिया था। मगर तब अर्जेंटानी के राष्‍ट्रपति के मनाने पर उन्‍होंने वापसी की। 5 साल तक टीम पर मेहनत किया और टीम को कोपा अमेरिका खिताब जिताने में कामयाब हुए। मेसी ने इस साल टूर्नामेंट 4 गोल दागे और साथी खिलाड़ियों को 5 गोल करने (असिस्ट) में मदद की।

2007 कोपा अमेरिका फाइनल में अर्जेंटीना हारा
अर्जेंटीना ने इससे पहले 1993 में पिछला कोपा अमेरिका खिताब जीता था। तब से लेकर अब तक वे कोई मेजर टूर्नामेंट नहीं जीत सके हैं। 1993 के बाद अर्जेंटीना की टीम 4 बार कोपा अमेरिका के फाइनल और 1 बार वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची। 2007 कोपा अमेरिका के फाइनल में अर्जेंटीना को ब्राजील के हाथों 3-0 से हार का सामना करना पड़ा था।

2014 वर्ल्ड कप फाइनल में भी अर्जेंटीना को हार मिली
हालांकि, उस समय टीम की कमान रॉबेर्टो अयाला के पास थी, मगर मेसी इस टीम का हिस्‍सा थे और कम उम्र में मिली इस बड़ी हार से उनको झटका लगा। अयाला के संन्यास लेने के बाद मेसी को कप्तान बनाया गया। उन्होंने टीम को 2014 फीफा वर्ल्‍ड कप के फाइनल में पहुंचाया। पर टीम को फाइनल में जर्मनी के हाथों 1-0 से हार झेलनी पड़ी।

2015 कोपा अमेरिका फाइनल में चिली से हारे
2015 कोपा अमेरिका में मेसी ही अर्जेंटीना टीम की कप्तानी कर रहे थे। टीम एक बार फिर फाइनल में पहुंची, जहां चिली ने उन्हें पेनल्टी शूटआउट में 4-1 से हराया था। मेसी अभी वर्ल्ड कप की हार से बाहर भी नहीं निकल सके थे कि उनका फिर से दिल टूट गया। 2016 कोपा अमेरिका में मेसी की टीम फिर से फाइनल में पहुंची। इस बार भी उनके सामने चिली की टीम थी। मैच पेनल्टी शूट में पहुंचा।

मेसी पेनल्टी से चूके, निराश होकर संन्यास ले लिया
हालांकि, मेसी पेनल्टी चूक गए। साथ ही अर्जेंटीना यह मैच पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से हार गई। मेसी का सपना टूट गया। उन्होंने हारकर इंटरनेशनल फुटबॉल से संन्यास ले लिया। 2016 के ही आखिरी कुछ महीनों में उन्होंने वापसी का ऐलान किया। 2018 फीफा वर्ल्ड कप में उन्होंने एक बार फिर टीम को लीड किया। राउंड ऑफ-16 में उनका सामना फ्रांस से हुआ और वे यह मैच 4-3 से हार गए। फ्रांस 2018 वर्ल्ड कप की चैंपियन रही थी।

अगले साल कतर में फीफा वर्ल्ड कप होना है
इसके 3 साल बाद मेसी ने आखिरकार अपना पहला इंटरनेशनल खिताब जीत लिया। यह उनका आखिरी कोपा अमेरिका टूर्नामेंट हो सकता है। अगले साल फीफा वर्ल्ड कप भी होना है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि वे अपनी टीम को वर्ल्ड चैंपियन बनाने में भी कामयाब होंगे।

मेसी 16 साल के करियर में पहली इंटरनेशनल ट्रॉफी जीते
34 साल के मेसी अब तक करियर में 10 ला लीगा, 4 UEFA चैंपियंस लीग टाइटल जीत चुके हैं। इसके साथ ही वे 6 बार के बैलोन डी'ओर विजेता भी हैं। 2005 में अर्जेंटीना की ओर से डेब्यू करने के बाद से अब तक वे 4 वर्ल्ड कप और 6 कोपा अमेरिका टूर्नामेंट खेल चुके हैं।

कोपा अमेरिका में सबसे ज्यादा मैच खेलने वाले प्लेयर मेसी
मेसी सबसे ज्यादा 6 कोपा अमेरिका टूर्नामेंट खेलने वाले प्लेयर भी हैं। उन्होंने अब तक कोपा अमेरिका में 34 मैच खेले हैं। उन्होंने चिली के सर्जियो लिविंगस्टोन के इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा 34 मैच खेलने के रिकॉर्ड की बराबरी की है। इस टूर्नामेंट में मेसी ने 13 गोल दागे हैं। इस मामले में वे चौथे नंबर पर हैं। मेसी के नाम टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा असिस्ट करने का भी रिकॉर्ड है।

मेसी ने टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा 17 असिस्ट किए हैं
मेसी ने 2007 से लेकर अब तक कोपा अमेरिका में कुल 17 असिस्ट किए हैं। इस साल अब तक उन्होंने टूर्नामेंट में 5 असिस्ट किए हैं। मेसी ने कोपा अमेरिका में फ्री-किक पर सबसे ज्यादा 4 गोल किए हैं। इसके साथ ही सबसे ज्यादा 14 बार मैन ऑफ द मैच खिताब भी जीता है।

मेसी के नाम 76 इंटरनेशन गोल, 8वें नंबर पर
मेसी ने अब तक 150 इंटरनेशनल मैच में 76 गोल दागे हैं। ओवरऑल इंटरनेशनल गोल के मामले में वे 8वें नंबर पर हैं। सबसे ज्यादा गोल का रिकॉर्ड ईरान के अली डेई और पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो के नाम है। इन दोनों के नाम 109-109 इंटरनेशनल गोल्स हैं।

मेसी के नाम 6 हैट्रिक भी हैं। यह हैट्रिक उन्होंने स्विट्जरलैंड, ब्राजील, गुआतेमाला, पनामा, इक्वाडोर और हैती के खिलाफ लगाए हैं। क्लब करियर में मेसी ने 778 मैचों में 672 गोल दागे हैं। उनके नाम 305 असिस्ट भी है।

खबरें और भी हैं...