भारतीय जूनियर हॉकी टीम ने यूथ ओलिंपिक के लिए क्वालीफाई किया, पहली बार पुरुष-महिला दोनों वर्गों में खेलेगी

DainikBhaskar.com | Aug 09,2018 20:54 PM IST

भारतीय जूनियर हॉकी टीम ने अक्टूबर में होने वाले यूथ ओलिंपिक गेम्स के लिए क्वालीफाई कर लिया है। अंतरराष्ट्रीय हॉकी फेडरेशन ने गुरुवार को भारतीय पुरुष और महिला टीम के क्वालीफाई करने की जानकारी दी। यूथ ओलिंपिक इतिहास में पहली बार होगा कि भारतीय महिला और पुरुष टीमें एकसाथ हिस्सा लेंगी। यूथ ओलिंपिक गेम्स का आयोजन 6 से 18 अक्टूबर तक अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में होगा।

13 साल की उम्र में किया इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू, 2015 में हॉकी खेलना शुरू किया; वर्ल्ड कप में सिल्वर मेडल जीता

DainikBhaskar.com | Aug 08,2018 11:20 AM IST

आयरलैंड की टीम ने रविवार को खत्म हुए महिला हॉकी वर्ल्ड कप में सिल्वर मेडल जीता। इस टीम में एक ऐसी खिलाड़ी शामिल थी जो आयरलैंड के लिए 40 इंटरनेशनल क्रिकेट मैच खेल चुकी थीं। वह खिलाड़ी हैं एलिना टाइस। एलिना ने साल 2011 में 13 साल 277 दिन की उम्र में आयरलैंड के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था। उस समय वे महिला-पुरुष मिलाकर सबसे कम उम्र की इंटरनेशनल क्रिकेटर थीं। बाद में उन्हीं के देश की गैबी लेविस ने उनका रिकॉर्ड तोड़ा था। एलिना ने चार साल तक इंटरनेशनल क्रिकेट खेला।

महिला हॉकी वर्ल्ड कप: नीदरलैंड 8वीं बार चैम्पियन, पहली बार फाइनल में किसी टीम ने 6 गोल किए

DainikBhaskar.com | Aug 06,2018 08:03 AM IST

सात बार के चैम्पियन नीदरलैंड ने महिला हॉकी वर्ल्ड कप का एक और खिताब अपने नाम कर लिया है। उसने वर्ल्ड कप इतिहास के सबसे एकतरफा फाइनल में आयरलैंड को 6-0 से हराया। यह पहला मौका है जब फाइनल में किसी टीम ने छह गोल किए हैं। 16वीं रैंकिंग वाली आयरलैंड की टीम अपने से बेहतर रैंकिंग वाली तीन टीमों अमेरिका, भारत और स्पेन को हराकर फाइनल में पहुंची थी। डिफेंडिंग चैंपियन नीदरलैंड ने पहले क्वार्टर में एक और तीसरे क्वार्टर में तीन गोल किए। किटी वान मेल, लिडविज वेल्टन, केली जॉनकर, मलोऊ फेनिक्स, मार्लोस कीटल्स और काइवा वान मास्कर ने एक-एक गोल किए।

भारत महिला हॉकी विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में हारा, आयरलैंड ने पेनल्टी शूटआउट में 3-1 से जीता मुकाबला

DainikBhaskar.com | Aug 03,2018 08:34 AM IST

महिला हॉकी विश्व कप के आखिरी क्वार्टर फाइनल में गुरुवार को आयरलैंड ने भारत को पेनल्टी शूटआउट में 3-1 से हरा दिया। इस हार के साथ ही भारत का 44 साल बाद सेमीफाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया। भारत विश्व कप के पहले संस्करण 1974 में चौथे स्थान पर रहा था। उसके बाद से भारत कभी भी आखिरी चार में पहुंचने में सफल नहीं हुआ है। गुरुवार को हुए मैच में फुल टाइम तक दोनों टीमें कोई गोल नहीं कर सकीं। इसके बाद मैच का फैसला पेनल्टी शूटआउट से हुआ। पेनल्टी शूटआउट में आयरलैंड के लिए रोइसिन उपटन, एलिसन मिके, क्लोहे वाटकिंस ने आखिरी तीन प्रयासों में गोल किए। भारत की ओर से रीना खोखर ही गोल कर सकीं। सेमीफाइनल में अब आयरलैंड का मुकाबला स्पेन से होगा। स्पेन ने एक अगस्त को जर्मनी को 1-0 से हराया था।