मीराबाई ने मां को किया याद:सिल्वर मेडल जीतने के बाद मीरा बोलीं- मां के त्याग से सफल हुई, यह मेडल मेरे देश को समर्पित

टोक्यो3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारत की वेटलिफ्टर मीराबाई ने इतिहास रच दिया है। वे टोक्यो ओलिंपिक में भारत के लिए मेडल जीतने वाली भारत की पहली एथलीट बन गई हैं। वेटलिफ्टिंग में मीरा मेडल जीतने वाली भारत की दूसरी एथलीट हैं। इससे पहले कर्णम मल्लेश्वरी ने 2000 सिडनी ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। जीत के बाद मीराबाई ने मां को याद किया।

मेरे लिए मेडल जीतना सपना सच होने जैसा
मीराबाई ने कहा कि मेरे लिए यह सपना सच होने जैसा है। मैं यह मेडल अपने देश और यहां के करोड़ों लोगों को डेडिकेट करती हूं। उन्होंने लगातार मेरे लिए प्रार्थना की। मैं अपने परिवार वालों को शुक्रिया अदा करना चाहती हूं। मेरी मां ने मेरे इस सफर में काफी साथ दिया। उन्होंने मुझ पर विश्वास किया और मेरे लिए कई त्याग किए।

स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया और IOA ने मदद की
मीरा ने कहा कि सरकार की ओर से भी मुझे काफी मदद मिली। स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI), इंडियन ओलिंपिक एसोसिएशन (IOA) और वेटलिफ्टिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने मेरा साथ दिया। साथ ही रेलवेज, OGQ, स्पॉन्सर्स और मेरी मार्केटिंग एजेंसी IOS ने भी मेरी सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

जीत का श्रेय कोच विजय शर्मा को देना चाहती हूं
मीरा ने कहा- मैं इस जीत के लिए अपने कोच विजय शर्मा सर को भी थैंक यू कहना चाहती हूं। उन्होंने मुझसे लगातार मेहनत करवाई। उनके गाइडेंस में ही मुझे मोटिवेशन मिला और ट्रेनिंग की। जय हिंद। मेडल जीतने के बाद मीरा इमोशनल होकर अपने कोच से गले लगकर रोने लगी थीं। 2016 रियो ओलिंपिक में मीरा को डिस-क्वालिफाई होना पड़ा था। इस हार को भुलाकर वे चैंपियन बनीं।

मीराबाई ने कुल 202 किलोग्राम वजन उठाया
वेटलिफ्टर मीराबाई ने महिलाओं की 49 किलोग्राम वेट कैटेगरी में कुल 202 किलोग्राम वजन उठाकर सिल्वर मेडल जीता। चीन की होउ जिहूई ने 210 किलोग्रम वजन उठाकर गोल्ड मेडल जीता। वहीं, इंडोनेशिया की कैंटिका विंडी ने ब्रॉन्ज जीता।

सिल्वर मेडल के साथ मीराबाई (बाएं से), चीन की होउ जिहूई गोल्ड और कैंटिका विंडी ब्रॉन्ज मेडल के साथ।
सिल्वर मेडल के साथ मीराबाई (बाएं से), चीन की होउ जिहूई गोल्ड और कैंटिका विंडी ब्रॉन्ज मेडल के साथ।

कोच ने कहा- मेडल के लिए ट्रेनिंग पैटर्न बदला
मीराबाई चानू ने कहा- यह महिलाओं को वेटलिफ्टिंग में एंट्री करने के लिए प्रोत्साहित करेगा। मैं सभी परिवार वालों से कहना चाहती हूं कि वे लड़कियों को स्पोर्ट्स के लिए प्रेरित करें। मीरा के कोच विजय शर्मा ने कहा कि रियो ओलिंपिक में हार के बाद काफी प्रेशर था। हम इस ओलिंपिक में मेडल की उम्मीद लगाए बैठे थे। हमने इसके लिए ट्रेनिंग पैटर्न और टेक्नीक भी बदला। 2017 वर्ल्ड चैंपियनशिप से ही इसका रिजल्ट मिलने लगा था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीराबाई को बधाई दी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मीराबाई को बधाई दी है। उन्होंने मीरा के साथ एक पुरानी तस्वीर शेयर करते हुए लिखा- टोक्यो में इससे सुखद शुरुआत नहीं हो सकती। मीराबाई चानू के इस दमदार प्रदर्शन से पूरा भारत उत्साहित है। वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल जीतने के लिए उन्हें बधाई। उनकी सफलता हर भारतीय को प्रेरित करती है। PM ने इसके साथ ही #Cheer4India हैशटैग का भी इस्तेमाल किया।

खबरें और भी हैं...