पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

56 मिनट में जीतीं सिंधु:दूसरे गेम में 18-20 से पीछे थीं भारतीय खिलाड़ी, यहां से लगातार 4 पॉइंट जीतकर मुकाबला अपने नाम किया

2 महीने पहले

भारतीय बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु लगातार दूसरे ओलिंपिक गेम्स में महिला सिंगल्स के सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं। एक और जीत से उनका मेडल जीतना पक्का हो जाएगा। सिंधु ने सेमीफाइनल मुकाबले में चौथी सीड जापान की अकाने यामागूची को 56 मिनट में 21-13, 22-20 से हराया। इस मुकाबले में सिंधु दूसरे गेम के दौरान एक समय 18-20 से पिछड़ गई थीं। वहां से उन्होंने लगातार चार पॉइंट अपने नाम करते हुए अंतिम-4 में जगह पक्की कर ली।

सिंधु अब शनिवार को सेमीफाइनल मैच खेलने उतरेंगी। इसमें उनका सामना वर्ल्ड नंबर-1 ताइवान की ताई जू यिंग या थाईलैंड की रात्चानोक इंतानोन से होगा। चलिए जानते हैं इस मैच को सिंधु ने किस तरह अपने नाम किया।

सिंधु इस ओलिंपिक में पहले की तुलना में काफी इम्प्रूव्ड खिलाड़ी नजर आ रही हैं।
सिंधु इस ओलिंपिक में पहले की तुलना में काफी इम्प्रूव्ड खिलाड़ी नजर आ रही हैं।

पहले गेम में एकतरफा जीत
पहले गेम में दोनों खिलाड़ियों ने दमदार शुरुआत की और एक समय मुकाबला 6-6 की बराबरी पर था। यहां से सिंधु ने जोरदार स्मैश और क्रॉस कोर्ट शॉर्ट्स के जरिए बढ़त बना ली। जल्द ही वे 11-7 से आगे हो गईं। इसके बाद उन्होंने 16-11 फिर 18-13 की बढ़त ली। इस गेम में सिंधु ने यामागूची को एक भी पॉइंट नहीं जीतने दिया और पहला गेम 23 मिनट में 21-13 से अपने नाम कर लिया।

मैच जीतने का बाद सिंधु ने इस अंदाज में सेलिब्रेट किया।
मैच जीतने का बाद सिंधु ने इस अंदाज में सेलिब्रेट किया।

दूसरे गेम में 6 पॉइंट लीड के बाद 2 पॉइंट से पिछड़ीं
दूसरे गेम में भी सिंधु ने शुरुआत में अच्छा खेल दिखाया और जल्द ही 12-6 की बढ़त हासिल कर ली। यहां से यामागूची ने स्ट्रैटजी में बदलाव किया और सिंधु को लंबी रैली खेलने पर मजबूर किया। सिंधु पर थकान भी हावी होने लगी थी। इसका नतीजा यह हुआ कि यामागूची ने पहले बराबरी हासिल की फिर बढ़त ले ली।

चार जोरदार पॉइंट के साथ मैच खत्म किया
दूसरे गेम में सिंधु 18-20 से पीछे हो गई थीं। यहां यामागूची एक पॉइंट और जीततीं तो गेम अपने नाम कर लेतीं और मुकाबला तीसरे गेम में चला जाता, लेकिन सिंधु ने अपनी तमाम ऊर्जा समेटते हुए लगातार चार पॉइंट जीते और मैच अपने नाम कर लिया। दूसरा गेम 33 मिनट तक चला।

यामागूची इस मैच के दौरान रिटर्न जमाने की कोशिश में पांच बार संतुलन खोकर गिरीं।
यामागूची इस मैच के दौरान रिटर्न जमाने की कोशिश में पांच बार संतुलन खोकर गिरीं।

बेहतरीन डिफेंस का प्रदर्शन
कुछ महीने पहले तक डिफेंस में कमजोरी सिंधु के खेल की सबसे बड़ी खामी मानी जाती थी, लेकिन टोक्यो ओलिंपिक में अब तक शानदार डिफेंस का प्रदर्शन किया है। इससे वे मुश्किल कंडीशन को अपने पक्ष में करने में सफल हो रही हैं और प्रतिद्वंद्वियों पर दबाव बनाने में कामयाब हो रही हैं।

खबरें और भी हैं...