पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Tokyo olympics
  • Olympic Games Tokyo 2020 Coach Vimal Kumar Interview –P. V. Sindhu Better Defence,increased Confidence And Strong Back Hand Made Sindhu A Gold Contender

पीवी सिंधु के 3 नए हथियार:कोच विमल बोले- बेहतर डिफेंस, कॉन्फिडेंस और जोरदार बैक हैंड ने सिंधु को बनाया गोल्ड का दावेदार

टोक्यो2 महीने पहलेलेखक: राजकिशोर
  • कॉपी लिंक

भारतीय बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु लगातार दूसरे ओलिंपिक मेडल से बस एक कदम दूर हैं। टोक्यो ओलिंपिक को लेकर सिंधु ने कड़ी मेहनत की थी। बैक हैंड शॉट से लेकर डिफेंस और मोशन स्किल्स जैसी टेक्नीक पर काम किया। इस साल की शुरुआत में सिंधु जब थाईलैंड ओपन के 2 टूर्नामेंट में कमजोर खिलाड़ियों से हारकर बाहर हो गई थीं, तब शायद ही किसी ने सोचा था कि वे ओलिंपिक में इतना अच्छा कर पाएंगी।

हालांकि बीते 6 महीने में उन्होंने अपनी कमजोरी पर काम किया और उसे अपनी मजबूती बनाई। अपने जमाने के दिग्गज खिलाड़ी और साइना नेहवाल के पूर्व कोच विमल कुमार ने भी भास्कर से बातचीत में सिंधु के प्रदर्शन की तारीफ की है। उन्होंने क्या कहा, आप भी पढ़िए...

1. बेहतर डिफेंस- विमल कुमार ने कहा कि इस ओलिंपिक में सिंधु का डिफेंस बेहतर रहा। क्वार्टर फाइनल में जापानी खिलाड़ी यामागूची के कई आक्रामक शॉट्स को उन्होंने बेहतर तरीके से खेला। इस बार सिंधु के खेल में काफी वैरिएशन भी देखने को मिला है। पहले विपक्षी सिंधु को थकाकर स्मैश पॉइंट हासिल करते थे। एक साल में सिंधु ने इसके खिलाफ डिफेंस टेक्नीक डेवलप कर ली।

2. बढ़ा हुआ कॉन्फिडेंस- जापानी खिलाड़ी के खिलाफ सिंधु का कॉन्फिडेंस बढ़ा हुआ नजर आया। दूसरे गेम में वह 18-20 से पीछे थी, उसके बाद न केवल बराबरी की, बल्कि मैच को भी अपने कब्जे में किया। इस तरह का कॉन्फिडेंस लंबे अरसे के बाद सिंधु में दिखाई दे रहा है।

3. बैक हैंड शॉट- सिंधु को पहले विपक्षी खिलाड़ी बैक हैंड शॉट खेलने के लिए मजबूर करती थीं, ताकि पॉइंट अर्जित कर सकें, लेकिन जापानी खिलाड़ी के खिलाफ उनका बैक हैंड काफी अच्छा रहा। पहले सिंधु इस शॉट को कम ही खेलती थीं और जब खेलती थीं तो कई बार पॉइंट गंवा बैठती थीं। ओलिंपिक में उन्होंने शानदार बैक हैंड शॉट खेले हैं। उनका पहले पसंदीदा शॉट फोर हैंड ही होता था, लेकिन अब बैक हैंड भी उनका पसंदीदा शॉट हो गया है।

सिंधु ने इस बार बैक हैंड शॉट्स से भी कई पॉइंट जीतने में सफलता हासिल की है।
सिंधु ने इस बार बैक हैंड शॉट्स से भी कई पॉइंट जीतने में सफलता हासिल की है।

गोल्ड मेडल जीत सकती हैं
विमल कुमार ने कहा कि सिंधु के पास गोल्ड मेडल जीतने के लायक गेम है। सेमीफाइनल में उनका सामना वर्ल्ड नंबर-1 ताइवान की ताई जू यिंग से है। मुझे उम्मीद है कि वह उनको मात दे सकती हैं। हालांकि ताई जू यिंग के खिलाफ उनका रिकॉर्ड खराब रहा है, लेकिन सिंधु ने उन्हें काफी परेशान किया है। मुझे पूरा भरोसा है कि वह जीतेंगी, क्योंकि इस बार वे काफी ऊर्जावान नजर आ रही हैं। यामागूची के खिलाफ मैच को 2 गेम में खत्म कर उन्होंने अपनी ऊर्जा भी बचाई है।

सिंधु ने 12 वीं बार यामागूची को हराया
सिंधु और यामागूची के बीच यह अब तक की 19वीं भिड़ंत थी। इसमें सिंधु ने 12वीं बार जीत हासिल की है। उन्होंने क्वार्टर फाइनल में चौथी सीड जापान की खिलाड़ी को 21-13, 22-20 से हरा दिया। यह मैच 56 मिनट तक चला। मैच के दौरान यामागूची 4 बार कोर्ट पर गिरीं।

खबरें और भी हैं...