टोक्यो ओलिंपिक:पीवी सिंधु मेडल से एक जीत दूर, हॉकी में भारतीय पुरुष और महिला टीम जीती; बॉक्सिंग में भारत का एक मेडल पक्का

टोक्यो3 महीने पहले
सिंधु ने यामागूची को 56 मिनट तक चले मुकाबले में हराया।

टोक्यो ओलिंपिक में शुक्रवार का दिन भारत के लिए बेहतरीन रहा। महिला मुक्केबाज लवलिना बोरगोहेन ने महिलाओं की 69 किलोग्राम वेट कैटेगरी के सेमीफाइनल में जगह बना ली। इसके साथ ही भारत का एक और मेडल पक्का हो गया है। बैडमिंटन में पीवी सिंधु ने बेहतरीन खेल दिखाते हुए खुद से ऊंची रैंकिंग वाली जापान की अकाने यामागूची को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। अब एक मैच जीतते ही सिंधु का मेडल पक्का हो जाएगा।

पुरुष हॉकी टीम ने जापान को 5-3 से हराया
भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने जीत का सिलसिला कायम रखते हुए अपने आखिरी लीग मैच में जापान को 5-3 से हराया। भारत की ओर से गुरजंत सिंह ने दो और हरमप्रीत सिंह, नीलाकांता और शमशेर ने एक-एक गोल किया। भारतीय टीम पहले ही क्वार्टर फाइनल में पहुंच चुकी है। महिला हॉकी टीम ने भी आयरलैंड को हराकर क्वार्टर फाइनल में एंट्री की उम्मीद कायम रखी है।

जापान के खिलाफ जीत हासिल करने के बाद एक-दूसरे को बधाई देते भारतीय हॉकी टीम के खिलाड़ी। भारत ने यह मैच 5-3 से जीता।
जापान के खिलाफ जीत हासिल करने के बाद एक-दूसरे को बधाई देते भारतीय हॉकी टीम के खिलाड़ी। भारत ने यह मैच 5-3 से जीता।

महिला हॉकी टीम ने आयरलैंड को 1-0 से हराया। नवनीत कौर ने मैच के 57वें मिनट में गोल किया। भारतीय महिला टीम ने पहले तीन मुकाबले हारने के बाद पहली जीत दर्ज की है। शनिवार को भारत का सामना साउथ अफ्रीका से होगा। इसके बाद तय होगा कि महिला हॉकी टीम क्वार्टर फाइनल में पहुंचती है या नहीं।

लवलिना बोरगोहेन ने क्वार्टर फाइनल में चाइनीज ताइपे की चिन निएन चेन को हराया। तीनों राउंड में लवलिना ने प्रतिद्वंद्वी मुक्केबाज को टिकने नहीं दिया। पहले राउंड में 5 में से 3 जजों ने लवलिना के पक्ष में फैसला सुनाया है। दूसरे राउंड में सभी 5 जजों ने लवलिना को विजेता पाया। तीसरे राउंड में 4 जजों ने लवलिना को बेहतर बताया। इस तरह लवलिना ने 4-1 से मुकाबला जीता। बॉक्सिंग में सेमीफाइनल में पहुंचते ही मेडल पक्का हो जाता है। लवलिना का सेमीफाइनल मुकाबला 2019 की वर्ल्ड चैंपियन तुर्की की बुसेनाज सुरमेनेली से होगा। वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने इस ओलिंपिक में भारत के लिए पहला मेडल जीता है। उन्होंने सिल्वर मेडल अपने नाम किया है।

लवलिना ओलिंपिक में मेडल जीतने वाली भारत की दूसरी महिला मुक्केबाज बन गई हैं। उनसे पहले एमसी मेरीकॉम ने 2012 लंदन ओलिंपिक में ब्रॉन्ज जीता था। पुरुष-महिला मिलाकर लवलिना बॉक्सिंग में ओलिंपिक मेडल जीतने वालीं तीसरी भारतीय हैं। पुरुषों में विजेंदर सिंह ने 2008 बीजिंग ओलिंपिक में ब्रॉन्ज जीता था।

कोरियाई तीरंदाज से लगातार सेटों में हारीं दीपिका
दीपिका कुमारी महिला सिंगल्स तीरंदाजी के क्वार्टर फाइनल में कोरिया की एन सेन से 0-6 से हार कर बाहर हो गईं। सेन ने पहला सेट 30-27, दूसरा 26-24 और तीसरा 26-24 से जीता। तीनों सेट में जीत की बदौलत सेन को 6 पॉइंट मिले। इससे पहले प्री क्वार्टर फाइनल में दीपिका ने रूस की सेनिया पेरोवा को शूटआउट में 6-5 से हराया था। इस हार के बावजूद दीपिका ने अपने प्रदर्शन से इतिहास रच दिया है। वे ओलिंपिक तीरंदाजी के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय बन गई हैं।

सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई नहीं कर सकीं दूती चंद
भारतीय महिला स्प्रिंटर दूती चंद​ 100 मीटर रेस के सेमीफाइनल में नहीं पहुंच सकीं। दूती ने हीट में 11.54 सेकेंड का समय निकाला और सातवें स्थान पर रहीं। दूती अपने नेशनल रिकॉर्ड (11.17 सेकेंड) से काफी पीछे रहीं।

शूटिंग- महिलाओं की 25 मीटर एयर पिस्टल इवेंट के क्वालिफाइंग मुकाबले से भारतीय निशानेबाज मनु भाकर और राही सरनोबत बाहर हो गई हैं। भाकर 582 का स्कोर कर 11वें स्थान पर जबकि राही 573 अंक लाकर 32वें स्थान पर रहीं।

एथलेटिक्स-भारत के अविनाश साबले पुरुषों की 3000 मीटर स्टीपलचेज के राउंड हीट 2 में सातवें स्थान पर रहे। हालांकि उन्होंने 8 मिनट 18.12 सेकेंड का समय निकालकर नया नेशनल रिकॉर्ड बनाया।