• Hindi News
  • Sports
  • Tokyo olympics
  • Tokyo Olympics Neeraj Chopra Said After Winning Olympic Gold Knew That I Would Perform Well But Did Not Think About Gold

यह अविश्वनीय है, देश के लिए गर्व का पल:ओलिंपिक गोल्ड जीतने के बाद बोले नीरज चोपड़ा- जानता था कि अच्छा परफॉर्म करूंगा, लेकिन गोल्ड के बारे में नहीं सोचा था

टोक्यो3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलिंपिक में पुरुषों के जेवलिन थ्रो इवेंट का गोल्ड जीतकर वह उपलब्धि हासिल की जिसका इंतजार भारत को 121 सालों से था। ओलिंपिक के ट्रैक एंड फील्ड इवेंट्स में गोल्ड तो छोड़िए उनसे पहले किसी भारतीय ने ब्रॉन्ज तक नहीं जीता था। इस ऐतिहासिक कारनामे के बाद नीरज चोपड़ा ने कहा- यह अविश्वनीय अहसास है।

चोपड़ा बोले- यह एथलेटिक्स में भारत का पहला गोल्ड मेडल है। देश के लिए यह उपलब्धि मैंने हासिल की इसलिए बहुत अच्छा लग रहा है। यह मेरे और मेरे देश के लिए गर्व का पल है।

गोल्डन थ्रो के बाद खुशी का इजहार करते हुए भारतीय जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा।
गोल्डन थ्रो के बाद खुशी का इजहार करते हुए भारतीय जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा।

मेडल के लिए आश्वस्त नहीं था
नीरज से पूछा गया कि क्या वे गोल्ड जीतने के लिए आश्वस्त थे। उन्होंने कहा कि मैंने क्वालिफाइंग राउंड में अच्छा किया था। मुझे उम्मीद थी कि फाइनल में और बेहतर करूंगा। लेकिन, पोडियम फिनिश को लेकर आश्वस्त नहीं था। मैं नहीं जानता था कि गोल्ड जीतूंगा। मैं बहुत खुश हूं।

3 महीने में 7 बार 90 मीटर पार करने वाले वेटेर फेल हुए
पुरुषों के जेवलिन थ्रो इवेंट में जर्मनी के जोहानेस वेटेर को गोल्ड का दावेदार बताया जा रहा था। वे अप्रैल से लेकर जून तक 7 बार 90 मीटर से ज्यादा की थ्रो कर चुके थे। लेकिन, इस बार वे तीन थ्रो के बाद ही एलिमिनेट हो गया। उनकी बेस्ट थ्रो 82.52 मीटर की ही रही।

खबरें और भी हैं...