तीन जिलों के ड्रग कंट्रोल ऑफिसरों ने पान के खोखों पर मारे छापे, 100 से अधिक ब्रांड की विदेशी सिगरेट बरामद

Gurgaon News - गुड़गांव, फरीदाबाद व पलवल के ड्रग कंट्रोल विभाग के अधिकारियों ने संयुक्त रूप से छापेमारी कर प्रतिबंधित सिगरेट...

Bhaskar News Network

Sep 16, 2019, 07:25 AM IST
Gurgaon News - drug control officers of three districts raided paan khoks recovered more than 100 brands of foreign cigarettes
गुड़गांव, फरीदाबाद व पलवल के ड्रग कंट्रोल विभाग के अधिकारियों ने संयुक्त रूप से छापेमारी कर प्रतिबंधित सिगरेट बरामद की हैं। देश में इन सिगरेट के ब्रांड पर पूरी तरह रोक लगी हुई है। ये सिगरेट कहां से गुड़गांव तक पहुंच रही हैं, यह ड्रग कंट्रोल विभाग के अधिकारियों के पास जवाब नहीं है। उनका कहना है कि अब से पहले ड्रग कंट्रोल विभाग दो बार पहले भी इन पान के खोखों पर छापेमारी कर आरोपियों को पुलिस को सौंप दिया।

अब एक बार फिर विभाग के अधिकारियों ने छापेमारी कर इन पर कार्रवाई की है। अधिकारियों ने खुलासा किया है कि सबसे अधिक ये सिगरेट न्यू गुड़गांव में बिक रही है, लेकिन छापेमारी के दौरान केवल चार खोखों पर ही 100 से अधिक अलग-अलग ब्रांड की प्रतिबंधित सिगरेट बरामद हुई हैं। जबकि सेक्टर-29 से गोल्फ कोर्स रोड तक 50 से अधिक खोखे बंद कर आरोपी फरार हो गए। ऐसे में कहा जा सकता है कि गुड़गांव में भारी मात्रा में ये सिगरेट पहुंच रही हैं। अधिकारियों ने बताया कि सभी विदेशी ब्रांड हैं और भारत में इन पर पूरी तरह बैन लगा हुआ है। शनिवार रात करीब 9.30 बजे शहर में चार जगहों पर छापेमारी कर पान की दुकानों से बड़ी संख्या में विदेशी सिगरेट की खेप बरामद की हैं। दुकानों पर अन्य प्रतिबंधित तंबाकू की भी बिक्री की जा रही थी। ड्रग कंट्रोलर अधिकारियों की शिकायत पर पुलिस ने कोटपा एक्ट के तहत ड्रग कंट्रोलर पलवल कृष्ण कुमार गर्ग, ड्रग कंट्रोलर फरीदाबाद संदीप गहलान और ड्रग कंट्रोलर गुड़गांव अमनदीप चौहान के नेतृत्व में टीम ने सेक्टर-29, सेक्टर-50, सेक्टर-53 और सिविल लाइंस एरिया में संचालित पान की दुकानों पर छापेमारी की। ड्रग कंट्रोलर अमनदीप चौहान ने बताया कि दुकानदार विदेश से इंपोर्ट की हुई सिगरेट अपनी दुकानों पर बेच रहे थे। टीम ने गुड अर्थ मॉल स्थित एमएस ग्रीन लीफ, बानी स्क्वेशर मॉल स्थित एमएस सुट्टा ज्वाइंट और 32 माइलस्टोन के बाहर स्थित एमएस अरिहंत एंटरप्राइसिस नाम दुकान से विदेशी सिगरेट की खेप जब्त किए। करीब 45 हजार कीमत की 100 से ज्यादा सिगरेट के पैकेट जब्त किए हैं। टीम को देख खोखा संचालक अपने खोखे बंद कर भाग गए थे। दुकानदारों के दिखा तंबाकू नियंत्रण कानून 2003 की धारा 7 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

खुलासा-सबसे अधिक ये सिगरेट न्यू गुड़गांव में बिक रही है

ड्रग कंट्रोलर टीम द्वारा छापेमारी में बरामद विदेशी ब्रांड की सिगरेट।

लंबे समय से चल रहा प्रतिबंधित सिगरेट का धंधा

ड्रग कंट्रोल ऑफिसरों के अनुसार गुड़गांव में प्रतिबंधित सिगरेट का कारोबार काफी पुराना है। शहर के करीब सभी खोखों पर बेची जा रही हैं। आरोपियों पर कोई कड़ी सजा का प्रावधान नहीं है। जो कारोबार कर रहे हैं,उनको 3 महीने की सजा या 5 हजार रुपए तक का जुर्माना होता है। यही वजह है कि आरोपी इस अवैध कारोबार को धड़ल्ले से कर रहे हैं। इस मामले में पुलिस का नोटिफिकेशन है। ड्रग कंट्रोल ऑफिसर अमनदीप चौहान ने कहा कि हम कार्रवाई कर चुके हैं, अब पुलिस के ऊपर है वे क्या केस दर्ज कर रहे हैं।

कोर्ट में चलेगा ट्रायल, आरोपियों को पुलिस ने छोड़ा

वहीं सिविल लाइन थाना प्रभारी रमेश कुमार ने बताया कि इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं होता, इस मामले में कलेंद्रा कर आरोपियों को छोड़ दिया जाता है। केवल आरोपियों का कोर्ट में ट्रायल चलेगा, जिसमें सजा के तौर पर कैद व जुर्माना हो सकते हैं। इसकी डीडीआर की जाती है, जिसमें 154 सीआरपीसी के तहत केस बनता है।


X
Gurgaon News - drug control officers of three districts raided paan khoks recovered more than 100 brands of foreign cigarettes
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना