• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Yamunanagar
  • Yamunanagar News haryana news 26 drivers and 10 operators on deputation returned to their original depot rohtak hansi route along with previously closed long routes also closed

डेपुटेशन पर आए 26 चालक व 10 परिचालक अपने मूल डिपो लौटे, पहले से बंद लांग रूटों के साथ रोहतक-हांसी रूट भी बंद

Yamunanagar News - रोडवेज में अाेवरटाइम बंद होने से यमुनानगर डिपो से जम्मू, पंजाब, राजस्थान, यूपी, हिमाचल के लांग रूट बंद हैं वहीं, अब 36...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 09:10 AM IST
Yamunanagar News - haryana news 26 drivers and 10 operators on deputation returned to their original depot rohtak hansi route along with previously closed long routes also closed
रोडवेज में अाेवरटाइम बंद होने से यमुनानगर डिपो से जम्मू, पंजाब, राजस्थान, यूपी, हिमाचल के लांग रूट बंद हैं वहीं, अब 36 चालकों-परिचालकों के छिन जाने से दिल्ली, चंडीगढ़ समेत लोकल व ग्रामीण रूटों पर भी व्यवस्था लड़खड़ा गई।

बसों के साथ चालकों-परिचालकों की कमी झेल रहे यमुनानगर डिपो पर सालभर पहले डेपुटेशन पर आए 26 चालक व 10 परिचालक तत्काल रिलीव कर मूल डिपो भेज दिए गए। इसके बाद से डिपो की सबसे ज्यादा आमदन वाले दिल्ली रूट पर हर 20 मिनट के बजाए 30 मिनट बाद बस मिल रही है वहीं, दो दिन से रोहतक-हांसी रूट भी बंद है।

कई लोकल व ग्रामीण रूटों पर भी टाइम मिस होने लगे हैं। इससे यात्रियों की दिक्कत साथ रोडवेज अधिकारियों के लिए भी परेशानी बढ़ गई है। बतादें कि सालभर पहले फरीदाबाद व सोनीपत डिपो पर चालकों-परिचालकों की संख्या सरप्लस होने पर 26 चालक व 10 परिचालक यमुनानगर डिपो पर ऑन डेपुटेशन भेज गए थे।

डिपो पर न्यू ज्वाइनिंग होने और इन सरप्लस चालकों-परिचालकों के आने से यमुनानगर डिपो पर 278 चालक व 239 परिचालक हो गए थे। डिपो की मांग के अनुसार यह संख्या पर्याप्त थी, जिससे कुछ हद तक रोडवेज की व्यवस्था पटरी पर लौट आई थी। हालांकि डेपुटेशन पर भेज गए ज्यादातर चालक-परिचालक अपना डिपो बदले जाने से खुश नहीं थे। अब पिछले दिनों में हुई विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव के साथ यूनियनों की बैठकों से मांग सरकार तक पहुंची।

इसके बाद रोडवेज ने तत्काल प्रभाव से डेपुटेशन पर आए इन चालकों-परिचालकों को वापस भेजे जाने के लिए रिलीव करने के आदेश जारी किए।

42-43 हजार किलोमीटर रह गया डिपो की बसों का सफर : डिपो पर 151 बसे ऑनरूट हैं। अाेवरटाइम बंद होने से पहले डिपो की बसें रोज 53-54 हजार किलोमीटर दौड़ रही थीं। इससे रोज यात्रियों से किराये के रूप में करीब 14 से 15 लाख रुपए तक आ रहे थे। वहीं, अाेवरटाइम बंद होने के बाद 45-46 हजार किलोमीटर तो अब चालक-परिचालक कम रह जाने से बसों का रोज का सफर घटकर 42-43 हजार किलोमीटर रह गया है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि रोडवेज बसों के रूट बंद होने व टाइम मिस होने से जहां यात्री परेशान है वहीं, इससे रोडवेज को भी बड़ा आर्थिक नुकसान भी हो रहा है।

यमुनानगर | बस स्टैंड पर खाली पड़े बसों के काउंटर और बसों का इंतजार करते यात्री।

151 बसों के रूट व टाइम पूरे करने को चालक-परिचालक कम, तबादले से संख्या बढ़ने की उम्मीद

अभी सप्ताह में 48 घंटे ड्यूटी के बाद चालकों-परिचालकों के कंप्यूटर पर अपलोड सिस्टम से ऑटोमेटिक रेस्ट लग रहे हैं। छोटे रूटों पर आठ घंटे की ड्यूटी ली जा रही है। ऐसे में डिपो पर अाॅनरूट 151 बसों के रूट व टाइम पूरे करने के लिए चालक-परिचालक कम पड़ रहे हैं और कम रश वाले रूट बंद या उनके टाइम कम कर दिए गए हैं। दो दिन से रोहतक व हांसी रूट बंद हैं वहीं, दिल्ली के फेरे भी कम किए गए हैं, जिस पर 20 के बजाए 30-35 मिनट बाद सर्विस है। कई लोकल व ग्रामीण रूटों पर भी यही स्थिति है। रोडवेज की ओर से 4 सितंबर तक ऑनलाइन ट्रांसफर प्रक्रिया में कर्मचारियों से अपने-अपने स्टेशन भरवाए गए हैं। रोडवेज अधिकारियों को दूसरे डिपो से चालकों-परिचालकों के यहां ट्रांसफर होकर आने से कम हुई संख्या के बढ़ने की उम्मीद है।


X
Yamunanagar News - haryana news 26 drivers and 10 operators on deputation returned to their original depot rohtak hansi route along with previously closed long routes also closed
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना