33 योगा वॉलंटियर्स ने नौकरी व योग शिक्षण को बचाने के लिए विधायक को सौंपा ज्ञापन

Yamunanagar News - मई-2018 में शुरू हुई करोड़ों रुपए से बनी व्यायामशालाएं खंडहर हो रही हैं, क्योंकि यहां कई माह से न योगा की क्लास लग रही है...

Jan 16, 2020, 08:55 AM IST
Yamunanagar News - haryana news 33 yoga volunteers submitted memorandum to mla to save jobs and yoga teaching
मई-2018 में शुरू हुई करोड़ों रुपए से बनी व्यायामशालाएं खंडहर हो रही हैं, क्योंकि यहां कई माह से न योगा की क्लास लग रही है और न ही व्यायामशालाओं की देखरेख के लिए कोई है, हालांकि कुछ पर ग्रामीण अपने स्तर पर व्यवस्था संभाल रहे हैं, लेकिन ज्यादातर की हालत बद से बदतर है। यह हश्र 2018 में आउटसोर्सिंग पॉलिसी के पार्ट-1 में 45 में से 33 पदों पर रखे योगा वॉलंटियर्स को एक साल की सेवाओं के बाद हटा देने से बने। जनवरी-2019 में 8 व सितंबर में 25 वॉलंटियर्स हटाए दिए।

वहीं, इससे पहले व्यायामशालाओं में विकास के नाम पर अलग से भी कोई बजट जारी नहीं हुआ। करोड़ों रुपए के प्रोजेक्ट को खंडहर में मिलता देख योगा वॉलंटियर्स ने यूनियन बनाकर अपनी नौकरी व योगा शिक्षण के लिए आंदोलन शुरू कर दिया है। यूनियन प्रधान दीपक बडोला ने कहा कि प्रोजेक्ट खेल विभाग से आयुष विभाग के अंतर्गत आ गया है। जिले में 45 पदों पर खेल विभाग की ओर से आवेदन मांगने पर जनवरी-2018 में 8 और सितंबर-2018 में 25 की जॉइनिंग हुई थी लेकिन जनवरी में हटाए योगा वॉलंटियर्स को हटाए एक साल और सितंबर में हटाए योगा वॉलंटियर्स को हटाए चार माह हो चुके हैं। सभी योगा वॉलंटियर्स बेरोजगार घर बैठे हैं। यही नहीं, डेढ़ साल बाद ही ज्यादातर योगशालाएं खंडहर हो रही हैं जबकि यह ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में लोगों को योग से फिट रखने के लिए करोड़ों रुपए की लागत से बनी हैं। इसका लोग नशे के सेवन हेतू इस्तेमाल करने लगे हैं। इसी को देख सभी 33 योगा वॉलंटियर्स ने एकजुट होकर नौकरी सहित व्यायामशालाओं को बचाने के लिए कवायद शुरू की है। इस संबंध में बैठक के बाद सर्वसम्मति से फैसला लेकर यमुनानगर विधायक घनश्याम अरोड़ा को सीएम मनोहर लाल खट्‌टर के नाम ज्ञापन सौंपा गया। इसमें सीएम के संज्ञान में मामला डालते हुए योगा वॉलंटियर्स की दोबारा नियुक्ति के साथ व्यायामशालाओं को बचाने की मांग रखी है, क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों से योग का परचम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचाने के बाद भी प्रदेश में योग वॉलंटियर्स का घरों में बेरोजगार बैठना चिंताजनक है। कुछ समय पहले योग वॉलंटियर्स व व्यायामशालाएं खेल से आयुष विभाग में स्थानांतरित करने के निर्देश हुए, परंतु इससे आगे कार्रवाई नहीं बढ़ी। मौके पर योग वॉलंटियर्स में नीरू मित्तल, प्रीति विश्वास, सोनिया, विकास सैनी, दविंद्र कुमार, रवि व करनाल से कुलदीप, कमल किशोर व अन्य मौजूद रहे।

करोड़ों रुपए से बनी व्यायामशालाएं हो रही खंडहर
यमुनानगर | विधायक घनश्याम अरोड़ा को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपते योगा वॉलंटियर्स।

योगा फिजिकल फिटनेस वॉलंटियर्स के रूप में हुई थी जॉइनिंग

दीपक ने बताया कि जनवरी-2019 व सितंबर-रादौर के बैंडी, सिटी सेंटर यमुनानगर, सेक्टर-17 के कम्युनिटी सेंटर, बिलासपुर के महमूदपुर, हरिपुर काम्बोयान, बिलासपुर के पेंसल, खिजराबाद के टिब्बी अराइयांवाला, रादौर के ढौलरा, फतेहबाद, टोपराकलां, बिलासपुर के छिल्लौर, नेहरू पार्क, तेजली खेल परिसर, रामखेड़ी, साढौरा के कनीपला, मसाना जट्‌टान, आरजीकेपी नागल, पालेवाला समेत अन्य व्यायामशालाओं के लिए 33 लोगों की बतौर योगा फिजिकल फिटनेस वॉलंटियर जाॅइनिंग हुई थी। सभी ने एक साल सेवाएं देकर लोगों में योगा की आदत बनाकर फिट रहने के गुर सिखाए, लेकिन अब लोग फिर योग से दूर हैं।

X
Yamunanagar News - haryana news 33 yoga volunteers submitted memorandum to mla to save jobs and yoga teaching
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना