बिना परमिशन खेतों में लगाई एल्युमीनियम गलाने की फैक्ट्री, प्रदूषण नियंत्रण विभाग ने भट्‌ठी की सील

Yamunanagar News - गांव महंलावाली में लगी सतगुरु इंटरप्राइजेज की प्रदूषण नियंत्रण विभाग की टीम ने मशीनरी सील कर दी। इस फैक्ट्री के...

Bhaskar News Network

Oct 12, 2019, 08:56 AM IST
Yamunanagar News - haryana news aluminum smelting factory installed in permission fields pollution control department seals furnace
गांव महंलावाली में लगी सतगुरु इंटरप्राइजेज की प्रदूषण नियंत्रण विभाग की टीम ने मशीनरी सील कर दी। इस फैक्ट्री के खिलाफ शिकायत ग्रामीणों की ओर से दी गई थी। जांच की तो यह अवैध मिली। इस पर प्रदूषण नियंत्रण विभाग ने अपनी कार्यवाही शुरू की। प्रदूषण नियंत्रण विभाग ने फैक्ट्री संचालक को नोटिस भी दिया था, लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। इस पर प्रदूषण नियंत्रण विभाग ने कड़ा संज्ञान लेते हुए शुक्रवार को इसकी मशीनरी को सील करने का फैसला लिया। विभाग की टीम ने फैक्ट्री की भट्टी व मशीनरी को सील कर दिया।

प्रदूषण नियंत्रण विभाग के एसडीओ कमलजीत सिंह ने बताया कि यह फैक्ट्री अवैध रूप से चल रही थी। जांच में यह बात सामने आई थी। टीम ने मशीनरी को सील कर दिया है। नियमों के खिलाफ काम करना गलत है। उधर, ग्रामीणों का कहना है कि यहां पर गलाकर एल्युमिनियम निकाला जाता था। इससे काफी प्रदूषण हो रहा था। फैक्ट्री खेतों में लगाई गई थी।

यह दी थी शिकायत | नौ अगस्त को गांव महंलावाली निवासी हरप्रीत सिंह, बलबीर सिंह, गुरदीप सिंह, सिब्बू, गुरविंद्र, मेयर सिंह समेत अन्य ने सीएम विंडो पर शिकायत दी थी कि गांव में खेतों में एल्युमिनियम रिकवरी करने की फैक्ट्री अवैध रूप से लगाई हुई है। हरप्रीत सिंह का वहां पर डेरा है। उसमें दस लोग परिवार के रहते हैं। वहां पर उसकी और अन्य ग्रामीणों की जमीन है। उन्होंने फैक्ट्री मालिक से मांग की थी कि वे यहां पर फैक्ट्री न लगाएं, इंडस्ट्री एरिया में फैक्ट्री लगाएं। आरोप है कि फैक्ट्री में वेस्ट फॉयल स्क्रैप, दवाइयों के रैपर, फॉयर पेपर, बीयर कैन को गलाते हैं। इस प्रक्रिया में जो धुंआ और वेस्ट निकलती है वे खेतों में जाता है। उनका दावा है कि एल्युमिनियम स्मेल्टर कैटेगरी की फैक्ट्री हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण विभाग के अनुसार रेड कैटेगरी में आती हैं जोकि बेहद खतरनाक है। इसे लगाने के लिए कई विभाग से एनओसी और सीएलयू लेनी होती है। उनका आरोप था कि डस्ट की वजह से फसल खराब हो रही है। इसके साथ ही इंसान के साथ-साथ पशुओं पर भी इसका गलत असर पड़ेगा अाैर कई गंभीर बीमारियों के फैलने का खतरा बनेगा। उन्होंने इस बारे में फैक्ट्री मालिक से भी शिकायत की थी, लेकिन उन्होंने उनकी बात नहीं सुनी। उल्टा उन्हें ही धमकाया गया।

यमुनानगर। फैक्ट्री को सील करते प्रदूषण नियंत्रण विभाग के कर्मचारी।

X
Yamunanagar News - haryana news aluminum smelting factory installed in permission fields pollution control department seals furnace
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना